हरियाणा में देह व्यापार का धंधा धड़ल्ले से जारी, सोनीपत में कई स्पा सेंटरों पर छापा

हरियाणा में देह व्यापार का धंधा धड़ल्ले से जारी, सोनीपत में कई स्पा सेंटरों पर छापा

कोरोना काल में भी हरियाणा में देह व्यापार का धंधा धड़ल्ले से जारी है. हालांकि, अब पुलिस ने देह व्पापार के धंधे से जुड़े लोगों पर नकेल कसना प्रारम्भ कर दिया है.

सोनीपत पुलिस ने शुक्रवार को जिले में स्पा सेंटरों की आड़ में देह व्यापार होने की सूचना मिलने पर जिले में अनेक ऐसे स्थलों पर छापामारी कर इनके संचालकों समेत 44 युवकों और युवतियों को हिरासत में लिया है.

सहायक पुलिस अधीक्षक निकिता खट्टर और उपाधीक्षक वीरेंद्र सिंह और थाना कुंडली पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि पार्कर मॉल के अंदर स्थित भिन्न-भिन्न स्पा सेंटरों में युवक-युवतियों द्वारा देह व्यापार का धंधा चलाया जा रहा है.

पुलिस ने छापामारी कर स्पा सेंटर संचालक दिल्ली निवासी देवेंद्र मेहरा, पंकज के अतिरिक्त वहां कार्य करने वाले युवकों  नीरज, हरप्रीत, गुलशन, तेजेन्द्र, बिजेंद्र, योगेन्द्र, अनिल, नवीन, लाखन सिंह, सतपाल, राहुल, महीपाल, शेष नारायण, देवपाल के अतिरिक्त 27 युवतियोंं को भी गिरफ्तार किया है.  


1200 करोड़ रुपये के बैंक फ्रॉड के विरूद्ध सीबीआई ने दर्ज की एफआईआर

1200 करोड़ रुपये के बैंक फ्रॉड के विरूद्ध सीबीआई ने दर्ज की एफआईआर

अमीरा प्योर फूड्स प्राइवेट लिमिटेड दिल्ली की एक कंपनी और उसके शीर्ष अधिकारियों, जिनमें प्रमोटर करण चानना और प्रबंध निदेशक राजेश अरोड़ा शामिल हैं, को सीबीआई ने कथित रूप से 1,200 करोड़ से अधिक के केनरा बैंक के नेतृत्व में एक दर्जन बैंकों के कंसोर्टियम को छल देने के लिए बुक किया है. ऑफिसरों ने बोला कि केनरा बैंक की कम्पलेन के आधार पर CBI ने एक प्राथमिकी दर्ज की है और एफआईआर में आरोपी के रूप में उल्लेखित अमीरा फूड्स के परिसर में दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के आठ स्थानों पर तलाशी अभियान चलाया है.

27 वर्षीय कंपनी पर फर्जीवाड़ा गतिविधि का आरोप लगाया गया था, बासमती और गैर-बासमती चावल के निर्यात में लगे हुए 22 मई, 2019 को एक फोरेंसिक ऑडिट में ध्यान में आया. प्राथमिकी में बोला गया है कि कंपनी ने खाते को गलत बताया और जाली और गढ़े हुए थे. ऑफिसरों ने बोला कि दस्तावेज के रूप में बैंक फंड की लागत पर अवैध ढंग से हासिल करने के लिए दस्तावेज. ऑफिसरों ने बोला कि फर्जीवाड़ा , फर्जीवाड़ा , धन की हेराफेरी, स्टॉक में हेराफेरी, धन की हेराफेरी, और इसके निदेशकों और प्रवर्तकों और अन्य प्रमुख व्यक्तियों द्वारा की गई आपराधिक षड्यंत्र सहित रिपोर्ट को लाल झंडी दिखाई गई.

कहा जाता है कि अमीरा हिंदुस्तान अमीरा मॉरीशस की सहायक कंपनी है. अमीरा नेचर फूड्स लिमिटेड ब्रिटिश वर्जिन आइलैंड में दर्ज़ है और इसका मुख्यालय दुबई में अमीरा मॉरीशस के पास है. रिपोर्ट में बोला गया है, "कंपनी के सभी निदेशक बैंकों को छल देने की षड्यंत्र में शामिल थे और इस तरह विभिन्न कृत्यों, चूक और कमीशन के जरिए फंडों को आपस में डायवर्ट कर दिया और सरकारी खजाने से छीना गया."


Bank Holidays December 2020: दिसंबर में इतने दिन बैंक रहेंगे बंद       3-4 हफ्तों में पूरी दिल्ली को लग सकता है Corona का टीका       बेहद खतरनाक होता हैं हार्ट अटैक का दर्द       हैदराबाद: ओवैसी के गढ़ में योगी आदित्याथ का रोड शो       अंडे खाने के फायदे, जिसे जानकर तुरंत खाना शुरू कर देंगे आप..       कोरोना के साथ अन्य मौसमी बीमारियों के संक्रमण को लेकर जारी हुए दिशानिर्देशों को जानें       छोटे कर्जदारों के लिए बड़ा झटका       बच्चों के लिए क्यों जरूरी है मां का दूध, जरूर जानें       जानिए, सेहत के लिए कितने फायदेमंद है ये पौधे       गठिया का अचूक इलाज, जानें क्यों आपके लिए जरूर हैं ये फूड       अखरोट खाने के यह फायदे जानकर हो जाएंगे हैरान       हर वक्त थकान महसूस करते है, तो आयरन से भरपूर फूड को करें अपनी डाइट में शामिल       आंवलें का जूस पीने से हो सकते हैं कई फायदे       विटामिन C से भरपूर हैं ये सब्जियां, सेहत के लिए भी फायदेमंद       आखिर क्यों हाथ साफ करने के लिए सैनिटाइजर से बेहतर है साबुन       मोदी सरकार ने जवानों को ही किसानों के विरूद्ध खड़ा कर दिया: राहुल गांधी       प्रदर्शन कर रहे किसानों से गृह मंत्री अमित शाह ने की ये अपील       पहली बार बिहार की सेंट्रल कारागार में ATM की सुविधा       रोजगार की तलाश में UAE पहुंचा भारतीय व्यक्ति लापता       सामने आया कोरोना का नया लक्षण, हमेशा के लिए आपको कर सकता हैं बहरा