मथुरा के पेड़े बनाने की रेसिपी

मथुरा के पेड़े बनाने की रेसिपी

हिंदू धर्म मान्यताओं के अनुसार, भाद्रपद के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को श्रीकृष्ण का जन्म हुआ था। इस साल जन्माष्टमी का त्योहार 11-12 अगस्त यानी दो दिन मनाया जाएगा। जन्माष्टमी भगवान विष्णु के आठवें अवतार भगवान कृष्ण के जन्म की खुशी में मनाई जाती है। भगवान कृष्ण को जन्माष्टमी पर पंजीरी और पेड़े का भोग लगाया जाता है। कृष्ण भक्त इस दिन अपने आराध्य को पेड़े का भोग जरूर लगाते हैं। अगर आप सोच रहे हैं कि इस साल कोरोनावायरस की वजह से जन्माष्टमी के दिन आप अपने कान्हा को मथुरा के पेड़ों का भोग नहीं लगा पाएंगे तो आप गलत हैं। आइए जानते हैं घर पर ही रहकर आप कैसे बना सकती हैं मथुरा के स्पेशल पेड़े।


आवश्यक सामग्री-

-खोया या मावा – 250 ग्राम
-चीनी पीसी हुई – 200 ग्राम
-घी – 2 या 3 टेबल स्पून
-छोटी इलायची – 4-5 (कुटी हुई)

मथुरा के पेड़े बनाने की विधि-

मथुरा के पेड़े बनाने के लिए सबसे पहले खोये को एक चम्मच की सहायता से मसल लें। अब एक कढ़ाई को गर्म करके इसमें खोया डालें और इसे आंच कम करके लगातार तब तक चलाते रहें जबतक यह हल्का भूरा ना हो जाए। जब यह गोल्डन ब्राउन होने लगे तो इसमें 2 चम्मच घी डालकर गोल्डन भूरा होने तक भूनते रहें।

अगर खोया सूख रहा है तो इसमें 2 बड़े चम्मच मलाई वाला दूध डालकर इसे तबतक चलाएं जब तक दूध सूख न जाए। अब आंच बंद कर दें लेकिन खोये को लगातार थोड़ी देर तक चलाते रहें। ऐसा इसलिए क्योंकि कढ़ाई गर्म होने पर खोया चिपक सकता है। अब इसमें आधा चीनी का बूरा मिलाकर लपेटकर अच्छे से मिला लें। अब आप इस मिश्रण से पेडे बना सकती हैं।

पेड़ा बनाने के लिए इस मिक्सचर को थोड़ा सा हाथ में लेकर गोल आकार दें, अब इसे हथेली में लेकर हल्का सा दबाएं ताकि ये पेड़े जैसा आकार ले ले। अब इस पेड़े को इलायची पाउडर और बुरे लगी प्लेट पर रखते जाएं। आपके मथुरा के स्पेशल पेड़े बनकर तैयार हैं। जन्माष्टमी के दिन भगवान श्री कृष्ण को इन पेड़ों का भोग लगाकर उनका आशीर्वाद प्राप्त करें। 


पापमोचनी एकादशी पर विष्णु जी को प्रसन्न करने के लिए इन बातों का रखें खास ख्याल

पापमोचनी एकादशी पर विष्णु जी को प्रसन्न करने के लिए इन बातों का रखें खास ख्याल

आज पापमोचनी एकादशी है। आज का दिन भगवान विष्णु को समर्पित है। इस एकादशी का व्रत व्यक्ति पापों से मुक्ति के लिए करता है। इसलिए इसे किया जाता है पापमोचनी एकादशी कहा जाता है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, हर एकादशी व्रत का महत्व अत्याधिक होता है। हिंदू पंचांग के अनुसार, चैत्र माह के कृष्ण पक्ष में पड़ने वाली एकादशी को पापमोचनी एकादशी कहा जाता है। इस दिन जो व्यक्ति व्रत करता है उसे उसके पापों से मुक्ति प्राप्त होती है। इस दिन कुछ बातों का खास ख्याल रखा जाता है जिससे विष्णु जी बेहद प्रसन्न हो जाते हैं और व्यक्ति की सभी मनोकामनाएं पूरी करते हैं। साथ ही भगवान की कृपा भी बनी रहती है। आइए जानते हैं इन बातों को।

पापमोचनी एकादशी पर करें ये उपाय:

यह तिथि भगवान विष्णु को समर्पित है। इस दिन व्रत करना बेहद शुभ माना जाता है। पूजा के दौरान विष्णु जी के साथ-साथ माता लक्ष्मी की पूजा भी करनी चाहिए। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, अगर ऐसा किया जाए तो व्यक्ति की सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं।


इस दिन मांस-मदिरा का सेवन नहीं करना चाहिए। साथ ही सात्विक भोजन ग्रहण करना चाहिए। इस दिन चावल नहीं खाने चाहिए।

एकादशी के दिन किसी भी तरह के गलत शब्दों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। साथ ही ब्रह्मचर्य का पालन करना चाहिए।

इस दिन दान का महत्व बहुत अधिक होता है। ऐसे में इस दिन अपनी सामर्थ्यनुसार दान करना चाहिए।

एकादशी के पावन दिन भगवान विष्णु को भोग अवश्य लगाया जाना चाहिए। उनके भोग में तुलसी का इस्तेमाल जरूर करें। भोग में सात्विक चीजें ही शामिल करें।


काम के बीच 5 मिनट का ब्रेक लेकर इन स्ट्रेचिंग एक्सरसाइजेस के जरिए करें अपनी एनर्जी चार्ज       कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण से गर्भवती महिलाओं को घबराने की नहीं, सजग व सतर्क रहने की है जरूरत       लॉकडाउन के समय इन एक्सरसाइज़ से सिर्फ 7 दिनों में घटेगा वज़न!       लॉकडाउन में अवसाद से बचना है तो अपने आपको मनोरंजन में मसरूफ रखें       बदलते मौसम में सेहत के प्रति सचेत रहने के साथ ही इन जरूरी बातों का भी रखें ध्यान       ब्रेकफास्ट में सीरियल कितनी मात्रा में लेना रहेगा सेहत के लिए फायदेमंद       बार-बार हाथ धोने से हाथों की खूबसूरती कम हो गई है तो इस तरह रखें ख्याल       लॉकडाउन पीरियड का उठाएं फायदा, हेल्दी और बैलेंस डाइट के अलावा इन टिप्स के साथ करें बैली फैट कम       स्वाद के साथ सूंघने की क्षमता बंद हो जाना भी हो सकता है COVID-19 का लक्षण       ई-सिगरेट या स्मोकिंग से बढ़ सकता है कोरोना वायरस का ख़तरा       क्या टीबी वैक्सीन कर पाएगी कोरोना वायरस से बचाव?       अगर रहना चाहते हैं फिट तो डाइट में ज़रूर शामिल करें दालचीनी!       हार्वर्ड के शोधकर्ताओं का दावा, कोरोना से सूंघने की क्षमता भी होती है कम       रातों में अच्छी नींद के लिए लें जायफल, कोरोना से लड़ाई में भी मिलेगी मदद       विटामिन सी और किचन में मौजूद मसालों से बूस्ट होगा इम्यून सिस्टम       पाक को जी-20 से ऋण में राहत की उम्मीद, आर्थिक मामलों के मंत्री खुसरो बख्तियार ने दी जानकारी       दीपक हुड्डा ने 6 छक्कों के साथ ठोकी तूफानी फिफ्टी, बना दिया IPL में अद्भुत रिकॉर्ड       ये है भारत की सबसे सस्ती ABS वाली मोटरसाइकिल, देती है जबरदस्त माइलेज       भविष्य की चुनौतियों से निपटने को तैयार होगा स्वस्थ भारत, जानिए बजट में आपके स्वास्थ्य को लेकर क्या है खास       पति और बेटे की कोरोना से मौत पर महिला ने सदमे में तोड़ा दम