कपिल शर्मा के साथ मिलकर शक्ति कपूर ने मचाया जमकर धमाल, साली साहिबा को देखते ही सुनाई ऐसी शायरी

 कपिल शर्मा के साथ मिलकर शक्ति कपूर ने मचाया जमकर धमाल,  साली साहिबा को देखते ही सुनाई ऐसी शायरी

बॉलीवुड के महान एक्टर शक्ति कपूर के मसखरे अंदाज से तो सभी परिचित हैं। फिल्मों में उनका ये अवतार अक्सर देखने को मिलता है लेकिन हाल ही में शक्ति कपूर ने कपिल शर्मा के साथ जमकर धमाल मचाया। शक्ति कपूर ने इस सप्ताह 'द कपिल शर्मा शो' में एंट्री ली। खास बात ये है कि शक्ति कपूर के साथ उनकी रियल जीवन साली सहिबा पद्मिनी कोल्हापुरी भी इस शो पर पहुंची थी। अब आप अंदाजा लगा ही सकते हैं कि शो पर क्या नजारा रहा होगा। जहां एक तरफ शक्ति कपूर ने खूब मस्ती मजाक किया वहीं दूसरी तरफ पद्मिनी कोल्हापुरी ने कई दिलचस्प खुलासे किए।

Image result for कपिल शर्मा शो , शक्ति कपूर , ]\

शक्ति कपूर ने इस शो में अपने फिल्मी सफर व स्ट्रगल की कहानी सुनाई। वहीं पद्मिनी कोल्हापुरी ने बताया कि उन्होंने 7 वर्ष की आयु में बॉलीवुड में कदम रखा था। उन्होंने ये भी खुलासा किया कि वो एक्ट्रेस नहीं बल्कि प्लेबैक सिंगर बनना चाहती थीं। उनकी दादी के कहने पर वो एक्ट्रेस बनीं। उन्हें देव आनंद ने पहली बार 'इश्क इश्क इश्क' में कास्ट किया था।पद्मिनी ने इस दौरान कपिल शर्मा के कहने पर अपनी आवाज में गाने भी सुनाए।

वहीं तभी शक्ति कपूर ने धमाकेदार एंट्री मारी जैसे ही उन्होंने अपनी साली साहिबा पद्मिनी को देखा वैसे ही उन्होंने शानदार शायरी सुना डाली। उन्होंने बोला 'बिना देखे तेरी तस्वीर बना सकता हूं। । बिना मिले तेरा हाल बता सकता हूं। । अरे मेरी मोहब्बत में इतनी ताकत है कि तेरी आंख के आंसू, अपनी आंख से निकाल सकता हूं। ' शक्ति कपूर की शायरी सुनकर पद्मिनी हंस पड़ीं व उन्होंने तपाक से बोला 'ऐसी शायरी सुनाकर ही इन्होंने मेरी बहन को फंसा लिया था'।

मालूम हो कि शक्ति कपूर ने अभिनेत्री पद्मिनी कोल्हापुरी की बहन शिवांगी से विवाह की है। इस शो के दौरान शक्ति कपूर ने अपनी लव स्टोरी भी सुनाई। शक्ति कपूर ने बताया कि उन्होंने फिल्म 'किस्मत' की शूटिंग के दौरान शिवांगी को देखा था। वो पहली नजर में शक्ति कपूर को बेहद खूबसूरत लगी थीं। शक्ति कपूर ने बताया 'मैंने उसे थोड़ी लाइन मारी व चला गया लेकिन मैंने कसम खाई कि विवाह करूंगा तो इस मराठन के साथ ही करूंगा। फिर हमने परिवार को बताए बिना विवाह कर ली। हालांकि बाद में घरवाले भी मान गए'।