पलानीसामी ने बुधवार को ट्वीट करते हुए कहा- इसे बनाए विकल्प होगी एक बड़ी सेवा

पलानीसामी ने बुधवार को ट्वीट करते हुए कहा- इसे बनाए विकल्प होगी एक बड़ी सेवा

नई एजुकेशन नीति के मसौदे के तहत त्रिभाषा फॉर्मूला में हिन्दी को उसका भाग बनाए जाने पर उठे विवादों के बीच तमिलनाडु के सीएम ईके पलानीसामी ने बुधवार को पीएम नरेन्द्र मोदी से अपील करते हुए बोला कि सारे हिंदुस्तान के पाठ्यक्रम में तमिल को भी विकल्प की भाषा बनाएं.

उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा- “आदरणीय पीएम नरेन्द्र मोदी जी से यह अनुरोध करते हैं कि वे अन्य राज्यों में पढ़ाई के लिए तमिल को विकल्प की भाषा बनाएं.यह संसार की सबसे प्राचीन भाषा की बड़ी सेवा होगी.”

पलानीसामी का यह ट्वीट ऐसे वक्त पर आया है जब केंद्र पर नयी एजुकेशन नीति के मसौदे में परिवर्तन करने का भारी दबाव डाला गया था. नयी एजुकेशननीति में यह सिफारिश की गई थी कि सभी गैर हिन्दी भाषी राज्यों के स्कूलों में हिंदी का जरूरी बनाया जाए व बिना हिन्दी का नाम लिए त्रिभाषा फॉर्मूला का सुझाव दिया गया था.