एलियन बनने की सनक में शख्स ने कटवा लिए नाक-कान, होंठ और उंगलियां, अब हो गई ऐसी हालत

एलियन बनने की सनक में शख्स ने कटवा लिए नाक-कान, होंठ और उंगलियां, अब हो गई ऐसी हालत

दुनिया में एक से बढ़कर एक लोग मौजूद हैं। अलग दिखने के लिए लोग कुछ भी करते हैं। खूबसूरत बनने की चाह में कुछ लोग प्लास्टिक सर्जरी तक कराते हैं। लेकिन क्या आपने कभी ये सोचा है कि किसी इंसान पर एलियन बनने की भी सनक चढ़ सकती है? वो भी सनक ऐसी कि उसके चक्कर में अपने शरीर के जरूरी अंगों को भी कटवा सकता है। जी हां, फ्रांस के एक शख्स पर एलियन बनने का ऐसा ही जुनून सवार हुआ है और इस जुनून में उसने अपनी नाक ही कटवा दी। इतना ही नहीं, शख्स अपने हाथ की कुछ उंगलियों और ऊपर के होंठ भी कटवा चुका है। 

फ्रांस के रहने वाले एंथनी लोफ्रेडो पर बहुत पहले से ही एलियन बनने का जुनून सवार था।इसके चक्कर में उन्होंने पहले अपने चेहरे के जरूरी अंगों को कटवा लिया था। इस बार उन्होंने अपने हाथ को एक अजीब पंजे जैसा दिखाने के लिए अपनी दो उंगलियों को कटवा दिया है, जिसकी वजह से वो सुर्खियों में आ गए हैं। आइये जानते हैं एंथनी लोफ्रेडो ने एलियन बनने की सनक में अपनी क्या हालत बना ली है...  

33 साल के एंथनी लोफ्रेडो इससे पहले अपने नाक, कान और होंठ कटवा चुके हैं। अब उन्होंने अपने बाएं हाथ की दो उंगलियों को कटवा लिया है। इसके बाद उन्होंने मैक्सिको जाकर एक सर्जरी करवाई है। सिर्फ यही नहीं एंथनी ने अपनी एलियन बनने की इच्छा पूरी करने के लिए पहले से ही काले रंग का टैटू पूरे शरीर पर गुदवा रखा है।

ब्लैक एलियन बनने की सनक में किया ऐसा हाल 

'ब्लैक एलियन' बनने के लिए उन्होंने ना जाने कितनी ही सर्जरी भी करवाई हैं। इसके अलावा उन्होंने पूरे शरीर पर टैटू गुदवा रखा है।सिर्फ शरीर ही नहीं आंखों में भी काले रंग की टैटू कराया है।रिपोर्ट्स के मुताबिक वे और भी सर्जिकल प्रोसिजर्स के जरिये खुद को ब्लैक एलियन में तब्दील करने वाले हैं।
पहले एंथनी कभी सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी करते थे लेकिन उससे खुश नहीं थे, क्योंकि उन्हें ब्लैक एलियन बनना था। एक दिन उन्हें लगा कि वे वैसे नहीं जी रहें, जैसे उन्हें जीना चाहिए। इसके बाद उन्होंने सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी छोड़ दी और ऑस्ट्रेलिया चले गए। जहां उन्होंने खुद को बदलना शुरू कर दिया। अब वह पूरी तरह बदल चुके हैं। 

इस झील में पड़ा है अरबों का खजाना, लेकिन आज तक कोई छु भी नहीं पाया

इस झील में पड़ा है अरबों का खजाना, लेकिन आज तक कोई छु भी नहीं पाया

ह‌िमाचल प्रदेश ज‌िसे देवभूम‌ि यानी देवताओं की जमीन के नाम से भी जाना जाता है। इस भूम‌ि के चप्पे-चप्पे पर रहस्य छुपा हुआ है। जल प्रलय, धरती पर जन्म लेने वाले पहले मनुष्य का रहस्य से लेकर कौरवों और पाडवों से जुड़े कई रोचक और रहस्यमयी चीजें यहां देखने का म‌िल जाएगी। देवभूम‌ि ह‌िमाचल के मंडी ज‌िले में  आपको एक ऐसा झील भी द‌िखेगा ज‌िसमें ऊपर से ही आपको रुपये और सोने, चांदी के स‌िक्के चमकते नजर आएंगे।

इस झील के बारे में कहा जाता है क‌ि इसमें करोड़ों का खजाना है। कई लोग इस खजाने को पाने की हसरत ल‌िए यहां आए लेक‌िन इसे पाने में कोई कामयाब नहीं हो पाया। इस झील के बारे में ऐसी मान्यता है क‌ि भीम ने इस झील का न‌िर्माण क‌िया जो पाताल से जुड़ा हुआ है। इस झील के पास बाबा कमरुनाग का मंद‌िर है ज‌िसे वर्षा का देवता माना जाता है। बाबा के नाम से ही यह झील कमरुनाग के नाम से जाना जाता है।

हर साल 14 और 15 जून को बाबा कमरुनाग का दर्शन भक्तों को प्राप्त होता है। इनके दर्शन के लिए लोग रोहांडा नामक स्थान से 8 किलोमीटर घने जंगल और पहाड़ों की कठिन चढ़ाई पूरी करके आते हैं। रोहांडा हिमाचल प्रदेश के मण्डी नामक स्थान से लगभग 60 किलोमीटर की दूरी पर है।

कमरुनाग झील के विषय में मान्यता है कि इसमें सोना, चांदी गहना और धन कुछ भी अर्पित करने से मनोकामना पूरी होती है। इसलिए लोगों को गहने और धन चढ़ते हुए यहां देखा जा सकता है। कहते हैं लोगों की यह भेंट सीधे देवताओं तक पहुंच जाती है।

वर्षो से लोगों द्वारा चढ़ाए गए धन और गहने के कारण ऐसा माना जाता है क‌ि इस झील में अरबों का खजाना पड़ा हुआ है। लेक‌िन इसे कोई चुरा नहीं सकता क्योक‌ि यह देवताओं का खजाना है ज‌िसकी रक्षा स्वयं नाग देवता करते हैं। वर्षो से लोगों द्वारा चढ़ाए गए धन और गहने के कारण ऐसा माना जाता है क‌ि इस झील में अरबों का खजाना पड़ा हुआ है। लेक‌िन इसे कोई चुरा नहीं सकता क्योक‌ि यह देवताओं का खजाना है ज‌िसकी रक्षा स्वयं नाग देवता करते हैं।