अपराधियों के चंगुल में फंसा क्रिकेट अंपायर, हुई मौत

अपराधियों के चंगुल में फंसा क्रिकेट अंपायर, हुई मौत

क्रिकेट के अंपायर की मृत्यु कैसे हुई इस बात का निर्धारण अब उनकी ऑटोप्सी रिपोर्ट से किया जाएगा. इस अंपायर की मौत तब हुई जब वह अपराधियों के चंगुल में फंस गए व उन्हें लूटा जा रहा था. कार्लटन बेस्ट नाम के इस अंपायर का मृतक शरीर 7 अगस्त को अरैंजयूज सर्कुलर के पास पाया गया था.

Image result for क्रिकेट अंपायर कार्लटन बेस्ट

पुलिस को जानकारी दी गई थी कि उन्हें उनके ही वाहन से बाहर फेंक दिया गया था. बेस्ट को 6 अगस्त की रात में 8 बजे अंतिम बार सैन्ग्रे ग्रैन्डे में जीवित देखा गया था. तब वह अपनी सिल्वर कलर की कार चला रहे थे. उनकी कार को पुलिस अभी तक बरामद नहीं कर सकी है.

खुफिया जानकारी व एक प्रत्यक्षदर्शी महिला के बयान के अनुसार बेस्ट की कार में सवार यात्री जब उन्हें लूटने की प्रयास कर रहा था, तभी बेस्ट की मृत्यु हो गई. प्रत्यक्षदर्शी महिला भी बेस्ट की टैक्सी में ही सवारी कर रही थी. महिला को आर्थर लोक जैक ग्रैजुएट स्कूल व बिजनेस के समीप छोड़ा गया था. इसी महिला ने क्रिकेट अंपायर के साथ हुई वारदात की जानकारी सेंट जोसेफ पुलिस स्टेशन में दी थी. घटना की जाँच बारातरिया पुलिस स्टेशन के पुलिस ऑफिसर कर रहे हैं.

माध्यमिक स्कूलों की क्रिकेट लीग (The Secondary Schools’ Cricket League) ने मृतक अंपायर बेस्ट के परिजनों व मित्रों से संवेदना प्रकट की. स्कूल ने बेस्ट को क्रिकेट का बेहतरीन अंपायर बताया.

लीग के सचिव निगेल मारज ने एक बयान में कहा: "मिस्टर बेस्ट को उनके मिलनसार व्यक्तित्व व क्रिकेट में अंपायरिंग के क्षेत्र में किए गए सहयोग के लिए निश्चित रूप से याद किया जाएगा. वह एक उत्कृष्ट अंपायर थे व माध्यमिक स्कूलों की क्रिकेट लीग के मैचों में अंपायरिंग के माध्यम से उन्होंने क्रिकेट की जो सेवा की, उसे कभी भुलाया नहीं जा सकेगा.एसएससीएल अंपायर कार्लटन बेस्ट के प्रति सम्मान प्रकट करती है. क्रिकेट के प्रति उनके अटूट प्रेम व सरेंडर के लिए उन्हें हमेशा याद किया जाएगा.