अयोध्या मुद्दे में अगले हफ्ते सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने से पहले सुरक्षा को लेकर यूपी में किये गए यह बड़े इंतजाम, जाने

अयोध्या मुद्दे में अगले हफ्ते सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने से पहले सुरक्षा को लेकर यूपी में किये गए यह बड़े इंतजाम, जाने

1.

अयोध्या मुद्दे में अगले हफ्ते सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने से पहले सुरक्षा तैयारियों के तहत केन्द्र ने अर्द्धसैनिक बलों के करीब 4,000 जवानों को यूपी भेजा है.Image result for अयोध्या फैसला

2.

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने गुरुवार को बोला कि महाराष्ट्र में सरकार बनाने पर जल्द निर्णय लिया जाएगा. चूंकि बीजेपी ने शिवसेना से ज्यादा सीटें जीती हैं, इसलिए सीएम उन्हीं की पार्टी का होगा व देवेंद्र फडणवीस नयी सरकार का नेतृत्व करेंगे.

3.

भारतीय गृह मंत्रालय ने महत्वपूर्ण सूचनाएं छिपाने के कारण लेखक व पत्रकार आतिश तासीर का ओसीआई (ओवरसीज सिटीजनशिप ऑफ इंडिया ) स्टेटस खत्म कर दिया है.

4.

रोहित शर्मा ने बांग्लादेश के विरूद्ध राजकोट टी20 मैच में 85 रनों की पारी के दौरान छह छक्के लगाए. इसके साथ ही रोहित शर्मा इस कैलेंडर इयर में सबसे ज्यादा छक्के लगाने वाले बल्लेबाज बन गए हैं.

5.

झारखंड विधानसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी व झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) के बीच सीट बंटवारे की वार्ता अंतिम दौर में है तथा शुक्रवार को इस बारे में घोषणा किए जाने की आसार है.

6.

सार्वजनिक क्षेत्र की दूरसंचार कंपनी भारत संचार निगम लिमिटेड ( भारत संचार निगम लिमिटेड ) के कर्मचारियों ने स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति योजना (वीआरआस) को हाथों हाथ लिया है. योजना घोषित होने के केवल दो दिन में ही 22,000 कर्मचारियों ने वीआरएस के लिए आवेदन कर दिया है.

7.

तेलंगाना में जमीन टकराव मुद्दे में महिला तहसीलदार को उसी के ऑफिस में कथिततौर पर जिंदा जलाने वाले आदमी की एक अस्पताल में गुरुवार को मृत्यु हो गई.

8.

केंद्र सरकार मनरेगा के तहत अब मशीनों के प्रयोग की भी अनुमति दे सकती है. अगर ऐसा हुआ तो इस महत्वाकांक्षी रोजगार योजना में यह पहली बड़ी छूट होगी.

9.

पाकिस्तान में मौलाना फजलुर्रहमान के नेतृत्व में विपक्षी नेताओं ने गुरुवार को पीएम इमरान खान को त्याग पत्र देने के लिए 48 घंटे की समय सीमा दी व बोला है कि दो दिन बाद सरकार विरोधी व्यापक प्रदर्शन नया रूप लेगा.

10.

चीन अपनी सेना को अत्याधुनिक तकनीक से सुसज्जित करने के लिए जाना जाता है. इसके लिए चाइना की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) लगातार कई योजनाओं पर कार्य कर रही है.