Lockdown:  उत्तर प्रदेश के बदायूं मे मुस्लिम समुदाय के लोगों ने मांगी अमन-चैन की दुआ

Lockdown:  उत्तर प्रदेश के बदायूं मे मुस्लिम समुदाय के लोगों ने मांगी अमन-चैन की दुआ

 उत्तर प्रदेश के बदायूं (Badaun ) में लॉकडाउन के चलते मुस्लिम समुदाय (Muslim Community) के लोगों ने घरों पर ही जुम्मा अलविदा की नमाज (Namaz) अता की व मुल्क के लिए अमन-चैन की दुआ मांगी।

 साथ ही कोरोना मुक्ति के लिए भी दुआ मांगी। बदायूं में जामा मस्जिद सहित जिले की सभी मस्जिदें सूनी रहीं व वहां पर लोगों ने नमाज नहीं पढ़ी। प्रशासन के आदेशों का पालन किया गया। वहीं, प्रशासन ने भी हर मस्जिद पर पुलिस की ड्यूटी लगा दी ताकि भीड़ इकट्ठी न हो पाए। यही वजह है कि अपील के बाद मस्जिदों में जुमे की नमाज नहीं हुई। मुस्लिम समुदाय के लोगों ने घर के अंदर सोशल डिस्टेंसिंग के साथ नमाज पढ़ी। मस्जिद के मौलवी ने देश से कोरोना खात्मे व सारे दुनिया से कोरोना भागने के साथ-साथ देश में अर्थव्यवस्था को पटरी आने की दुआ मांगी।

वहीं, मुरादाबाद। लॉकडाउन (Lockdown) व सोशल डिस्टेंसिंग के उल्लंघन के आरोप में मुरादाबाद देहात से सपा विधायक हाजी इकराम क़ुरैशी व उनके पुत्र उबैद इकराम क़ुरैशी के विरूद्ध मुद्दा दर्ज किया गया है। आरोप है कि लॉकडाउन के दौरान सपा विधायक ने अपने घर के बाहर सैकड़ों लोगों को जमा कर राशन बांटा था। राशन बांटने के दौरान सोशल डिस्टेन्स के नियमों की जमकर धज्जियां उड़ी थीं। थाना गलशहीद पुलिस ने ये केस दर्ज किया है।

घर के बाहर भीड़ इकट्ठा कर बांटी खाद्य सामग्री
मुरादाबाद देहात से सपा विधायक हाजी इकराम कुरैशी ने जरूरतमंदों को अपने घर के बाहर जमाकर उन्हें खाद्य सामग्री बांटी थी। इस दौरान सैकड़ों लोगों की भीड़ विधायक के घर के आगे इकठ्ठा हो गई व देखते ही देखते इस भीड़ में उपस्थित स्त्रियों व पुरुषों ने खाद्य सामग्री लेने के लिए सामाजिक दूरी की परवाह न करते हुए उसकी छीना-झपटी तक प्रारम्भ कर दी। इससे वहां अफरा-तफरी का माहौल पैदा हो गया, खाद्य सामग्री के साथ सपा कार्यकर्ता रूपये भी भीड़ में बांटते नजर आ रहे थे, जिससे भीड़ भी बेकाबू सी हो रही थी।