पांच महीने बाद आखिर बांका के चांदन डैम से मिला विवाहिता का कंकाल, जानें कैसे हुई पहचान

पांच महीने बाद आखिर बांका के चांदन डैम से मिला विवाहिता का कंकाल, जानें कैसे हुई पहचान

जयपुर (बांका) : जयपुर थाना क्षेत्र के बहुचर्चित कंकई देवी हत्याकांड की जांच में पुलिस ने पांच महीनों बाद चांदन डैम से प्लास्टिक बोरा में बंद मृतका का कंकाल बरामद किया है. कंकाल से लिपटी हरा रंग की साड़ी से मां नीरा देवी, बहन बबीता कुमारी व भाई मणिकांत यादव ने शिनाख्त की है.

जयपुर थानाध्यक्ष पंकज कुमार राउत के नेतृत्व में दल-बल के साथ पहुंची पुलिस टीम ने बरामद कंकाल को फोरेंसिक जांच के लिये भेज दिया है. इस मौके पर पुलिस अवर निरीक्षक मैनेजर सिंह व सअनि रमेश चौधरी दल-बल के साथ मौजूद थे.

कंकाल मिलने के साथ ही कंकई देवी हत्याकांड का पूरी तरह से उद्भेदन हो गया है. ज्ञात हो कि जयपुर थाना क्षेत्र के कोल्हासार गांव में हुई कंकई देवी हत्याकांड में पिता रामसुंदर यादव ग्राम झालर थाना बंधुआकुरावा (बौंसी) के बयान पर आठ लोगों के विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज है.

जिसमें दहेज में एक लाख रूपये नहीं मिलने पर प्रताडि़त करते हुए हत्या कर शव को कहीं छिपा देने का आरोप लगाया गया है. जयपुर थाना में गत 13 जून, 2020 को मामला दर्ज हुआ है.

इस मामले में पुलिस तीन अभियुक्तों को जेल भेज चुकी है. जिसमें भैंसुर पंकज यादव, गोतनी इंदु देवी ग्राम कोल्हासार व मामा ससुर दिनेश यादव ग्राम पलनियां शामिल हैं. मृतका के फरार पति नीकू यादव, ससुर रामदेव यादव व सास के घर पुलिस कुर्की जब्ती की कार्रवाई भी पूरी कर चुकी है.

जानकारी के अनुसार जयपुर थाना क्षेत्र के कोल्हासार गांव में गत 10 जून को ही दहेजलोभी ससुराल वालों ने विवाहिता कंकई देवी की हत्या कर शव को गायब कर दिया था. काफी खोजबीन के बाद मायके वालों ने जयपुर थाना को सूचना देने के बाद प्राथमिकी भी दर्ज करायी थी.

शव की बरामदगी को लेकर पुलिस टीम ने कई जगहों पर खुदाई भी करायी थी. आशंका जतायी जा रही है कि हत्या के बाद शव को प्लास्टिक बोरा में बंद कर चांदन डैम में फेंक दिया गया था. पानी सूखने के कारण बंद बोरा से आ रही दुर्गंध पर पुलिस ने जांच-पड़ताल शुरू की. कंकाल व सूती की साड़ी मिलने पर पहचान करायी गयी.


12 साल बाद पाक से भारत लौटा सोून, परिजनों से मिलकर हुआ भावुक

12 साल बाद पाक से भारत लौटा सोून, परिजनों से मिलकर हुआ भावुक

झाँसी: जिंदगी के बारह साल पाकिस्तान की जेलों में काटने के बाद ललितपुर के थाना मड़ावरा के ग्राम संतवासा गांव का सोनू सिंह उर्फ सोहन सिंह अपने देश लौट आया है। एसडीएम और मड़ावरा इंस्पेक्टर का पत्र लेकर परिजन अमृतसर पहुंचे। यहां पत्र सौंपते ही वहां के प्रशासन ने सोनू सिंह को परिजनों के हवाले कर दिया। सोनू सिंह के घर पहुंचने पर परिजनों के अलावा ग्रामीण काफी खुश नजर आ रहे हैं।

ललितपुर के थाना मड़ावरा के ग्राम संतवासा में रोशन सिंह लोधी परिवार समेत रहता है। उसके चार बेटे हैं, जिनमें सोनू सबसे छोटा बेटा है। लगभघ 19 साल की उम्र में सोनू सिंह बाबा बनने की कहकर घर से कहीं निकल गया और उसका दिमागी संतुलन भी ठीक नहीं था। पूरा परिवार उसकी तलाश में भटकता रहा, लेकिन पता नहीं चला। इसी साल परिजनों को सूचना मिली कि सोनू पाकिस्तान की जेल में बंद है।

इसके बाद 26 अक्तूबर को इंटेलीजेंस ब्यूरो ने थानाध्यक्ष मड़ावरा कृष्णवीर सिंह को सोने के पाकिस्तान से रिहा होकर अमृतसर में पहुंचने की जानकारी दी। अमृतसर पहुंचने पर सोनू को छेहरटा के नारायणगढ़ के कम्यूनिटी सेंटर में क्वारंटन किया गया थआ। जानकारी मिलते ही परिवार में खुशी का माहौल पैदा हो गया। पिता रोशन सिंह व चाचा उदय सिंह अमृतसर पहुंच गए। 12 साल बाद एक दूसरे को सामने देखकर सोनू और उसका पिता दोनों ही बेहद भावुक हो गए थे। उधर, अमृतसर के अफसरों ने कहा कि दारोगा या क्षेत्र के एसडीएम का पत्र लाने पर ही सोनू को सौंपा जाएगा।

पाकिस्तानी सैनिकों ने पकड़ा था
रोशन सिंह के पिता के मुताबिक बेटे ने उसे बताया था कि वह ट्रेन में बैठक जम्मू पहुंच गया था, जहां से वह बार्डर पहुंच गया, वहां से पाकिस्तान सैनिकों ने उसे पकड़ लिया। इसके बाद उसे सजा भी सुनाई थी। सजा काटने के बाद उसे पाकिस्तान से रिहा किया गया है। सोनू का कहना है कि उसे कई जेलों में रखा गया था। वहां पर भी प्रताड़ित किया गया है। सोनू मानसिक रुप से खासा कमजोर हो चुका है। वह यह नहीं बता पा रहा है कि पाकिस्तान की किन -किन जेलों में सजा काटी है।

कृष्णवीर सिंह, प्रभारी निरीक्षक मड़ावरा ने कही ये बात
पंजाब के अमृतसर के इंटेलीजेंस ब्यूरो द्वारा ग्राम सतवांसा के सोनू सिंह के पाकिस्तान की जेल में होने और बीते 26 अक्तूबर के रिहा होकर अमृतसर लौटने की जानकारी दी गई थी। इस पर उन्होंने गांव जाकर सोनू के पिरजनों को उनके बेटे के पाकिस्तान से लौट आने की सूचना दी थी। इंटेलीजेंस द्वारा सोनू के संबंध में मुकदमा दर्ज होने के संबंध में जानकारी मांगी गई थी। उन्हें बताया था कि सोनू के खिलाफ यहां पर कोई मुकदमा दर्ज नहीं है।


सलमान के बैंक एकाउंट पर चलती है पापा सलीम खान की दबंगई       पत्नी, बेटे, बहू और पोते की मर्डर कर भागा प्रॉपर्टी डीलर, पुलिस ने ऐसे किया अरेस्ट       पहले पत्नी और दो बच्चों की मर्डर की फिर किया ये काम       95 प्रतिशत से ज्यादा असरदार है रूस की स्पुतनिक वैक्सीन       कोरोना संकट के बीच पाकिस्तान में कट्टरपंथी मौलाना के जनाजे में उमड़े लाखों लोग       कोरोना के चलते आपकी खांसी को झट से दूर कर देंगे ये उपाय       स्वास्थ्य के साथ ही कामेच्छा और स्पर्म काउंट बढ़ाने में भी फायदेमंद है कटहल का सेवन       कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी में भी फायदेमंद है अखरोट       हड्डियों में दर्द की समस्या से छुटकारा दिलाता है टमाटर का सेवन, जानें       गर्भावस्था में महिलाओं नहीं करना चाहिए इस दवाई का सेवन       पती-पत्नी अपने रिश्ते को इन बातों का ध्यान रखकर बना सकते हैं मजबूत       पीएम मोदी के खिलाफ नामांकन करने वाले बीएसएफ जवान तेज बहादुर की याचिका हुई खारिज       Cyclone Nivar LIVE: पुडुचेरी में लगाई गई धारा 144       अमित शाह ने कोविड-19 पर समीक्षा मीटिंग में मुख्यमंत्रियों के लिए 3 लक्ष्य किए तय       क्या 1 दिसंबर से बंद हो जाएंगी सारी ट्रेनें? जानें       सपा सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे यासिर शाह की तबियत बिगड़ी       Vivo V20 Pro: अबतक का सबसे पतला 5G स्मार्टफ़ोन, जानें कीमत       हैकर्स ऐसे हैक कर रहे हैं WhatsApp अकाउंट, ऐसे करें बचाव       लाॅन्च होने जा रहा POCO M3 स्मार्टफोन, फीचर्स है दमदार       Micromax का शानदार स्मार्टफोन, आज से शुरू होगी बिक्री