हिंडन नदी में दो दिन तक जिस लड़की को तलाशती रही पुलिस, जानिये कैसे कर्नाटक की राजधानी में बनी वह कामाक्षी

 हिंडन नदी में दो दिन तक जिस लड़की को तलाशती रही पुलिस, जानिये कैसे कर्नाटक की राजधानी  में बनी वह कामाक्षी

सुसाइड नोट छोड़कर दिल्ली से रवाना हुई जिस लड़की कोमल को हिंडन नदी में दो दिन तक तलाशती रही वह 2000 से ज्यादा किलोमीटर दूर कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु में कामाक्षी बन गई थी. उसका इरादा अपनी पहचान छिपाकर बाकी ज़िंदगी कामाक्षी के रूप में ही बिताने का था. इसके लिए उसने तैयारी के तहत आधार कार्ड में भी अपना नाम कोमल से कामाक्षी करवा लिया था.

Image result for कोमल को हिंडन कामाक्षी,

पति को छोड़कर आश्रम में पूरा ज़िंदगी बिताना चाहती थी कोमल
कोमल से हुई पूछताछ के बाद इंदिरापुरम थाना प्रभारी निरीक्षक संदीप कुमार सिंह ने बताया कि कोमल ने ससुर व ससुराल पक्ष के लोगों पर दहेज के लिए उत्पीड़न करने का आरोप लगाया. साथ ही अभिषेक के कई युवतियों से संबंध होने के आरोप लगाए. इससे परेशान होकर कोमल ने कोयंबटूर के एक आश्रम में अपना ज़िंदगी बिताने की योजना बनाई. इसके लिए उन्होंने आधार कार्ड में अपना नाम कामाक्षी करवा लिया था.

आधार कार्ड में नाम फेक या असली? हो रही जांच
बता दें कि 5 जुलाई से ही लापता बीमा मैनेजर कोमल को गाजियाबाद पुलिस ने 8 जुलाई की रात बेंगलुरु से बरामद कर लिया. इस दौरान कोमल के पास से पुलिस को एक आधार कार्ड मिला है. इस आधार कार्ड में कोमल की ही तस्वीर लगी है, लेकिन नाम कामाक्षी है. पुलिस के मुताबिक, कोमल ने घर छोड़ने के दौरान हीअपनी पहचान छिपाने के लिए आधार कार्ड में अपना नाम बदलवा दिया था. वहीं, आधार कार्ड फर्जी है या औनलाइन उसमें नाम बदला गया है, इसकी जाँच की जा रही है.

जांच के दौरान यह बात की पता चली है कि पति की हरकतों के साथ उसके गैर स्त्रियों से संबंध को लेकर कोमल ने अपने मायके में परिजनों से बात की थी, लेकिन परिजनों ने उसे ही समझाकर शांत कर दिया. शायद इसी से हताश होकरब्रह्मकुमारी आश्रम जाकर ज़िंदगी व्यतीत करने की योजना बनाई थी.

5 जुलाई को संदिग्ध दशा में लापता हुई थी कोमल
दिल्ली के पांडव नगर में रहने वाले अभिषेक सिंह की पत्नी कोमल तालान (29) दिल्ली की एक व्यक्तिगत इंश्योरेंस कंपनी में ट्रेनिंग मैनेजर के पद पर है. परिजनों की मानें तो वह शुक्रवार को कार्यालय नहीं पहुंची तो परिजनों ने बाराखंभा रोड थाने में गुमशुदगी दर्ज करा दी. इसके बाद तलाशी के दौरान 6 जुलाई को प्रातः काल 11 बजे कोमल की कार लावारिस हालत में हिंडन बैराज के पास सड़क पर खड़ी मिली थी. कार में कोमल का बैग व एक सुसाइड नोट भी मिला था. इस सुसाइड नोट में कोमल ने अपने ससुराल वालों पर परेशान किए जाने की बात लिखी थी. इससे पुलिस ने अंदाजा लगाया था कि होने कि सम्भावना है कि हिंडन में कूदकर उसने आत्महत्या कर ली हो.

वहीं,कोमल के पिता अनिल का आरोप है कि अभिषेक का आचरण अच्छा नहीं था, वह जॉब भी नहीं करता था. कोमल के वेतन से ही अपना खर्च चलाता था. पिता अनिल ने बेटी को ससुराल नहीं भेजने की भी बात कही है.

वहीं, बीमा कंपनी में ट्रेनिंग मैनेजर कोमल तालान के पति अभिषेक को दहेज उत्पीड़न के मुद्दे में इंदिरापुरम पुलिस ने गाजियाबाद न्यायालय में पेश किया. अभिषेक को 17 जुलाई तक के लिए अंतरिम जमानत मिल गई है. 17 जुलाई को सुनवाई के दौरान उनकी जमानत पर बहस होगी. अभिषेक ने कोमल द्वारा लगाए गए आरोपों को आधारहीन करार दिया है.उनका बोलना है कि उन्हें न्याय में विश्वास है. उन्हें न्याय जरूर मिलेगा.

दिल्ली के पांडव नंगर से पांच जुलाई की प्रातः काल कोमल दफ्तर के लिए निकलीं. वह देर रात तक घर नहीं लौटीं तो परिजनों ने दिल्ली के थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई. छह जुलाई की प्रातः काल कोमल की कार इंदिरापुरम थानाक्षेत्र में हिंडन नहर रोड पर मिली. कार में दो पेज का नोट मिला, जिसमें कोमल ने लिखा था कि वह ससुराल वालों व पति से परेशान होकर सबकुछ छोड़कर जा रही हैं. हिंडन में कूदने की संभावना पर दो दिन तक तलाशी गई लेकिन कोमल का पता नहीं चला. मुद्दे में कोमल के पिता अनिल तालान ने इंदिरापुरम थाने में अभिषेक समेत पांच लोगों पर दहेज उत्पीड़न व मर्डर के लिए कोमल को गायब करने के आरोप लगाते हुए रिपोर्ट दर्ज कराई. बाद में मोबाइल लोकेशन के आधार पर सोमवार रात कोमल को इंदिरापुरम पुलिस ने बेंगलुरु से बरामद किया था.

पुलिस ने दर्ज किया बयान
इंदिरापुरम थाना प्रभारी निरीक्षक संदीप कुमार सिंह ने बताया कि बरामदगी के बाद मंगलवार रात कोमल के बयान दर्ज किए गए. कोमल ने ससुर व ससुराल पक्ष के लोगों पर दहेज के लिए उत्पीड़न करने का आरोप लगाया. साथ ही अभिषेक के कई युवतियों से संबंध होने के आरोप लगाए. इससे परेशान होकर कोमल ने कोयंबटूर के एक आश्रम में अपना ज़िंदगीबिताने की योजना बनाई. इसके लिए उन्होंने आधार कार्ड में अपना नाम कामाक्षी करवा लिया था.

नियमित जमानत के लिए डालेंगे अर्जी
इंदिरापुरम पुलिस ने बुधवार को कोमल के पति अभिषेक को मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की न्यायालय में पेश किया. अभिषेक के अधिवक्ता मनोज नागवंशी की जमानत अर्जी पर अभिषेक को 17 जुलाई तक के लिए अंतरिम जमानत प्रदान की गई है.