स्मृति मंधाना व जेमिमा रोड्रिग्स बड़ा कारनामा, आप भी जाने

स्मृति मंधाना व जेमिमा रोड्रिग्स  बड़ा कारनामा, आप भी जाने

भारतीय महिला टीम ने नॉर्थ स्टैंड में खेले गए सीरीज के तीसरे व आखिरी वनडे मैच में वेस्टइंडीज को 6 विकेट से हराकर 2-1 से सीरीज भी अपने नाम कर ली। पहले बल्लेबाजी करते हुए मेजबान टीम 194 रनों पर ही सिमट गई। जवाब में टीम इंडिया (Team India) ने 47 गेंद पहले ही चार विकेट के नुकसान पर लक्ष्य हासिल कर लिया। हिंदुस्तान की यह बड़ी जीत स्मृति मंधाना (Smriti Mandhana) के नाम रहीं, जिन्होंने 63 गेंदों पर 74 रन बनाए। अपनी इस लाजवाब पारी के दम पर मंधाना ने भारतीय क्रिकेट इतिहास में एक कीर्तिमान भी स्‍थापित कर दिया।
10 अप्रैल 2013 को अहमदाबाद में इंटरनेशनल स्तर पर वनडे क्रिकेट में पदार्पण करने वाली मंधाना ने 74 रन की पारी के दम पर वनडे क्रिकेट में अपने 2000 रन भी सारे कर लिए हैं व सिर्फ 51 पारियों में उन्होंने ऐसा किया। वनडे क्रिकेट में सबसे तेज इस क्लब में शामिल होने वाली वह पहली भारतीय व संसार की तीसरी महिला क्रिकेटर बन गई हैं। उनसे पहले इस लिस्ट में बेलिंडा क्लार्क (Belinda Clark) व मेग लेनिंग (Meg Lanning) का नाम आता है। बेंलिडा ने 41 व मेग लेनिंग ने 45 गेंदों में यह कारमाना किया।

जेमिमा व मंधाना ने दिलाई टीम काे मजबूत शुरुआत
वेस्टइंडीज टीम के दिए लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम को जेमिमा रोड्रिग्स (Jemimah Rodrigues) व स्मृति मंधाना ने मजूबत आरंभ दिलाई। इस सलामी जोड़ी के बीच 141 रन की साझेदारी हुई। जेमिमा ने 69 रन बनाए। वहीं पूनम राउत ने 24, मिताली राज (Mithali Raj) ने 20 रनाें का सहयोग दिया। हरमनप्रीत कौर शून्य व दीप्ति शर्मा चार रन पर नाबाद रही। इससे पहले झूलन गोस्वामी व पूनम यादव ने दो-दो विकेट, शिखा पांडे, राजेश्वरी गायकवाड़ व दीप्ति शर्मा ने एक-एक विकेट लेकर वेस्टइंडीज को कठिन में डाल दिया था। स्मृति ने अपनी पारी में नौ चौके व तीन छक्के लगाए।


टेलर ने खेली कप्तानी पारी
इससे पहले लड़खड़ाती पारी को संभालते हुए कैप्टन स्टेफनी टेलर (Stafanie Taylor) ने वेस्टइंडीज की ओर से सर्वाधिक 79 रन की पारी खेली, लेकिन दूसरे छोर पर मजबूत साथ न मिलने के कारण कैप्टन भी अपनी टीम को सम्माजनक स्कोर तक नहीं पहुंचा पाई। टेलर (Stafanie Taylor) के अतिरिक्त वेस्टइंडीज की ओर से स्टेची किंग ने 38 व नाइट ने 16 रन बनाए। इनके अतिरिक्त कोई व बल्लेबाज दहाई का आंकड़ा छू तक नहीं पाया।