सीएम योगी वाराणसी में, परखी काशी विश्वनाथ धाम लोकार्पण की तैयारियां

सीएम योगी वाराणसी में, परखी काशी विश्वनाथ धाम लोकार्पण की तैयारियां

श्रीकाशी विश्वनाथ धाम का पीएम के हाथों लोकार्पण की तैयारियां परखने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पहुंचे बनारस। सर्किट हाउस में अफसरों के साथ कुछ देर में करेंगे बैठक। इसमें 13 दिसंबर को लोकार्पण के दौरान, उससे पहले और बाद में एक माह तक चलने वाले कार्यक्रमों की समीक्षा करेंगे। विभिन्न आयोजनों की जिम्मेदारी अलग-अलग विभागों को दी गई है। इसका प्रस्तुतिकरण किया जाएगा और सीएम की स्वीकृति के बाद इसे अंतिम रूप देते हुए सूचीबद्ध किया जाएगा। वहीं सर्किट हाउस में मुख्‍यमंत्री ने अधिकारियों संग रात में बैठक की और योजना की प्रगति के बारे में जायजा लिया।

इसके अलावा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के काशी विश्वनाथ धाम भी जाने की उम्‍मीद जताई जा रही है। विस्तारीकरण- सुंदरीकरण परियोजना के तहत लोक निर्माण विभाग द्वारा कराए जा रहे कार्य की प्रगति देखेंगे। गंगा किनारे खिड़किया घाट पुनर्विकास, दशाश्वमेध घाट में टूरिस्ट प्लाजा व बेनियाबाग में बनाई जा रही मल्टी लेवल पार्किंग का भी निरीक्षण करेंगे। इन तीनों परियोजनाओं का पीएम के काशी आगमन पर लोकार्पण प्रस्तावित है। हालांकि अभी प्रशासन का पूरा ध्यान श्रीकाशी विश्वनाथ धाम पर है, लेकिन संबंधित परियोजनाओं के निर्माण से जुड़ी कार्यदायी एजेंसियों को 10 दिसंबर से पहले कार्य पूरा कर लेने का निर्देश दिया गया है। सीएम रविवार सुबह तक वाराणसी में रहेंगे।


Makar Sankranti 2022: बाजारों में पंजाबी चिक्की, रामदाना समेत इन चीजों की बढ़ी डिमांड

Makar Sankranti 2022: बाजारों में पंजाबी चिक्की, रामदाना समेत इन चीजों की बढ़ी डिमांड

मकर संक्रांति पर्व को लेकर थोक और फुटकर बाजारों में ग्राहकों की रौनक रही। गजक, तिल के लड्डू, पंजाबी चिक्की, रामदाना समेत गुड़ और शक्कर के बने उत्पादों की अच्छी बिक्री हुई।

नया चावल और उड़द-मूंग की दाल भी खूब बिकी। हालांकि, बाजार में महंगाई की मार भी दिखी। सोशल डिस्टेंसिंग धड़ाम रही, तमाम ग्राहक मास्क तक नहीं लगाए थे। 

कानपुर नमकीन, बेकरी, गजक, पेठा एसोसिएशन के अध्यक्ष निर्मल त्रिपाठी ने बताया कि पिछले साल की तुलना में गुड़ और शक्कर के दाम बढ़े हैं। पिछले साल की तुलना में करीब 10-15 फीसदी दाम तेज हैं। गुड़ की गजक 240 रुपये किलो बिकी। गुड़ रोल और पंजाबी चिक्की का भाव 260 रुपये किलो रहा।

काले तिल का लड्डू 280 और सफेद तिल का लड्डू 260 रुपये किलो में बिका। बाजार में ग्राहकों की पसंद को देखते हुए चॉकलेट, खोवा, मेवा गजक भी हैं। इसके दाम अलग-अलग क्वालिटी के अनुसार 400 से 600 रुपये किलो तक है। महामंत्री शंकर लाल मतानी ने बताया कि बाजार में अच्छी संख्या में ग्राहक थे।

दोनों प्रकार के तिल के लड्डू, रामदाना, लइया की भी अच्छी डिमांड देखने को मिली। चावल और दाल कारोबारी सचिन त्रिवेदी ने बताया कि खिचड़ी में नया चावल ही इस्तेमाल में आता है। इसके चलते चावल और दालों की अच्छी बिक्री हुई।