दिन में एक बार जरूर करें हनुमान जी के इस मन्त्र का जाप

दिन में एक बार जरूर करें हनुमान जी के इस मन्त्र का जाप

हनुमान जी कलियुग के देवता माने जाते है। उनमे अपार शक्ति होने के कारण ही उनका नाम बजरंगबली हनुमान पड़ा था। ऐसी मान्यता है कि जो भी मनुष्य सच्चे मन से हनुमान जी की उपासना करता है उसके सभी दुःख हनुमान जी के द्वारा नाश कर दिए जाते है। आज हम लाये है हनुमान जी का चमत्कारिक और सिद्ध मंत्र जिसके जाप से आप अपनी सभी परेशानियों से छुटकारा प्राप्त कर सकते है।

करें इस मन्त्र का जाप:

इस शाबर मंत्र को गुरु गोरखनाथ जी और नवनाथ द्वारा चौरासी सिद्धों ने मिलकर लिखा था जिसके प्रयोग से मनुष्य सिद्धि प्राप्त कर सकें। इस मंत्र का प्रयोग हिंदू धर्म के अलावा इस्लाम व बाकी दूसरे धर्मों में भी किया जाता हैं।

हनुमान वशीकरण मंत्र:

हनुमान जाग किलकारी, मार तू हुंकारे राम काज सँवारे
ओढ़ सिंदूर सीता मैया, का तू प्रहरी राम द्वारे मैं बुलाऊँ
तू अब आ राम गीत, तू गाता आ नहीं आये तो हनुमाना
श्री राम जी ओर सीता मैया कि दुहाई
शब्द साँचा पिंड कांचा फुरो मन्त्र ईश्वरोवाचा

# शुक्रवार को काले कपड़े पहनकर माला लेंकर हनुमान वशीकरण मंत्र को 5 माला जाप 5 दिनों तक करना चाहिए। 

# पाँचवें दिन हनुमान जी की पूजा करके इस माला को एक गढ्ढा खोद कर उस गड्ढे में डाल कर मिट्टी से ढक कर छोड़ देना चाहिए। इस मंत्र के द्वारा कुछ दिनों बाद आपकी सिद्धि पूर्ति अवश्य हो जाएगी।


हर स्त्री को करनी चाहिए इतनी बार शादी, तभी पूरा होता है उनका जीवन

हर स्त्री को करनी चाहिए इतनी बार शादी, तभी पूरा होता है उनका जीवन

आप की शादी से पहले से दुल्हन का स्वामित्व 3 लोगों को सौंपा जाता है। विवाह के समय जब पंडित आपको विवाह का मंत्र पढ़ा रहा होता है तब आप मंत्र का मतलब नहीं समझते हैं। असल में वैदिक परंपरा में नियम है कि स्त्री अपनी इच्छा से चार लोगों को पति बना सकती है। इस नियम को बनाए रखते हुए स्त्री को पतिव्रत की मर्यादा में रखने के लिए विवाह के समय ही स्त्री का संकेतिक विवाह तीन देवताओं से करा दिया जाता है।

4 पतियों से होती है स्त्री की शादी:

इसमें सबसे पहले किसी भी दूल्हन (कन्या) का पहला अधिकार चन्द्रमा को सौंपा जाता है, इसके बाद विश्वावसु नाम के गंधर्व को और तीसरे नंबर पर अग्नि को और अंत में उसके पति को सौंपा जाता है। 

इसी ही वैदिक परंपरा के कारण ही द्रौपदी एक से अधिक पतियों के साथ रही थी। और फिर अंत में आपको दुल्हन का हाथ सोप जाता है।