PM मोदी के लिए बुजुर्ग महिला ने उठाया बड़ा कदम

PM मोदी के लिए बुजुर्ग महिला ने उठाया बड़ा कदम

नई दिल्‍ली: देश-विदेश में अधिकांश लोग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को उनके व्यक्तित्व के लिए बहुत पसंद करते हैं। लोगों का इनके प्रति समर्पण भाव काफी ज्यादा है। ऐसे में उत्तर प्रदेश के मैनपुरी में रहने वाली एक 85 साल की बुजुर्ग महिला है। जिनका नाम बिट्टन देवी है। ये बुजुर्ग महिला अपनी सारी जमीन-जायदाद देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम करना चाहती है। जिसके लिए वे कल मैनपुरी की तहसील में पहुंची। यहां पहुंचकर एक वकील से पीएम मोदी के नाम पर जमीन ट्रांसफर करने के लिए कहा। जिसे सुनकर सभी लोग एकदम से चौंक गए। बुजुर्ग महिला के इस फैसले के पीछे एक भावुक वजह है।

लगभग साढ़े 12 बीघा जमीन
सूत्रों से सामने आई रिपोर्ट के अनुसार, 85 साल की बिट्टन देवी किशनी विकास खंड के चितायन गांव की रहने वाली हैं। बिट्टन देवी के पास लगभग साढ़े 12 बीघा जमीन है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, वह बुधवार को अचानक मैनपुरी की तहसील पहुंचीं और वकील कृष्‍ण प्रताप सिंह के चैंबर में गईं। वहां उन्‍होंने वकील से अपनी सारी बातें की और अपनी सारी जमीन पीएम मोदी के नाम पर करने की इच्‍छा जाहिर की। जिसे सुनकर सभी वकील हैरान रह गए।

वहां उपस्थित सभी लोगों ने बुजुर्ग महिला को खूब समझाया, लेकिन वो अपनी जिद पर अड़ी हुई हैं। उन्‍होंने वकील से जमीन पीएम मोदी के नाम करने के लिए कहा है। इसके बाद वकील ने उनके बारे में उनसे जानकारी मांगी।

जमीन पीएम मोदी को देना चाहती
बुजुर्ग महिला ने बताया कि उनके पति की मौत हो चुकी है। उनके दो बेटे और बहू हैं। आगे उनका कहना है कि उनके बेटे-बहू उनका ख्‍याल नहीं रखते हैं। उनका गुजारा सरकार की तरफ से दी जा रही वृद्धावस्‍था पेंशन से हो रहा है। इसलिए वह अपनी जमीन पीएम मोदी को देना चाहती हैं।

ऐसे में उनकी ये बात सुनकर वकील ने जिलाधिकारी से बात करने का हवाला देते हुए उन्‍हें घर भेज दिया। लेकिन बुजुर्ग महिला दो दिन बाद फिर आने की बात कहकर अपने घर को चली गई हैं।


यूपी बजट सत्र 2021 कल से: विधानसभा स्पीकर की सभी दलों से अहम अपील

यूपी बजट सत्र 2021 कल से: विधानसभा स्पीकर की सभी दलों से अहम अपील

लखनऊ- उत्तर प्रदेश में बजट सत्र 2021 -22 की कल यानी गुरूवार से शुरुआत हो रही है, जिसके संचालन को लेकर आज उत्तर प्रदेश विधान सभा के अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने बैठक की।इस दौरान उन्होंने सभी दलीय नेताओं से सहयोग प्रदान करने का अनुरोध किया। आज विधान भवन में आयोजित सर्वदलीय बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, नेता प्रतिपक्ष राम गोविन्द चैधरी सहित सभी दलों के नेता मौजूद रहे, जिन्होंने यूपी विधानसभा अध्यक्ष को सदन चलाने में सहयोग प्रदान करने का आश्वासन दिया।

उत्तर प्रदेश बजट सत्र 2021 -22 से पहले स्पीकर हृदय नारायण दीक्षित की बैठक
दरअसल, कल से शुरू होने वाले यूपी बजट सत्र को लेकर आज राजधानी लखनऊ के विधान भवन में विधान सभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित की अध्यक्षता में बैठक हुई, जिसमें सदन के नेता मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी शामिल हुए।

सीएम योगी बोले- कोविड-19 का सामना करते हुए 6 महीने बाद मिले हम सब
इस मौके पर सीएम योगी ने कहा कि लगभग 6 महीने बाद हम सब कोविड-19 संक्रमण एवं चुनौतियों का सामना करते हुए आज मिल रहे है। उन्होंने कहा कि हम सार्थक और रचनात्मक बहस एवं विचार-विमर्श को बढ़ावा देने के साथ-साथ अधिकतम समय तक कार्यवाही चलाने के लिए प्रतिबद्ध है। सदन की उच्च गरिमा और मर्यादा को बनाये रखते हुए यदि गम्भीर चर्चा को आगे बढ़ाते हुए सदस्यों की गरिमा बढ़ेगी और लोकतंत्र के प्रति आमजन की आस्था बढ़ेगी। सदन में हम सबका आचरण समाज को प्रभावित करता है। एक नई दिशा देता है, उसके माध्यम से समाज फिर अपनी दिशा तय करता है।

सत्र पर सरकार का ये प्रयास
सरकार की ओर से कार्यवाही को सफलतापूर्वक संचालित करने और सदस्यों के द्वारा उठाये गये मुद्दों पर चर्चा करने के लिए सदैव तत्पर रहेंगे। सरकार पूरा प्रयास करेगी की सभी विषयों पर सकारात्मक कार्यवाही हो। यह सत्तापक्ष और विपक्ष की सामूहिक जिम्मेदारी है। इस सत्र में देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश का ई. बजट प्रस्तुत होगा।

स्पीकर हृदय नारायण दीक्षित की अपील
स्पीकर ने कहा कि उत्तर प्रदेश देश की सबसे बड़ी विधान सभा होने के नाते हमारे ऊपर दायित्व है कि हम संविधान के प्रति प्रतिबद्ध परंपरा, प्रतिबद्ध संस्कृति और हर तरह से संविधान के प्रति निष्ठावान होकर सदन की कार्यवाही को मधुरतापूर्वक चलाये। सदन में सारवान और गुणवत्तापूर्ण चर्चा को इसके लिए सभी का सहयोग अपेक्षित है।

बैठक में शामिल हुए ये नेता
बैठक में नेता विरोधी दल रामगोविन्द चौधरी, बहुजन समाज पार्टी के नेता लाल जी वर्मा और कांग्रेस पार्टी की नेता आराधना मिश्रा मोना एवं अपना दल एस के नेता नील रतन पटेल, सुहेल देव पार्टी के नेता ओम प्रकाश राजभर के स्थान पर त्रिवेणी राम ने बैठक में भाग लिया।

इसके अलावा बैठक में संसदीय कार्य मंत्री, सुरेश कुमार खन्ना ने मुख्यमंत्री योगी की भावनाओं के साथ सम्बद्ध करते हुए सभी दलीय नेताओं से सदन के सफल एवं सुचारू रूप से संचालन के लिए सहयोग मांगा।

सत्र का ये है कार्यक्रम
इसके पहले कार्यमंत्रणा की बैठक में अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने बताया कि 18 फरवरी से 10 मार्च तक घोषित कार्यक्रमानुसार बैठक होगी। 18 फरवरी को 11ः00 बजे राज्यपाल का दोनों सदनों में एक साथ अभिभाषण होगा। वहीं 22 फरवरी को 11ः00 बजे 2021-22 के आय-व्यय का प्रस्तुतीकरण किया जायेगा।


Atom 1.0 बाइक से केवल 7 रुपये में करें 100 किलोमीटर का सफर       गर्म पानी पीने से हो सकता है स्वास्थ्य को ये नुकसान!       नींद नहीं आती है रातों में? अपनाएं ये उपाय       उरी बेस कैंप पहुंचे Vicky Kaushal, इंडियन आर्मी संग फोटोज़ शेयर कर बोले...       ये प्यारी सी 'डिमांड' भी कर दी, Sonu Sood ने बिहार की बहन के लिए दिखाई दरियादिली       इस मंदिर में चढ़ाया जाता है इंसान के निजी अंग का डमी मॉडल, वजह जानकर हो जाएंगे हैरान       सेंसेक्स की शीर्ष 10 में से आठ कंपनियों का बाजार कैपिटलाइजेशन 1.94 लाख करोड़ रुपये बढ़ा       करोड़ों में लगी Twitter के CEO के पहले ट्वीट की बोली...       इस दिन लगेगा खरमास, जानें इस दौरान क्या करें       बस इन नियमों का करना होगा पालन, सूर्य देव को अर्घ्य देने से बन जाते हैं कैसे भी बिगड़े काम       RSWS 2021: इंग्लैंड ने बांग्लादेश लीजेंड्स को हराया, केविन पीटरसन की धुआंधार बैटिंग       खिताबी सिक्सर लगाने उतरेगी रोहित की मुंबई, RCB से खेलेगी पहला मैच       44 लेयर में भरी जाएगी राम मंदिर की 15 मीटर गहरी नींव, पारंपरिक शैली में होगा निर्माण       दुनियाभर में फैली दहशत, कोरोना महामारी पर WHO ने दी चेतावनी       आर्मी तक पहुंची वैक्सीन, रिटायर्ड सैन्य कर्मियों का टीकाकरण       गौतम बुद्ध के ये अनमोल वचन बदल देंगे आपकी जिंदगी       कब से शुरू हो रहा है खरमास, नहीं कर पाएंगे कोई शुभ कार्य       मार्च में है महाशिवरात्रि, होली, विजया एकादशी जैसे महत्वपूर्ण व्रत एवं त्योहार       समस्याओं से आप भी हैं परेशान, तो पढ़ें भगवान ​बुद्ध से जुड़ी यह प्रेरक कथा       महाशिवरात्रि के दिन करें ये उपाय, शिव जी प्रसन्न होकर कष्टों से देते हैं मुक्ति