मेराबा के उम्दा खेल के बावजूद हिंदुस्तान को क्वार्टरफाइनल में करना पड़ा पराजय का सामना

मेराबा के उम्दा खेल के बावजूद हिंदुस्तान को क्वार्टरफाइनल में करना पड़ा पराजय का सामना

सनाम मेराबा के उम्दा खेल के बावजूद हिंदुस्तान को बैडमिंटन एशिया जूनियर चैम्पियनशिप की मिश्रित टीम स्पर्धा के क्वार्टरफाइनल में इंडोनेशिया के विरूद्ध पराजय का सामना करना पड़ा. चाइना के सुजोऊ में खेली जा रही प्रतियोगिता की मिश्रित टीम स्पर्धा में भारतीय टीम इंडोनेशिया से 0-3 से हारकर टूर्नामेंट से बाहर हो गई.

Image result for बैडमिंटन

दुनिया जूनियर रैंकिंग में शीर्ष 20 में शामिल दो खिलाड़ियों के बीच हुई भिड़ंत में 14वें जगह पर काबिज मेराबा पर 17वीं रैंकिंग वाले बॉबी सेतियबुदी भारी पड़े. सेतियबुदी ने 59 मिनट तक चले इस मुकाबले को 21-17, 15-21, 21-11 से अपने नाम किया.

टूर्नामेंट में इस पराजय से पहले शानदार प्रदर्शन करने वाले मेराबा के अतिरिक्त हालांकि कोई व भारतीय खिलाड़ी इंडोनेशिया को चुनौती नहीं पेश कर सका. लड़कियों के एकल में मालविका बंसोद दुनिया रैंकिंग में चौथे जगह पर काबिज पुत्रि कुसुमा वर्दानी से 20-22, 7-21 से पराजय गयी.

तनीशा क्रास्टो व सतीश कुमार करुणाकरण की मिश्रित युगल जोड़ी को लियो रोली कार्नांडो व इंदा कहया सारि जमील की जोड़ी ने हराया. भारतीय खिलाड़ी अब पर्सनल स्पर्धा पर ध्यान देंगे जो बुधवार से प्रारम्भ होगी.

मेराबा के सामने लड़कों के एकल वर्ग में स्वर्ण पदक हिंदुस्तान के पास बरकरार रखने की चुनौती होगी जिसे पिछले वर्ष लक्ष्य सेन ने जीता था. लक्ष्य ने इस पदक से हिंदुस्तान के 54 वर्ष के सूखे को समाप्त किया था.