भारतीय रिजर्व बैंक इस तरह से करेगा पीएमसी बैंक घोटाले की जांच, जाने

भारतीय रिजर्व बैंक इस तरह से करेगा पीएमसी बैंक घोटाले की जांच, जाने

रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने बृहस्पतिवार को बोला कि घोटाले से जूझ रहे पंजाब एंड महाराष्ट्र बैंक (पीएमसी) की स्थिति पर लगातार नजर बनाए हुए हैं. उन्होंने बोला कि मुद्दे का फॉरेंसिक ऑडिट किया जा रहा है. पीएमसी बैंक देश के 10 प्रमुख शहरी सहकारी बैंकों में शामिल है. Image result for पीएमसी बैंक

दरअसल, फंसे लोन की जानकारी होने के बाद भारतीय रिजर्व बैंक ने 23 सितंबर को पीएमसी बैंक पर निकासी सहित कई पाबंदियां लगा दी थीं. वित्तीय स्थिरता एवं विकास परिषद (एफएसडीसी) की मीटिंग के बाद गवर्नर शक्तिकांत दास ने बोला कि बैंक से जुड़े मुद्दे की ऑडिट चल रही है, जल्द ही अनियमितता का खुलासा होने की उम्मीद है.

इससे पहले बैंक में 4,335 करोड़ रुपये की अनियमितता सामने आई थी. कड़े प्रतिबंधों के बाद रिजर्व बैंक ने मंगलवार को बैंक के ग्राहकों को बड़ी राहत देते हुए खाते से 50,000 रुपये निकालने की छूट दे दी है. भारतीय रिजर्व बैंक ने चौथी बार बैंक से धन निकासी सीमा को बढ़ाया है.

वित्त मंत्री गवर्नर के साथ की आर्थिक समीक्षा

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बृहस्पतिवार को भारतीय रिजर्व बैंक गवर्नर शक्तिकांत दास और अन्य अधिकारियों के साथ आर्थिक स्थितियों की समीक्षा मीटिंग की. वित्त मंत्री की अध्यक्षता में वित्तीय स्थिरता एवं विकास परिषद की 21वीं मीटिंग के दौरान वित्तीय क्षेत्र में जारी संकट पर चर्चा की गई.

इस दौरान गिरती विकास दर व सूक्ष्मआर्थिक आंकड़ों की स्थितियों पर भी मंथन हुआ. मीटिंग के बाद गवर्नर ने बोला कि कुछ अंतर नियामकीय मामले हैं जिन पर वार्ता हुई है. साइबर सुरक्षा को लेकर भी मंथन किया गया है. उन्होंने बोला कि एनबीएफसी की मौजूदा स्थितियों पर चर्चा की गई है. देश में अभी कई एनबीएफसी हैं जो बेहतर वित्तीय स्थिति में हैं व उन्हें विदेश सहित बैंकों से भी फंडिंग मिल रही है.