इस संभोग शिक्षा कि मदद से करे समस्याओ का सामना

इस संभोग शिक्षा कि मदद से करे समस्याओ का सामना

भारत सहित संसार भर में संभोग शिक्षा को लेकर लोगो को जागरूक किया जा रहा है। ये युवाओ के लिए बेहद ही ज़रूरी है। संभोग शिक्षा के आभाव के चलते युवाओ को कई संभोग समस्याओ का सामना करना पड़ता है। इसी सिलसिले में आज हम आपको संभोग जुड़े कुछ भ्रम के बारे में बताने जा रहे है। जो झूठ से ज्यादा कुछ नहीं है।

प्रेग्नेंसट के दौरान नहीं कर सकते सेक्स: महिलाओ के गर्भवती होने के बाद भी संभोग सम्बन्ध बनाये जा सकते है लेकिन एक सिमित अवधि तक। उसके बाद संभोग सम्बन्ध बनान बिलकुल भी सुरक्षित नहीं होता है।

खान-पान का सेक्‍स जीवन पर असर: जी हाँ खानपान का आपकी संभोग जीवन पर बहुत ज्यादा असर पड़ता है। इसी वजह से अपनी संभोग जीवन को बेहतर बनाये रखने के लिए संतुलित व पोष्टिक आहार लेना चाहिए।

सेक्स पॉवर बढ़ाने वाली दवाइयां: लोग धड़ल्ले से संभोग क्षमता बढ़ाने वाले मेडिसिन्स का प्रयोग करते है। ये बेड पर तो आपकी परफॉरमेंस को बढ़ा देती है। लेकिन इनके साइड इफेक्ट्स बहुत ज्यादा भयानक होते है।

शीघ्रपतन: शीघ्रपतन कोई बीमारी नहीं है। प्रीमेच्‍योर इजैकुलेशन कहते है। जो जो तनाव या असहज परिस्थितियों में भी संभोग करने से होने कि सम्भावना है।

साइज: सेक्स के दौरान पुरुष के लिंग का साइज बिलकुल मेटर नहीं करता है। याद रखे की आपकी पार्टनर की संतुष्टि केवल फोरेप्ले व आपके पैशनेट प्यार से ही पूरी होगी