जब ब्रैडमैन की ऑस्ट्रेलिया ने टेस्ट सीरीज में हिंदुस्तान को दी थी पटखनी

जब ब्रैडमैन की ऑस्ट्रेलिया ने टेस्ट सीरीज में हिंदुस्तान को दी थी पटखनी

नई दिल्ली: क्रिकेट की दुनिया में जब हिंदुस्तान  ऑस्ट्रेलिया (india vs australia) के बीच टेस्ट क्रिकेट खेली जाती है तो कुछ ऐसे बल्लेबाजी प्रदर्शन होते हैं जो कहानियां बन जाते हैं. विराट कोहली (Kohli) की कप्तानी वाली भारतीय टीम (Indian Team ) दिसंबर में चार मैचों की टेस्ट सीरीज में ऑस्ट्रेलिया (australia) से भिड़ेगी  बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी (Border-gavaskar trophy) का बचाव करने उतरेगी. यदि दोनों राष्ट्रों के बीच 1947-48 में हुई पहली टेस्ट सीरीज में खेली गई कुछ शानदार पारियों पर नजर डाले तो इस सीरीज में हालांकि लाला अमरनाथ (Lala Amarnath) की कप्तानी वाली भारतीय टीम को महान बल्लेबाज सर डॉन ब्रैडमेन (don bradman) की कप्तानी वाली ऑस्ट्रेलिया ने 4-0 से हरा दिया था.

विजय हजारे 116  145 (चौथा टेस्ट एडिलेड) :
तीसरे टेस्ट मैच में 233 रनों से करारी शिकस्त खाने के बाद हिंदुस्तान के पास मौका था कि वह बाकी के बचे दो टेस्ट मैच जीत सीरीज में पराजय को टाल दे. लेकिन ऑस्ट्रेलिया जैसी मजबूत टीम के सामने उसके घर में खेलते हुए अमरनाथ की टीम के लिए यह बस से बाहर की बात थी. एडिलेड में ऑस्ट्रेलिया ने पहली पारी में 674 रन बनाए. ब्रैडमेन ने 201  लिंडसे हासेट ने नाबाद 198 रन बनाए. हिंदुस्तान की आरंभ अच्छी नहीं रही. उसने छह रनों पर ही अपने दो विकेट खो दिए. अतिथि टीम ने वापसी करते हुए स्कोर तीन विकेट पर 127 रन कर लिया. 133 पर हालांकि हिंदुस्तान ने अपने कुल पांच विकेट खो दिए.

इसके बाद दाएं हाथ के बल्लेबाज विजय हजारे ने शानदार पारी खेली. उसने  दत्तू फाडकर ने छठे विकेट के लिए 188 रन जोड़े. फाडकर ने बेहतरीन 123 रन बनाए, लेकिन जिस बल्लेबाज ने सुर्खियां बटोरी वह थे, हजारे जिन्होंने क्लास बल्लेबाजी करते हुए 116 रन बनाए. उनकी 303 गेंदों की पारी में 14 बाउंड्रीज शामिल थीं. भारतीय टीम हालांकि 381 रन ही बना पाई  ऑस्ट्रेलिया के स्कोर से 293 से पीछे रह गई. ब्रैडमैन की टीम ने हिंदुस्तान को फॉलोऑन के लिए बुलाया.

दूसरी पारी में हिंदुस्तान की आरंभ  बेकार रही. उसने शून्य पर ही अपने दो विकेट खो दिए. इसके बाद हजारे ने शानदार पारी खेली जो ब्रैडमैन की 201 रनों की पारी पर भी भारी पड़ी. हजारे ने 372 गेंदों का सामना किया  17 बाउंड्रीज की सहायता से 145 रन बनाए. इस पारी के दम पर वह हिंदुस्तान के पहले बल्लेबाज बने, जिसने टेस्ट में दोनों पारियों में शतक जमाया हो. हिंदुस्तान दूसरी पारी में 277 रन ही बना पाई  पारी तथा 16 रनों से मैच पराजय गई.

विनोद मांकड 111 रन (पांचवां टेस्ट, मेलबर्न) :
ब्रैडमैन की टीम का दबदबा मेलबर्न में खेले गए पांचवें  अंतिम टेस्ट में भी जारी रहा. ऑस्ट्रेलिया ने अपनी पहली पारी आठ विकेट पर 573 रनों पर घोषित कर दी. नील हार्वे ने 153 रन बनाए  विलियम ब्राउन एक रन से शतक से चूक गए. स्कोरबोर्ड पर तीन रन ही थे कि हिंदुस्तान ने अपने नमस्कार ी बल्लेबाज चंदू सरवटे को खो दिया. उनके साथ पारी की आरंभ करने आए मांकड ने पारी की उत्तरदायी ी संभाली  हेमू ऑफिसर के साथ मिलकर टीम को संकट से बाहर निकाला. दूसरे विकेट के लिए इन दोनों ने 124 रन जोड़े. ऑफिसर 202 गेंदों पर 38 रन ही बना पाए.

हजारे एक बार फिर बल्लेबाजी करने उतरे  मांकड का साथ दिया, जिन्होंने सीरीज में अपना दूसरा शतक जमाया. पांच घंटे बल्लेबाजी करते हुए मांकड ने 111 रन बनाए, जिसमें केवल छह बाउंड्रीज शामिल रहीं. मांकड को सैम लैक्सटन ने आउट किया. अतिथि टीम 331 रन ही बना पाई. हिंदुस्तान को फॉलोऑन मिला. दूसरी पारी में हिंदुस्तान केवल 67 रनों पर ही आउट हो गई  पारी तथा 177 रनों से मैच पराजय गई.

डॉन ब्रैडमैन 185 रन, (पहला टेस्ट ब्रिस्बेन) :
पांच मैचों की टेस्ट सीरीज का पहला मैच ब्रिस्बेन में 28 नवंबर से चार दिसंबर के बीच खेला गया था. ब्रैडमैन ने शानदार 185 रन बनाए. वह रन बनाते चले गए  भारतीय गेंदबाज बल्लेबाजों की सहायता गार पिच पर परेशान होते रहे. उन्होंने अन्य बल्लेबाजों के साथ भी साझेदारी की  तब जब उन्हें साझेदारों का साथ नहीं मिल रहा था, उन्होंने तब भी गेंदबाजों को परेशान करना जारी रखा.

दूसरे दिन केवल एक घंटे का ही खेल खेला गया  बाकी का खेल बारिश के कारण नहीं हो पाया. ऑस्ट्रेलिया ने इस एक घंटे में एक विकेट खोकर 36 रन बनाए. तीसरे दिन भी बारिश हुई  ब्रैडमैन एक मैराथन पारी खेलने के बाद लाला अमरनाथ की गेंद पर हिट विकेट हो गए. ऑस्ट्रेलिया ने अपनी पहली पारी 382 रनों पर घोषित कर दी थी  फिर हिंदुस्तान को पहली पारी में 58 तथा दूसरी पारी में 97 रनों पर आउट कर पारी  226 रनों से मैच अपने नाम कर लिया था.

इस सीरीज पर ऑस्ट्रेलिया ने 4-0 से अतिक्रमण किया  पांच मैचों की छह पारियों में ब्रैडमैन ने 178.75 की औसत से 715 रन बनाए जो सीरीज में सबसे ज्यादा थे. सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाजों की सूची में दूसरा नाम हजारे का था, जिन्होंने 10 पारियों में 47.67 के औसत से 429 रन बनाए.


अंडरटेकर के फैंस को तगड़ा झटका: WWE यूनिवर्स से ली विदाई

अंडरटेकर के फैंस को तगड़ा झटका: WWE यूनिवर्स से ली विदाई

नई दिल्ली : रेसलिंग लेजेंड द अंडरटेकर को तो सभी लोग जानते होंगे। आपको बता दें कि इन्होंने डब्ल्यूडब्ल्यूई यूनिवर्स को अलविदा कह दिया है। आपको बता दें कि रेसलिंग के अंडरटेकर ने सर्वाइवर सीरीज के दौरान विदाई ली है। 55 साल के अंडरटेकर ने डब्ल्यूडब्ल्यूई से अलविदा ले लिया है। इन्होंने रविवार को अपनी कॉस्ट्यूम को आखरी बार पहन कर रिंग में कदम रखा।

अंडरटेकर का असली नाम
रेसलिंग के अंडरटेकर का जन्म 24 मार्च 1965 को ह्यूस्टन में हुआ था। डब्ल्यूडब्ल्यूई यूनिवर्स में अंडरटेकर ने 22 नवंबर 1990 में इस रिंग में शामिल हुए थे। आपको बता दें कि इनका असली नाम मार्क विलियम कालावे है। यह रिंग में अंडरटेकर के नाम से जाने जाते हैं।

करियर की शुरुआत
डब्ल्यूडब्ल्यूई के एनाउंसर ने रेसलिंग के द अंडरटेकर के फेयरवेल की घोषणा की। इसके बाद अंडरटेकर ने रिंग में शानदार एंट्री की। इस फेयरवेल में इन्होंने अपने करियर के बारे में बताया। उन्होंने यह भी कहा कि उनका समय आ चुका है। इसके साथ उन्होंने इस रिंग से अलविदा लिया। फैन्स ने थैंक यू टेकर कह कर विदाई दी। इस दौरान टेकर भावुक हो गए थे ।

WWE Survivor Series
अंडरटेकर ने रेसलिंग की रिंग से अलविदा कह दिया है। आपको बता दें कि अंडरटेकर के इस फेयरवेल को WWE Survivor Series पर अंतिम बार दिखाया गया है। टेकर इस दौरान भावुक हो गए। हाल ही में एक इंटरव्यू में अंडरटेकर ने कहा था कि उन्हें अपने करियर पर गर्व है। इन्होंने बताया कि इस करियर में काफी लंबा समय दिया है। आपको बता दें कि उन्होंने इस करियर में अपना 30 साल का यादगार लम्हा गुजारा है।


सलमान के बैंक एकाउंट पर चलती है पापा सलीम खान की दबंगई       पत्नी, बेटे, बहू और पोते की मर्डर कर भागा प्रॉपर्टी डीलर, पुलिस ने ऐसे किया अरेस्ट       पहले पत्नी और दो बच्चों की मर्डर की फिर किया ये काम       95 प्रतिशत से ज्यादा असरदार है रूस की स्पुतनिक वैक्सीन       कोरोना संकट के बीच पाकिस्तान में कट्टरपंथी मौलाना के जनाजे में उमड़े लाखों लोग       कोरोना के चलते आपकी खांसी को झट से दूर कर देंगे ये उपाय       स्वास्थ्य के साथ ही कामेच्छा और स्पर्म काउंट बढ़ाने में भी फायदेमंद है कटहल का सेवन       कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी में भी फायदेमंद है अखरोट       हड्डियों में दर्द की समस्या से छुटकारा दिलाता है टमाटर का सेवन, जानें       गर्भावस्था में महिलाओं नहीं करना चाहिए इस दवाई का सेवन       पती-पत्नी अपने रिश्ते को इन बातों का ध्यान रखकर बना सकते हैं मजबूत       पीएम मोदी के खिलाफ नामांकन करने वाले बीएसएफ जवान तेज बहादुर की याचिका हुई खारिज       Cyclone Nivar LIVE: पुडुचेरी में लगाई गई धारा 144       अमित शाह ने कोविड-19 पर समीक्षा मीटिंग में मुख्यमंत्रियों के लिए 3 लक्ष्य किए तय       क्या 1 दिसंबर से बंद हो जाएंगी सारी ट्रेनें? जानें       सपा सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे यासिर शाह की तबियत बिगड़ी       Vivo V20 Pro: अबतक का सबसे पतला 5G स्मार्टफ़ोन, जानें कीमत       हैकर्स ऐसे हैक कर रहे हैं WhatsApp अकाउंट, ऐसे करें बचाव       लाॅन्च होने जा रहा POCO M3 स्मार्टफोन, फीचर्स है दमदार       Micromax का शानदार स्मार्टफोन, आज से शुरू होगी बिक्री