भारत-पाक के बीच अहम वार्ता के बीच पाक ने फिर से हिंदुस्तान को दिया ये बड़ा धोखा

भारत-पाक के बीच अहम वार्ता के बीच पाक ने फिर से हिंदुस्तान को दिया ये बड़ा धोखा

करतारपुर कॉरिडोर को लेकर मतभेदों को दूर करने के लिए रविवार को भारत-पाकिस्तान के बीच दूसरे दौर की मीटिंग हुई. जहां एक ओर करतारपुर कॉरिडोर को लेकर भारत-पाक के बीच अहम वार्ता हुई, वहीं दूसरी व पाक ? ने फिर से हिंदुस्तान को धोखा देने का कार्य किया है.

Image result for करतारपुर कॉरिडोर, भारत-पाक मीटिंग , गोपाल सिंह चावला,

दरअसल, हिंदुस्तान की आपत्तियों के बाद खालिस्तानी सिख नेता गोपाल सिंह चावला को पाक सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी ( PSGPC ) के सचिव पद से हटा दिया गया था.हालांकि अब एक बड़ी समाचार सामने आई है कि चावला PSGPC नियंत्रित एवेक्यू ट्रस्ट प्रॉपर्टी बोर्ड ( ETPB ) के मेम्बर बने रहेंगे. चावला ETP में एक गैर-सरकारी मेम्बर के तौर पर काम करता रहेगा.

सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के मुताबिक, चावला अभी भी मूल निकाय के मेम्बर के रूप में PSGPC के कामकाज में हस्तक्षेप कर सकता है.

SGPC PC ने नगर कीर्तन में शामिल होने के लिए पीएम इमरान खान को भेजा निमंत्रण

बता दें कि खालिस्तानी नेता चावला 12 जुलाई को गुजरांवाला में ETPB मेम्बर के रूप में भी उपस्थित था, जब गुरुद्वारा खारा साहिब को छठे सिख गुरु हरगोबिंद साहिब को समर्पित किया गया था. इसे 72 वर्ष की अवधि के बाद पहली बार खोला गया था.

12 जुलाई को चावला को PSGPC से हटाया गया था

भारत द्वारा सिख संगठन से खालिस्तानी तत्वों को हटाने के लिए पाक पर लगातार दबाव बनाने के बाद गोपाल सिंह चावला को PSGPC के सचिव पद से हटा दिया गया था. हालांकि, अभी भी PSGPC में खालिस्तानी तत्व उपस्थित हैं.

10 जुलाई को हुई बोर्ड बैठक में एवेक्यू ट्रस्ट प्रॉपर्टी बोर्ड के अध्यक्ष डाक्टर धनी अहमद ने गोपाल सिंह चावला के विरूद्ध कार्रवाई के इशारा दिए थे.

सबसे बड़ी बात कि 12 जुलाई की मीटिंग के दो दिन बाद, जबकि गुरुद्वारा खार साहिब खोलने के लिए गोपाल सिंह चावला गुजरांवाला में उपस्थित थे, ETPB का कोई भी ऑफिसरउपस्थित नहीं था.

( SGPC ) के मुख्य सचिव डाक्टर रूप सिंह व PSGPC के बीच हुई किसी भी मीटिंग में चावला को भाग लेने की अनुमति नहीं थी, जो एक प्रतिनिधिमंडल के साथ थे.