अमेरिका हिंदुस्तान की रक्षा जरूरत को आधुनिक प्रौद्योगियों के लिए सहायता करने के लिए तैयार: ट्रंप प्रशासन

अमेरिका हिंदुस्तान की रक्षा जरूरत को आधुनिक प्रौद्योगियों के लिए सहायता करने के लिए तैयार: ट्रंप प्रशासन

ट्रंप प्रशासन ने बोला है कि अमेरिका हिंदुस्तान की रक्षा जरूरत को आधुनिक प्रौद्योगियों व साजो सामान के साथ पूरा करने में सहायता करने के लिए तैयार है। इसी के साथ उसने चेताया है कि हिंदुस्तान का रूस से लंबी दूरी का ‘एस-400 मिसाइल रक्षा तंत्र’ खरीदने से योगदान पर असर पड़ सकता है। ट्रंप प्रशासन का यह बयान अमेरिकी विदेश मंत्रालय के एक शीर्ष ऑफिसर द्वारा कुछ सप्ताह पहले दी गई ऐसी ही एक चेतावनी के बाद आया है।

Image result for ट्रंप प्रशासन, Trump administration, अमेरिका हिंदुस्तान की रक्षा के लिए तैयार,  America is ready to protect India

उल्लेखनीय है कि ऑफिसर ने बोला था कि हिंदुस्तान के रूस से मिसाइल तंत्र खरीद के भारत-अमेरिका रक्षा संबंध पर ‘गंभीर-निहितार्थ’ होंगे। बताते चलें कि ‘एस-400’ रूस का सबसे आधुनिक जमीन से हवा तक लंबी दूरी वाला मिसाइल रक्षा तंत्र है। चाइना 2014 में इस तंत्र की खरीद के लिए सरकार से सरकार के बीच अनुबंध करने वाला पहला देश बन गया था।

पीएम मोदी व रूस के राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन के बीच गत साल अक्टूबर में अनेक मुद्दों पर विचार विमर्श के बाद हिंदुस्तान व रूस के बीच पांच अरब डॉलर में ‘एस-400’ हवाई रक्षा तंत्र खरीद करार पर हस्ताक्षर किए गए थे। विदेश मंत्रालय की विशेष ऑफिसर एलिस जी वेल्स ने एशिया, प्रशांत एवं परमाणु अप्रसार के लिए विदेश मामलों में सदन की उपसमिति को जानकारी देते हुए बताया कि अमेरिका अब किसी अन्य देश के मुकाबले हिंदुस्तान के साथ सबसे ज्यादा सैन्य एक्सरसाइज करता है।