फतेहवीर सिंह की मृत्यु के बाद किरकिरी होते देख सीएम ने दिए बोरवेल को बंद करने के आदेश

फतेहवीर सिंह की मृत्यु के बाद किरकिरी होते देख सीएम ने दिए बोरवेल को बंद करने के आदेश

दो वर्ष के मासूम फतेहवीर सिंह की मृत्यु के बाद पंजाब सरकार जागी व प्रदेश भर में बने 45 बोरवेल बंद करा दिए गए. इसकी जानकारी पंजाब सीएमओ की तरफ से दी गई है.जानकारी दी गई है कि संगरूर के भगवानपुरा में बोरवेल में फंसने से दो वर्ष के बच्चे की मृत्यु हो गई. 109 घंटों तक बच्चा फंसा रहा व उसकी जान चली गई. उसे बचाने के हर संभव कोशिश किए गए, लेकिन ऑपरेशन नाकाम हो गया.

इससे खफा लोगों ने सरकार के विरूद्ध विरोध प्रदर्शन प्रारम्भ कर दिया. लोग भड़के हुए हैं. उनका बोलना है कि सीएम खुद मौके पर नहीं पहुंचे. प्रशासनिक अमले ने भी लापरवाही बरती.न आधुनिक मशीनें मंगवाई गई व न ही विशेषज्ञों की टीम. सारे ऑपरेशन के दौरान अनुभवहीनता दिखाई दी. जब सब कोशिशें नाकाम हो गईं तो गुरिंदर सिंह ने फतेहवीर के मृत शरीरको बोरवेल से बाहर निकाला.

किरकिरी होते देख सीएम ने दिए बोरवेल को बंद करने के आदेश

फतेहवीर की मृत्यु पर गहरा दुख जताते हुए पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने प्रदेश भर में खुले पड़े सभी बोरवेलों को बंद करने के आदेश दिए. सीएम ने मुख्य सचिव के नेतृत्व वाले आपदा प्रबंधन ग्रुप को ऐसी घटनाओं से बचने व रोकने के लिए एसपीओ (स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर) को अंतिम रूप देने के लिए भी बोला है.

सीएम ने प्रदेश भर में खुले पड़े बोरवेल की जानकारी डिप्टी कमिश्नरों से मांगी व इस तरह की घटना से बचने के लिए तुरंत कदम उठाए जाने के आदेश दिए. सीएम ने मुख्य सचिव को प्राकृतिक आपदा से निपटने के लिए गठित किए ग्रुप को राहत कामों में किसी भी तरह की कमी का अध्ययन करने व भविष्य में इस तरह के किसी भी मुद्दे में तेजी से कार्रवाई के लिए अपनी सिफारिशें देने को बोला है.