इंडियन आर्मी के 'ऑपरेशन सद्भावना' के तहत आयोजित हुआ यह भ्रमण

इंडियन आर्मी के 'ऑपरेशन सद्भावना' के तहत आयोजित हुआ यह भ्रमण

हटाने के बाद पहली बार कश्मीरी बच्चों का दल है। इंडियन आर्मी के 'ऑपरेशन सद्भावना' के तहत यह भ्रमण आयोजित हुआ है। इस दौरान कश्मीर की मच्छल घाटी के 27 विद्यार्थियों का दल शुक्रवार को जयपुर पहंचा।

इस दौरान कश्मीरी विद्यार्थियों ने जोधपुर व अजमेर के पर्यटन स्थल देखने के बाद गुलाबी नगरी जयपुर पहु्ंचे। इन विद्यार्थियों के दल को राजमंदिर में पिक्चर भी दिखाई गई। साथ ही जयपुर शहर के आमेर महल, हवामहल, अल्बर्ट हॉल, व जंतर-मंतर के अतिरिक्त शहर के कई इलाकों का भी भ्रमण करवाया गया। इस दौरान इस दल ने होटल प्रबंधन संस्थान में विद्यार्थियों से वार्ता की। माना जा रहा है कि ऑपरेशन सद्भावना का उद्देश्य कश्मीरी बच्चों को मुख्यधारा से जोड़ना है।

मुख्यधारा से जोड़ने की कोशिश
आर्मी के मेजर दीपक कविया ने बताया कि धारा 370 हटाने के बाद कश्मीर में तेजी से जनजीवन सामान्य हुआ है व अब हिंदुस्तान सरकार यह चाहती है कि यहां के युवाओं को देश के अन्य राज्यों की संस्कृति, पर्यटन स्थलों के अतिरिक्त कई अन्य जानकारियां भी दी गईं। जिससे ये बच्चे तेजी से मुख्यधारा से जुड़ कर क्षेत्र के विकास में सहयोग दे सके।

उत्साहित दिखें कश्मीरी बच्चें
राजस्थान पर्यटन के सहायक निदेशक उपेंद्र सिंह ने बताया कि इन विद्यार्थियों को राजस्थान की संस्कृति सभ्यता, स्थापत्य, उद्योग धंधे व पर्यटन स्थल की जानकारी दी गई।राजस्थान के पर्यटन स्थल के भ्रमण के दौरान कश्मीरी बच्चे बहुत ज्यादा उत्साहित दिखे।