गौतम बुद्ध के ये अनमोल वचन बदल देंगे आपकी जिंदगी

गौतम बुद्ध के ये अनमोल वचन बदल देंगे आपकी जिंदगी

विश्व के प्राचीनतम धर्मों में से एक बौद्ध धर्म माना गया है। इसके संस्थापक भगवान गौतम बुद्ध ने परम सत्य, निष्पक्ष होकर जीना और मानव जाति को शांति का ज्ञान कराया था। महज 35 वर्ष की उम्र में ही उन्होंने राजसी ऐशो आराम को छोड़ दिया था और आध्यात्मिक मार्ग पर अग्रसर हो गए थे। गौतम बुद्ध ने कठोर तपस्या की थी जिसके बाद उन्हें बिहार स्थित बोधि वृक्ष के नीचे मोक्ष का मार्ग मिला और यहां से ही इन्हें बोध की प्राप्ति हुई। इसके बाद वह सिद्धार्छ से सन्यासी गौतम बुद्ध कहलाए। उन्होंने कई अनमोल वचनों से मानव जाति को प्रेरित किया है। उनके द्वारा दिए गए अनमोल वचन हर व्यक्ति को ज्ञान और जागरूकता के मार्ग पर ले जाता है। वे सभी इनके वचनों से प्रेरित होते हैं। तो आइए पढ़ते हैं गौतम बुद्ध के अनमोल वचन।

अगर आप अपना मार्ग नहीं बदलेंगे तो निश्चित ही आप वहां पहुंच जाएंगे जहां आप जा रहे हैं।
बिना स्वास्थ्य के जीवन बेकार है जो केवल मौत की छवि और पीड़ा की स्थिति के समान है।
मैं यह कभी नहीं देखता की क्या किया जा चुका है। मैं हमेशा यह देखता हूं कि और क्या जाना बाकी है।
आपके विचार ही आपकी समस्या है आपका क्रोध नहीं। जैसे ही आप क्रोध के विचारों को छोड़ा देंगे तो क्रोध गायब हो जाएगा।
क्रोध को शांति से जीतो। बुराई को अच्छाई से जीतो। कंजूसी को दरियादिली से जीतो। असत्य बोलने वाले को सत्य बोलकर जीतो।
आप कितने भी पवित्र शब्द क्यों न पढ़ लें या बोल लें। जब तक इनका प्रयोग न किया जाए तब तक ये शब्द आपका कुछ भी भला नहीं कर सकते।
ध्यान के द्वारा आप ज्ञान प्राप्त करते हैं और बिना ज्ञान के आप अज्ञानी हैं। इस बात को अच्छे से जानों की क्या आपको आगे जाएगा औऱ क्या रोकेगा। केवल उस मार्ग को चुनो जो आपको बुद्धिमत्ता की और ले जाता हो।
अगर आपको मोक्ष पाना है तो आपको खुद ही मेहनत करनी होगी। आपको दूसरों पर निर्भर रहना बंद करना होगा।
अतीत पर ध्यान मत दो और ना ही भविष्य के बारे में सोचो। हमेशा अपने मन को वर्तमान क्षण पर ही केन्द्रित रखो।
हम सभी हर सुबह एक नया जन्म लेते हैं। ऐसे में हम आज क्या करेंगे ये सबसे अधिक मायने रखता है। 


पापमोचनी एकादशी पर विष्णु जी को प्रसन्न करने के लिए इन बातों का रखें खास ख्याल

पापमोचनी एकादशी पर विष्णु जी को प्रसन्न करने के लिए इन बातों का रखें खास ख्याल

आज पापमोचनी एकादशी है। आज का दिन भगवान विष्णु को समर्पित है। इस एकादशी का व्रत व्यक्ति पापों से मुक्ति के लिए करता है। इसलिए इसे किया जाता है पापमोचनी एकादशी कहा जाता है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, हर एकादशी व्रत का महत्व अत्याधिक होता है। हिंदू पंचांग के अनुसार, चैत्र माह के कृष्ण पक्ष में पड़ने वाली एकादशी को पापमोचनी एकादशी कहा जाता है। इस दिन जो व्यक्ति व्रत करता है उसे उसके पापों से मुक्ति प्राप्त होती है। इस दिन कुछ बातों का खास ख्याल रखा जाता है जिससे विष्णु जी बेहद प्रसन्न हो जाते हैं और व्यक्ति की सभी मनोकामनाएं पूरी करते हैं। साथ ही भगवान की कृपा भी बनी रहती है। आइए जानते हैं इन बातों को।

पापमोचनी एकादशी पर करें ये उपाय:

यह तिथि भगवान विष्णु को समर्पित है। इस दिन व्रत करना बेहद शुभ माना जाता है। पूजा के दौरान विष्णु जी के साथ-साथ माता लक्ष्मी की पूजा भी करनी चाहिए। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, अगर ऐसा किया जाए तो व्यक्ति की सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं।


इस दिन मांस-मदिरा का सेवन नहीं करना चाहिए। साथ ही सात्विक भोजन ग्रहण करना चाहिए। इस दिन चावल नहीं खाने चाहिए।

एकादशी के दिन किसी भी तरह के गलत शब्दों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। साथ ही ब्रह्मचर्य का पालन करना चाहिए।

इस दिन दान का महत्व बहुत अधिक होता है। ऐसे में इस दिन अपनी सामर्थ्यनुसार दान करना चाहिए।

एकादशी के पावन दिन भगवान विष्णु को भोग अवश्य लगाया जाना चाहिए। उनके भोग में तुलसी का इस्तेमाल जरूर करें। भोग में सात्विक चीजें ही शामिल करें।


काम के बीच 5 मिनट का ब्रेक लेकर इन स्ट्रेचिंग एक्सरसाइजेस के जरिए करें अपनी एनर्जी चार्ज       कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण से गर्भवती महिलाओं को घबराने की नहीं, सजग व सतर्क रहने की है जरूरत       लॉकडाउन के समय इन एक्सरसाइज़ से सिर्फ 7 दिनों में घटेगा वज़न!       लॉकडाउन में अवसाद से बचना है तो अपने आपको मनोरंजन में मसरूफ रखें       बदलते मौसम में सेहत के प्रति सचेत रहने के साथ ही इन जरूरी बातों का भी रखें ध्यान       ब्रेकफास्ट में सीरियल कितनी मात्रा में लेना रहेगा सेहत के लिए फायदेमंद       बार-बार हाथ धोने से हाथों की खूबसूरती कम हो गई है तो इस तरह रखें ख्याल       लॉकडाउन पीरियड का उठाएं फायदा, हेल्दी और बैलेंस डाइट के अलावा इन टिप्स के साथ करें बैली फैट कम       स्वाद के साथ सूंघने की क्षमता बंद हो जाना भी हो सकता है COVID-19 का लक्षण       ई-सिगरेट या स्मोकिंग से बढ़ सकता है कोरोना वायरस का ख़तरा       क्या टीबी वैक्सीन कर पाएगी कोरोना वायरस से बचाव?       अगर रहना चाहते हैं फिट तो डाइट में ज़रूर शामिल करें दालचीनी!       हार्वर्ड के शोधकर्ताओं का दावा, कोरोना से सूंघने की क्षमता भी होती है कम       रातों में अच्छी नींद के लिए लें जायफल, कोरोना से लड़ाई में भी मिलेगी मदद       विटामिन सी और किचन में मौजूद मसालों से बूस्ट होगा इम्यून सिस्टम       पाक को जी-20 से ऋण में राहत की उम्मीद, आर्थिक मामलों के मंत्री खुसरो बख्तियार ने दी जानकारी       दीपक हुड्डा ने 6 छक्कों के साथ ठोकी तूफानी फिफ्टी, बना दिया IPL में अद्भुत रिकॉर्ड       ये है भारत की सबसे सस्ती ABS वाली मोटरसाइकिल, देती है जबरदस्त माइलेज       भविष्य की चुनौतियों से निपटने को तैयार होगा स्वस्थ भारत, जानिए बजट में आपके स्वास्थ्य को लेकर क्या है खास       पति और बेटे की कोरोना से मौत पर महिला ने सदमे में तोड़ा दम