हिंदुस्तान सरकार तैयार कर रही है व्हाट्सएप जैसा ही ये ऐप सरकारी एजेंसियों के बीच कंम्यूनिकेशन के लिये हो सकेगा प्रयोग

हिंदुस्तान सरकार तैयार कर रही है व्हाट्सएप जैसा ही ये ऐप सरकारी एजेंसियों के बीच कंम्यूनिकेशन के लिये हो सकेगा प्रयोग

यदि आपको भी फेसबुक के स्वामित्व वाले व्हाट्सएप एप से शिकायत है तो आपके लिए अच्छी खबर है. हिंदुस्तान सरकार व्हाट्सएप जैसा ही एक एप तैयार कर रही है. इस एप का प्रयोग सरकारी एजेंसियों के बीच कंम्यूनिकेशन के लिए होगा. इकोनॉमिक्स टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक सरकार के एक वरिष्ठ ऑफिसर ने इसकी जानकारी दी है.

Image result for व्हाट्सएप एप से शिकायत, मोदी सरकार, लांच,

ऑफिसर ने एक वार्ता में कहा, 'सुरक्षा के लिहाज से हमारे पास ई-मेल व मैसेजिंग का सिस्टम होना चाहिए जो विदेशी कंपनियों पर निर्भर ना हो. कम-से-कम सरकारी संचार के लिए ऐसे सिस्टम की तत्काल की आवश्यकता है.'

उन्होंने आगे बोला कि इस बात को लेकर चर्चा हो रही है कि हमारे पास ऑधिकारिक संचार के लिए एक सुरक्षित व स्वदेशी रूप से विकसित एक नेटवर्क होना चाहिए. व्हाट्सएप जैसे ही किसी सरकारी एप बनाने की बात चल रही है.

दरअसल सरकार यह सोच रही है कि जिस एप पर सरकारी वार्ता हो उसका डाटा पूरी तरह से हिंदुस्तान में ही स्टोर हो. ऑफिसर ने आगे बताया कि आरंभ में इस तरह के एप का प्रयोगसरकारी संचार के लिए होगा व पास होने पर आगे इसे आम आदमी के लिए पेश किया जाएगा.

बताते चलें कि सरकार के इस प्लान की समाचार तब सामने आई है जब हाल ही में जासूसी के आरोप में हुवावे को अमेरिका में ब्लैक लिस्ट में डाला गया है. साथ ही गूगल, इंटेल वक्वॉलकॉम जैसी कंपनियों ने हुवावे को सपोर्ट देना बंद कर दिया है.