गुस्साए ससुर ने अपनी बहू की गला रेतकर की हत्या , थाने जाकर सेरेण्डर करते हुए कबूला अपना जुर्म

गुस्साए ससुर ने अपनी बहू की गला रेतकर की हत्या , थाने जाकर सेरेण्डर करते हुए  कबूला अपना जुर्म

दिल्ली के पहाड़गंज इलाके में बल्ब लगाने को लेकर हुए टकराव के बाद गुस्साए ससुर ने अपनी बहू की गला रेतकर मर्डर कर दी. इसके बाद खुद ही थाने जाकर सेरेण्डर करते हुए पुलिस के सामने अपना जुर्म कबूल कर लिया. पुलिस ने इस विषय में एफआईआर दर्ज कर 64 वर्षीय भगत राम को अरैस्ट कर लिया है.

Image result for हत्या

पुलिस के अनुसार, 34 वर्षीय नीरजा परिवार सहित चूना मंडी पहाड़गंज इलाके में रहती थी. घर में सास हुक्मो देवी, ससुर भगत राम व दस वर्ष का बेटा है. घरेलू कलह के कारण नीरजा का पति दर्शन पांच वर्ष से गुरुग्राम में रहता था. वह कभी-कभार ही अपने माता-पिता से मिलने आता था. इनका तलाक का मुकदमा भी चल रहा था.

अपनी ससुराल में ही रह रही नीरजा का अपने सास-ससुर से अक्सर टकराव हो जाता था. हाल ही में अधिक बिजली बिल आने पर भगत राम ने नीरजा को कम बल्ब जलाने की सलाह दी थी. इससे नाराज होकर नीरजा ने घर के सारे बल्ब ही निकाल दिए व अंधेरा रहने लगा. सोमवार रात को भगत राम ने बहू को बल्ब लगाने को कहा. इसी बात पर दोनों में टकराव हो गया. बात इतनी बढ़ गई कि बुजुर्ग ने रसोई घर में रखे चाकू से बहू का गला रेत दिया और फिर पुलिस चौकी पहुंचकर अपना जुर्म कबूल कर लिया.

पुलिस को लगा नशे में है : भगतराम ने ड्यूटी अधिकारी को बताया कि उसने अपनी बहू का कत्ल कर दिया है व अरैस्ट होने आया है. पहले तो पुलिस को लगा कि बुजुर्ग शराब या किसी अन्य नशे में यह बात कह रहा है. लेकिन कई बार बात दोहराने पर पुलिसवालों को संदेह हुआ. घटनास्थल पर जाने पर उन्हें महिला की डेड बॉडी मिली.

14 को था बेटे का जन्मदिन

नीरजा के भाई मनमोहन ने बताया कि इसी 14 जून को नीरजा ने अपने बेटे का जन्मदिन भी मनाया था. इस दौरान बड़ी संख्या में लोगों को बुलाया भी गया था. हालांकि, उसका पति इस पार्टी में नहीं आया था.

पूरे परिवार पर आरोप

नीरजा की बहन श्वेता ने इस मर्डर में सास व पति के भी शामिल होने का आरोप लगाया है. उन्होंने बोला कि नीरजा को दहेज के लिए प्रताड़ित किया जाता था.