भारतीय टीम में सिलेक्शन से दंग यह क्रिकेटर, बोले...

भारतीय टीम में सिलेक्शन से दंग यह क्रिकेटर, बोले...

नई दिल्लीबाएं हाथ के तेज गेंदबाज अर्जन नागवासवाला गुजरात के वालसाड में अपने गांव नार्गोल में उस समय बेबाक रह गए जब उन्हें पता चला कि उन्हें इंग्लैंड दौरे के लिए भारतीय टीम में उन्हें स्टैंडबाय गेंदबाज के रूप में चुना गया है. नागवासवाला ने शनिवार को नारगोल से कहा, ‘इस समाचार को सुनने के बाद मैंने सबसे पहले मां और पिताजी को फोन किया. मैं बहुत रोमांचित था. मैं सड़क पर नहीं रुक सकता था क्योंकि Covid-19 प्रोटोकॉल आपको कार से बाहर निकलने की अनुमति नहीं देता है.

23 वर्ष के नागवासवाला दिल्ली से लौट गए हैं, यहां वह आईपीएल-14 के दौरान मुंबई इंडियंस के साथ गेंदबाज के रूप में जुड़े हुए थे. उन्होंने कहा, ‘मैं थक गया था. अंत में मैं इतना थक गया था कि मैं मुश्किल से कॉल उठा सकता था और बात कर सकता था. मुझे इसकी आशा नहीं थी. हर किसी को भरोसा था कि मुझे एक दिन न एक मौका मिलेगा. मुझमें भी वह आत्मविश्वास था. (लेकिन) यह बहुत अप्रत्याशित और आश्चर्यजनक था.




नागवासवाला स्वयं को बाएं हाथ के तेज गेंदबाज मानते हैं, जिसका लाभ यह है कि उन्हें गेंद को घूमाने में सहायता मिलती है. उन्होंने कहा, ‘हो सकता है कि मैं बाएं हाथ का तेज गेंदबाज हूं. घर पहुंचने के बाद मैंने अपने माता-पिता को कसकर गले लगाया. मेरे दोस्त, जो दरवाजे पर मेरा इन्तजार कर रहे थे.’ रणजी ट्रोफी में गुजरात का अगुवाई करने वाले तेज गेंदबाज ने 16 प्रथम श्रेणी मैचों में 62 विकेट लिए हैं. इसके अतिरिक्त उन्होंने 2019-20 के रणजी ट्रोफी सीजन में आठ मैचों में 41 विकेट चटकाए हैं. गुजरात के पूर्व कोच विजय पटेल ने उन्हें स्विंग गेंदबाज बोला है.




तेज गेंदबाज ने कहा, ‘मैं एक स्विंग गेंदबाज हूं. मेरी गति 130-135 है, लेकिन मैं गेंद को स्विंग करने की प्रयास करता हूं.’ रणजी ट्रोफी में गुजरात का अगुवाई करने वाले तेज गेंदबाज ने 16 प्रथम श्रेणी मैचों में 62 विकेट लिए हैं. उन्होंने 2019-20 के रणजी ट्रोफी सीजन में आठ मैचों में 41 विकेट लिए. नागवासवाला का सपना उस समय हकीकत हो गया, जब उन्हें पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज और मुंबई इंडियंस के क्रिकेट संचालन जहीर खान के साथ कुछ सीखने को मिला.




नागवासवाला ने कहा, ‘उन्होंने गेंदबाजी के पहलू पर अधिक कुछ नहीं किया. उन्होंने बोला कि यह ठीक है. जहीर सर ने बोला कि यदि आप अच्छी तरह से ट्रेनिंग करते हैं, तो आप अपनी गेंदबाजी में अधिक फायदा देखेंगे. उन्होंने मुझे अच्छी तरह से प्रशिक्षित करने के लिए कहा. उन्होंने मुझे कुछ तकनीकी बातें भी बताईं.’ उन्होंने कहा, ‘मैं बाएं हाथ का था. यह मेरा लाभ था. हमारे जिले या यहां तक कि प्रदेश स्तर पर भी हमारे पास बहुत सारे बाएं हाथ के बल्लेबाज नहीं थे. मैं जहीर सर को देखता था और मुझे तेज गेंदबाजी में दिलचस्पी थी.


पूर्व भारतीय लेग स्पिनर लक्ष्मण शिवरामकृष्णन का खुलासा!

पूर्व भारतीय लेग स्पिनर लक्ष्मण शिवरामकृष्णन का खुलासा!

नई दिल्ली: इंग्लैंड के 27 वर्षीय गेंदबाज ओली रॉबिन्सन (ollie robinson) ने 2 जून को न्यूजीलैंड के विरूद्ध टेस्ट में अपना अंतर्राष्ट्रीय डेब्यू किया. लेकिन उनका एक पूराना विवादित ट्वीट उनके कॅरियर पर भारी पड़ा. मुद्दे के तूल पकड़ने के बाद इंग्‍लैंड एंड वेल्‍स क्रिकेट बोर्ड ने बड़ा निर्णय लेते हुए रॉबिन्सन को अंतर्राष्ट्रीय मैचों से निलंबित कर दिया. अब रंगभेद के मुद्दे पर भारतीय क्रिकेटर लक्ष्मण शिवरामकृष्णन ((Laxman Sivaramakrishnan)) ने चौंकाने वाला खुलासा किया है. जिसमें उन्होंने बताया कि कैसे उन्हें भी अपने कॅरियर में रंगभेद का सामना करना पड़ा था.

होटल में घुसने से रोक दिया था
टीम इंडिया के पूर्व लेग स्पिनर लक्ष्मण शिवरामकृष्णन (Laxman Sivaramakrishnan) ने एक मीडिया हाउस को बताया कि उन्हें अपने ही देश में मुंबई के एक होटल में घुसने से रोक दिया था. उन्हें अपने क्रिकेट कॅरियर में रंगभेद का सामना करना पड़ा था. ओली रॉबिन्सन को लेकर पूछे गए प्रश्न पर शिवरामकृष्णन ने कहा, 'मैं 16 वर्ष का था तब मेरा भातरीय टीम चयन हुआ था. मेरे पहले दौरे से पहले मुंबई के एक फाइव स्टार होटल में प्रवेश से मुझे रोक दिया गया था. होटल के एंप्लाई को लगा कि मैं 16 वर्ष का लड़का टीम इंडिया के लिए कैसे खेल सकता हूं और उसे इसलिए भी नहीं लगा होगा क्योंकि मेरा रंग काला था. उन्होंने बोला कि मुझे मेरे क्रिकेट कॅरियर में हर देश में रंगभेद का सामना करना पड़ा. मेरा अपमान किया गया.'

बुरे दौर में खेल पर पड़ता है इन चीजों का असर
शिवरामकृष्णन ने बोला कि जब तक आप अच्छा खेल रहे होते हैं तो इन चीजों का असर नहीं पड़ता है. लेकिन जब आउट ऑफ फॉर्म चल रहे होते हैं ये सब चीजें बहुत मैटर करती हैं. जब मैंने अपना अंतिम टेस्‍ट मैच खेला तब मेरी आयु 21 वर्ष की थी. ये कई चीजों का मिश्रण था. साधारण फॉर्म, आत्‍मविश्‍वास की कमी और दर्शकों द्वारा आपके साथ किया गया बेकार बर्ताव.

क्रिकेट बोर्ड्स को खिलाड़ियों से करनी चाहिए बात
भारत के पूर्व स्पिनर ने बोला कि क्रिकेट बोर्ड को रंगभेद के मामले पर अपने खिलाड़ियों से बात करनी चाहिए. उन्हें अवगत कराना चाहिए कि आपको कौनसे—कौनसे राष्ट्रों में खेलते समय रंगभेद का सामना करना पड़ सकता और इससे कैसे निटपना है. खासकर एशियाई राष्ट्रों के क्रिकेट बोर्ड्स को. पिछले वर्ष ऑस्ट्रेलिया दौरे पर जब गेंदबाज मोहम्मद सिराज के साथ ऐसी घटना हुई तो पूरी टीम इंडिया एकजुट नजर आई. यह देखकर मुझे बहुत ज्यादा अच्छा लगा.


विक्की कौशल, रणवीर सिंह या रणबीर कपूर? जानें       बुजुर्ग के साथ बदसलूकी की घटना पर स्वरा भास्कर को बोलना पड़ा भारी, ट्रोलर्स बोले...       विराट-अनुष्का के रास्ते पर बढ़े केएल राहुल और अथिया शेट्टी       पासपोर्ट रिन्यू न होने को लेकर महाराष्ट्र सरकार पर फूटा कंगना रनोट का गुस्सा       पासपोर्ट विवाद के बीच कंगना रनोट को आई फिल्म की याद, कहा...       Govinda ने पत्नी सुनीता आहूजा का खास अंदाज में मनाया 50वां जन्मदिन       Sonu Sood की बढ़ी मुश्किलें, कोरोना की दवाई को लेकर मुंबई उच्च न्यायालय ने दिए जांच के आदेश       Akshay Kumar और ट्विंकल खन्ना की शादी की 20 वर्ष बाद तस्वीरें हुईं लीक       Rakhi Sawant ने लगवाई कोरोना वैक्सीन की पहली डोजी       बेहतरीन एक्टर के साथ कामयाब बिज़नेसमैन, इतने करोड़ की संपत्ति के मालिक़ हैं डिस्को डांसर       म्यांमार के काया क्षेत्र में युद्ध विराम, संयुक्त राष्ट्र ने किया हस्तक्षेप, करीब एक लाख लोगों को पहुंचा था नुकसान       ट्रान्स अटलांटिक संबंधों के नवीनीकरण में यूरोपीय संघ के व्यापार युद्ध को समाप्त करने की हुई कोशिश       दुनियाभर में मशहूर फर्नीचर ब्रांड पर कोर्ट ने लगाया जुर्माना       अमेरिका व ईयू के बीच सालों पुराना व्यापारिक विवाद खत्म, पुतिन से मुलाकात से पहले बाइडन का पक्ष मजबूत!       मध्य नेपाल में बाढ़ के कहर से एक की मौत, कई लोगों के लापता होने की आशंका       चीन के 28 लड़ाकू विमानों ने फिर ताइवान के एयरस्पेस में भरी उड़ान       ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न में कोरोना वायरस के प्रकोप के बावजूद लोगों को शहर छोड़ने की मिली अनुमति       जरायल ने गाजा पर किए हवाई हमले, सेना ने पुष्टि कर कहा...       कैलिफोर्निया में वैक्सीन जैकपॉट, जानें दस विजेताओं को मिलेगी कितनी धनराशि       नासा के रोवर परसिवरेंस ने मार्स पर देखी धरती पर मौजूद वॉल्‍केनिक रॉक जैसी चट्टान