फेक न्यूज प्रसारित करने वालों पर सीएम योगी सख्त, बोले- संप्रदायिक उन्माद फैलाने की कोशिश नहीं स्वीकार

फेक न्यूज प्रसारित करने वालों पर सीएम योगी सख्त, बोले- संप्रदायिक उन्माद फैलाने की कोशिश नहीं स्वीकार

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इंटरनेट मीडिया पर दुष्प्रचार करने वालों के खिलाफ कठोरता से कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। गाजियाबाद में समुदाय विशेष के एक बुजुर्ग की पिटाई व दाढ़ी काटने का वीडियो वायरल कर इसे सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने की कोशिश को सीएम योगी ने गंभीरता से लेते हुए फेक वीडियो और फेक न्यूज का प्रसार करने वालों से सख्ती से निपटने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने सख्त लहजे में कहा है कि संप्रदायिक उन्माद फैलाने की एक भी कोशिश स्वीकार नहीं कि जाएगी।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को कोविड-19 प्रबंधन के लिए गठित टीम-9 को विभिन्न दिशा-निर्देश दिए। इस दौरान सीएम को बताया गया कि लगातार कोशिशों का नतीजा है कि ज्यादातर जिलों में संक्रमण के नए मामले नहीं मिल रहे हैं। कई जिलों में तो नए केस इकाई में आ रहे हैं। लखनऊ छोड़ शेष 74 जिलों में 300 से कम एक्टिव केस शेष हैं। विगत 24 घंटों में दो लाख 86 हजार 396 सैम्पल जांचे गए। इसी अवधि में संक्रमण के 310 नए केस सामने आए हैं और 927 मरीज कोरोना संक्रमण से मुक्त हुए हैं। वर्तमान में कुल 6,496 एक्टिव हैं। इसमें 3,920 लोग घर पर उपचाराधीन हैं। बीते 24 घंटों में कुल पॉजिटिविटी दर मात्र 0.1 फीसद रही, जबकि रिकवरी दर 98.3 फीसद हो गई है। प्रदेश में अब तक पांच करोड़ 41 लाख 45 हजार 947 सैम्पल टेस्ट हो चुके हैं। कोरोना महामारी के बीच अब तक 16 लाख 74 हजार 999 प्रदेशवासी कोविड संक्रमण से मुक्त हो चुके हैं।


सीएम योगी आदित्यनाथ ने निदेश दिया कि कोविड संक्रमण से बचाव के लिए प्रदेशवासियों को टीका-कवर प्रदान करने की प्रक्रिया और तेज करने की आवश्यकता है। ब्लॉक स्तर पर गांवों के अलग-अलग क्लस्टर बनाकर सघन टीकाकरण अभियान चलाया जाए। लोगों को ग्राम पंचायत भवन अथवा निकटतम सीएचसी पर ही वैक्सीनेशन की सुविधा दी जाए। उन्होंने कहा कि विदेश यात्रा पर जाने वाले ऐसे लोग, जिन्होंने कोविशील्ड वैक्सीन की पहली डोज प्राप्त कर ली है और 28 दिन का समय पूर्ण हो चुका है, वह दूसरी डोज लगवा सकते हैं। ऐसे लोगों के लिए जिला अस्पतालों में विशेष टीकाकरण बूथ बनाए जाएं। बीते 24 घंटों में 4,08,731 लोगों ने वैक्सीन लगाई गई। अब तक दो करोड़ 38 लाख से अधिक वैक्सीन डोज दिए जा चुके हैं। जबकि, अगस्त की समाप्ति तक 10 करोड़ लोगों को वैक्सीनेट करने का लक्ष्य है।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने निदेश दिया कि सामुदायिक स्वस्थ्य केंद्र (सीएचसी) और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र (पीएचसी) से जुड़े मार्गों को ठीक किया जाना चाहिए। बच्चों की स्वास्थ्य सुरक्षा सुनिश्चित करने के उद्देश्य से घर-घर मेडिकल किट वितरण का विशेष अभियान शुरू हो गया है। जिलों में स्थानीय जनप्रतिनिधियों के माध्यम से निगरानी समितियों को दवाइयों का पैकेट दिलाया जाए। लोगों को स्वास्थ्य सुरक्षा के प्रति जागरूक करें। अभियान के सुचारु क्रियान्वयन के लिए सतत मॉनीटरिंग की जाए। आक्सीजन प्लांट की स्थापना राज्य सरकार प्राथमिकता में है। यह सुखद है कि बीते 24 घंटे में 14 नए प्लांट शुरू हो गए हैं। इस तरह अब 99 प्लांट क्रियाशील हैं। शेष स्वीकृत प्लांट के संबंध में स्थापना की प्रक्रिया तेज की जाए।


सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि गाजीपुर जिले में गंगा नदी में लकड़ी के बक्से में नवजात बच्ची मिली है। सरकार बच्ची की देखभाल करेगी। नाविक द्वारा बालिका को बचाना मानवता का अनुपम उदाहरण है। प्रदेश सरकार उन्हें धन्यवाद ज्ञापित की करते हुए आवास की सुविधा देगी। सीएम योगी ने निर्देश दिया कि इसके अलावा अन्य पात्र सरकारी योजनाओं से भी उसे तत्काल लाभान्वित कराया जाए।


उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के कारण अनाथ हुए बच्चों के भरण-पोषण व शिक्षा-दीक्षा के प्रबंधन के लिए शुरू की गई मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना में चार हजार रुपये मासिक सहायता राशि प्राप्त करने के लिए परिवार की न्यूनतम आय को दो लाख से बढ़ाकर तीन लाख किया जाए। यही नहीं, यदि बच्चे की माता जीवित हैं तो उन्हें निराश्रित महिला पेंशन व अन्य पात्र योजनाओं से भी लाभान्वित कराया जाए। उन्होंने निर्देश दिया कि बाढ़ आने से पहले राहत संबंधी सभी तैयारियां पूरी कर ली जाएं। पीड़ितों ड्राई राशन जिस पैकेट में दें, उसकी गुणवत्ता भी अच्छी हो। आपदा से पीड़ित लोगों को 24 घंटे के भीतर स्थानीय जनप्रतिनिधियों के हाथों सहायता राशि दी जाए।


UP: योगी सरकार के मंत्री का मायावती पर हमला, कहा...

UP: योगी सरकार के मंत्री का मायावती पर हमला, कहा...

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के अयोध्या (Ayodhya) पहुंचे सूबे के श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य (Labor Minister Swami Prasad Maurya) ने बहुजन समाज पार्टी के ब्राह्मण सम्मेलन को लेकर बड़ा बयान दिया स्वामी प्रसाद मौर्य ने ब्राह्मणों की जमकर प्रशंसा की उन्होंने बोला कि जैसे-जैसे विधानसभा चुनाव (UP Assembly Election 2022) समीप आता जा रहा है, सभी पार्टियां ब्राह्मणों की जमकर प्रशंसा कर रही है उनको लुभाने के लिए सभी पार्टियां तरह-तरह के लुभावने बातें कह रही है  शनिवार को अयोध्या पहुंचे श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्या ने बोला कि दलित मायावती का साथ छोड़ चुका है बीएसपी को अब अपने दलित मतदाताओं पर भरोसा नहीं रहा

श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्या (Swami Prasad Maurya)  ने ब्राह्मणों की प्रशंसा करते हुए बोला कि ब्राह्मण सबसे अधिक इस देश का बुद्धिजीवी, पढ़ा लिखा और समझदार मतदाता है ब्राम्हण किसी के झांसे बहकावे और प्रलोभन में आने वाला नहीं है ब्राह्मण हमेशा देश की दशा और दिशा तय करता आया है

कभी बीएसपी कार्यकाल में कद्दावर मंत्री थे  स्वामी प्रसाद मौर्य

स्वामी प्रसाद मौर्य ने बोला कि ब्राह्मण सियासी  और सामाजिक स्तर पर उचित अनुचित को अच्छी तरह से समझता है यही नहीं ब्राह्मण खुद अपने विवेक से फैसला लेता है वह किसी के झुनझुना बजाने से बच्चों की तरह उसके पीछे नहीं दौड़ेगा ब्राम्हण स्वयं बहुत समझदार है कभी बीएसपी कार्यकाल के कद्दावर मंत्री रहे स्वामी प्रसाद मौर्य ने बोला कि बीएसपी का ब्राह्मण सम्मेलन फ्लॉप शो साबित होगा स्वामी प्रसाद मौर्या बहुजन समाज पार्टी  कार्यकाल में भी मंत्री रह चुके हैं श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य आज पूर्व सिंचाई मंत्री मराठी लोक दल के प्रदेश अध्यक्ष रहे स्वर्गीय मुन्ना सिंह के पांचवीं पुण्यतिथि पर आयोजित श्रद्धांजलि सभा में शामिल होने अयोध्या के सोहावल महोली गांव पहुंचे थे इस श्रद्धांजलि प्रोग्राम में प्रदेश के जल शक्ति मंत्री डाक्टर महेंद्र सिंह भी शामिल हुए

बसपा-सपा पर गरजे अठावले

यूपी में अपने पक्ष में माहौल बनाने के लिए अठावले ने 26 सितंबर से बहुजन कल्याण यात्रा भी निकाले जाने का ऐलान कर सपा, बीएसपी और कांग्रेस पार्टी के साथ ममता बनर्जी पर भी जमकर निशाना साधा है केन्द्रीय मंत्री रामदास अठावले ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात के बाद आज सीएम योगी से मुलाकात कर यूपी के मुस्लिम-दलित बहुल क्षेत्रों में बीएसपी को टक्कर देने के लिए RPI के प्रत्याशियों को भी चुनाव लड़ाने की मांग की है इस दौरान राम दास अठावले ने बीएसपी के जनाधार में लगातार कमी आने की बात कहते हुए जहां अब अपने बलबूते पर मायावती को सत्ता में न आ पाने की बात कही, तो वही सपा और कांग्रेस पार्टी द्वारा भी उत्तर प्रदेश में सरकार न बना पाने के साथ इस बार उत्तर प्रदेश में 325 की स्थान 375 सीटें आने का दावा किया