केबीसी की हाट सीट पर बैठेंगे लखनऊ के मेधावी मानस, अमिताभ बच्चन के सवालों का देंगे जवाब

केबीसी की हाट सीट पर बैठेंगे लखनऊ के मेधावी मानस, अमिताभ बच्चन के सवालों का देंगे जवाब

दिल्ली पब्लिक स्कूल जानकीपुरम शाखा के कक्षा दस के छात्र मानस गायकवाड़ कौन बनेगा करोड़पति के हाॅटसीट पर बैठे नजर आ रहे हैं। सोनी चैनल पर प्रसारित हाेने वाले कार्यक्रम कौन बनेगा करोड़पति में 15 से 20 नवंबर तक स्टूडेंट्स स्पेशल मनाया जा रहा है। मानस ने स्टूडेंट्स स्पेशनल एपिसोड्स में अपनी जगह बना ली है। 17 और 18 नवंबर को इसका प्रसारण होगा, जिसका प्रोमा भी चैनल की तरफ से जारी किया गया है। मानस ने देशभर से चयनित 10 विद्यार्थियों के बीच अपनी जगह बनाई है। वह बिग बी यानी अमिताभ बच्चन के सवालों का जवाब देंगे। 


मानस के पिता अनिल गायकवाड़ सीडीआरआइ में सीनियर प्रिंसिपल साइंटिस्ट और मां राजश्री गृहिणी हैं। पिता अनिल गायकवाड़ ने बेटे की इस उपलब्धि पर खुशी जाहिर करते हुए कहा कि बेटा शुरू से ही प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिताओं में हिस्सा लेता रहा है, इस बार केबीसी तक पहुंचा, यह गौरव की बात है। कौन बनेगा करोड़पति में स्टूडेंट्स स्पेशल वीक के लिए सितंबर माह में एक प्रतियोगिता का आयोजन किया गया था। इसमें देश भर से लाखों बच्चों ने हिस्सा लिया था। अंतिम चरण के लिए इसमें से छह सौ विद्यार्थियों को मुंबई बुलाया गया था। अंतिम चरण की प्रतियोगिता के बाद केवल दस विद्यार्थियों को चयनित किया गया।


इन विद्यार्थियों के बीच फास्टेस्ट फिंगर फर्स्ट का मुकाबला हुआ। मानस इसमें कामयाब होकर हाट सीट तक पहुंचे। दिल्ली पब्लिक स्कूल की प्रिंसिपल नीरू भास्कर ने बताया कि मानस ने अपनी मेधा और प्रतिभा के बल पर स्कूल और शहर का नाम रोशन किया है। हम अपने आप को गौवांवित महसूस कर रहे हैं। इससे पहले भी स्कूल से कई विद्यार्थियों ने अपनी प्रतिभा का परिचय विभिन्न मंचों पर दिया है। इससे पहले इसी स्कूल की छात्रा राशि का चयन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ चंद्रयान दो की लैंडिंग देखने के लिए हुआ था। हम अपने विद्यार्थियों की उपलब्धि बेहतर गर्वित हैं।


Makar Sankranti 2022: बाजारों में पंजाबी चिक्की, रामदाना समेत इन चीजों की बढ़ी डिमांड

Makar Sankranti 2022: बाजारों में पंजाबी चिक्की, रामदाना समेत इन चीजों की बढ़ी डिमांड

मकर संक्रांति पर्व को लेकर थोक और फुटकर बाजारों में ग्राहकों की रौनक रही। गजक, तिल के लड्डू, पंजाबी चिक्की, रामदाना समेत गुड़ और शक्कर के बने उत्पादों की अच्छी बिक्री हुई।

नया चावल और उड़द-मूंग की दाल भी खूब बिकी। हालांकि, बाजार में महंगाई की मार भी दिखी। सोशल डिस्टेंसिंग धड़ाम रही, तमाम ग्राहक मास्क तक नहीं लगाए थे। 

कानपुर नमकीन, बेकरी, गजक, पेठा एसोसिएशन के अध्यक्ष निर्मल त्रिपाठी ने बताया कि पिछले साल की तुलना में गुड़ और शक्कर के दाम बढ़े हैं। पिछले साल की तुलना में करीब 10-15 फीसदी दाम तेज हैं। गुड़ की गजक 240 रुपये किलो बिकी। गुड़ रोल और पंजाबी चिक्की का भाव 260 रुपये किलो रहा।

काले तिल का लड्डू 280 और सफेद तिल का लड्डू 260 रुपये किलो में बिका। बाजार में ग्राहकों की पसंद को देखते हुए चॉकलेट, खोवा, मेवा गजक भी हैं। इसके दाम अलग-अलग क्वालिटी के अनुसार 400 से 600 रुपये किलो तक है। महामंत्री शंकर लाल मतानी ने बताया कि बाजार में अच्छी संख्या में ग्राहक थे।

दोनों प्रकार के तिल के लड्डू, रामदाना, लइया की भी अच्छी डिमांड देखने को मिली। चावल और दाल कारोबारी सचिन त्रिवेदी ने बताया कि खिचड़ी में नया चावल ही इस्तेमाल में आता है। इसके चलते चावल और दालों की अच्छी बिक्री हुई।