दुनियाभर में फैली दहशत, कोरोना महामारी पर WHO ने दी चेतावनी

दुनियाभर में फैली दहशत, कोरोना महामारी पर WHO ने दी चेतावनी

नई दिल्ली: कोरोना वायरस एक बार फिर दुनियाभर में तेजी से फैलने लगा है। पूरी दुनिया में बीते 24 घंटे में तीन लाख से अधिक नए मामले सामने आए हैं। अब संक्रमितों की संख्या बढ़कर 11 करोड़ 70 लाख से भी ज्यादा हो गई है। अमेरिका की जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के आंकड़ों में बताया गया है कि पूरी दुनिया में अब तक 26 लाख से अधिक लोग इस महामारी से जान गंवा चुके हैं।

अब इस बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने चेतावनी दी। डब्ल्यूएचओ का कहना है कि अभी कोरोना की तीसरी या चौथी लहर आ सकती है। इसलिए दुनियाभर के सभी देशों को कोरोना के संक्रमण को फैलने से रोकने की कोशिशों जारी रखनी चाहिए और इसमें बिल्कुल भी कमी ना करें।

यह समझना सबसे बड़ी भूल होगी कि कोरोना वायरस खत्म हो चुका है
एक मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि डब्ल्यूएचओ के प्रमुख टेड्रोस अधानोम ने कहा कि हम यह मानते हैं कि लोग कोरोना से जुड़े प्रतिबंधों का पालन करते-करते थक चुके हैं। उन्होंने कहा कि लेकिन यह समझना हमारी सबसे बड़ी भूल होगी कि कोरोना वायरस खत्म हो चुका है। कोरोना की गिरती मृत्यु दर का हवाला देते हुए उन्होंने यह बयान दिया है।

टेड्रोस अधानोम ने ब्राजील में बिगड़ते हालात पर चिंता जताई है। वहां के राष्ट्रपति जेयर बोल्सोनारो ने कोरोना से जुड़े प्रतिबंधों को गैर-जरूरी बताया है। टेड्रोस अधानोम का कहना है कि एक तरफ जहां दुनिया के अधिकांश देशों में संक्रमण के मामले लगातार घट रहे हैं, तो वहीं ब्राजील की स्थिति में कोई सुधार होता नहीं दिख रहा है। उन्होंने कहा कि ब्राजील की सरकार को इसे गंभीरता से लेना चाहिए।

वायरस के म्यूटेशन का मूलकेंद्र बन सकता है ब्राजील
पिछले साल के अंत में ब्राजील में कोरोना का नया वेरिएंट पाया गया था। यह शुरुआती वायरस से ज्यादा तेजी से फैलता है। विशेषज्ञों ने चेताया है कि अगर ब्राजील संक्रमण को नियंत्रित नहीं कर पाता है तो यह वायरस के म्यूटेशन का मूलकेंद्र बन सकता है, जिससे हालात और खराब हो जाएंगे।

दूसरी तरफ देश में वैक्सीनेशन अभियान की रफ्तार बढ़ाने की कोशिश की जा रही है। स्वास्थ्य मंत्री ने हाल ही में फाइजर की कोरोना वैक्सीन की 10 करोड़ खुराक खरीदने का ऐलान किया है। जॉनसन एंड जॉनसन से भी लगभग 4 करोड़ खुराकें खरीदी जाएंगी।


चीन ने दिया था भरोसा लेकिन नहीं दी वैक्सीन, धोखा खाए परागुए को भारत ने की मदद

चीन ने दिया था भरोसा लेकिन नहीं दी वैक्सीन, धोखा खाए परागुए को भारत ने की मदद

कोविड-19 वैक्सीन मामले में चीन का धोखा झेल रहे परागुए को भारत ने मदद दी है। दक्षिण अमेरिकी देश परागुए ने ताइवान को मान्यता देते हुए उसके साथ कूटनीतिक संबंध बनाए हुए हैं। इस पर चीन को सख्त आपत्ति है। कोरोना संक्रमण से जूझ रहे परागुए को चीन ने पहले वैक्सीन देने का भरोसा दिया लेकिन बाद में इन्कार कर दिया। ताइवान मुश्किल में फंसे अपने सहयोगी देश के लिए वैक्सीन का इंतजाम करने में सक्रिय हुआ और उसने भारत सरकार से वार्ता कर परागुए को वैक्सीन दिलवा दी। यह जानकारी ताइवान के विदेश मंत्री ने दी है।

परागुए की मदद कर रहा ताइवान 

चीन दावा करता है कि ताइवान उसका हिस्सा है। इसलिए उसके साथ दुनिया के किसी भी देश को स्वतंत्र कूटनीतिक रिश्ते नहीं रखने चाहिए। चीन के अनुसार दुनिया के 15 देश ताइवान के साथ कूटनीतिक रिश्ते रखे हुए हैं। उनमें परागुए भी शामिल है। लोकतांत्रिक देश परागुए को कोरोना से निपटने में हो रही मुश्किल के बीच वैक्सीन न मिलने के कारण अपनी जनता का आक्रोश भी झेलना पड़ रहा है। ऐसे में ताइवान ने कहा कि वह अपने मित्र राष्ट्र परागुए की मदद करेगा। 


चीन कर रहा भेदभाव 

ताइवान के विदेश मंत्री जोसेफ वू ने बुधवार को कहा, दुनिया के कई हिस्सों में कोविड से बचाव की वैक्सीन की आपूर्ति कर रहा चीन दक्षिण और मध्य अमेरिका को लेकर दुराभाव दिखा रहा है। वह इलाके में ताइवान के पांच सहयोगी देशों को वैक्सीन देने में ना-नुकुर कर रहा है। इसके चलते वहां पर मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। मुश्किलें झेल रहे देश ब्राजील, चिली और अल सल्वाडोर हैं। इन सभी के ताइवान के साथ कूटनीतिक रिश्ते हैं।


चीन की यह है नीति 

परागुए को लेकर चीन की नीति साफ है, वह ताइवान के साथ अपने रिश्तों पर यदि पुनर्विचार करता है तो चीन से वह दसियों लाख वैक्सीन खुराक प्राप्त कर सकता है। वू ने कहा, परागुए को दबाव से निकालने में ताइवान उसकी मदद करेगा। बताया कि कुछ हफ्ते पहले उन्होंने अमेरिका, जापान और भारत के नेताओं से बात की। 

भारत ने बढ़ाए मदद को हाथ 


इसके बाद भारत परागुए को कोवैक्सीन की खुराक देने के लिए तैयार हो गया। कोविड से बचाव की यह वैक्सीन भारत ने विकसित की है। भारत ने दक्षिण अमेरिकी देश को कोवैक्सीन की एक लाख खुराक उपहार के तौर पर भेज दी हैं। जल्द एक लाख खुराक और भेजी जाएंगी। वू ने कहा, भारत सबकी मदद का इच्छुक है, कोरोना काल में यह बात दुनिया ने जानी है। अमेरिका ने भी वैक्सीन उपलब्ध कराने का वादा किया है।


काम के बीच 5 मिनट का ब्रेक लेकर इन स्ट्रेचिंग एक्सरसाइजेस के जरिए करें अपनी एनर्जी चार्ज       कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण से गर्भवती महिलाओं को घबराने की नहीं, सजग व सतर्क रहने की है जरूरत       लॉकडाउन के समय इन एक्सरसाइज़ से सिर्फ 7 दिनों में घटेगा वज़न!       लॉकडाउन में अवसाद से बचना है तो अपने आपको मनोरंजन में मसरूफ रखें       बदलते मौसम में सेहत के प्रति सचेत रहने के साथ ही इन जरूरी बातों का भी रखें ध्यान       ब्रेकफास्ट में सीरियल कितनी मात्रा में लेना रहेगा सेहत के लिए फायदेमंद       बार-बार हाथ धोने से हाथों की खूबसूरती कम हो गई है तो इस तरह रखें ख्याल       लॉकडाउन पीरियड का उठाएं फायदा, हेल्दी और बैलेंस डाइट के अलावा इन टिप्स के साथ करें बैली फैट कम       स्वाद के साथ सूंघने की क्षमता बंद हो जाना भी हो सकता है COVID-19 का लक्षण       ई-सिगरेट या स्मोकिंग से बढ़ सकता है कोरोना वायरस का ख़तरा       क्या टीबी वैक्सीन कर पाएगी कोरोना वायरस से बचाव?       अगर रहना चाहते हैं फिट तो डाइट में ज़रूर शामिल करें दालचीनी!       हार्वर्ड के शोधकर्ताओं का दावा, कोरोना से सूंघने की क्षमता भी होती है कम       रातों में अच्छी नींद के लिए लें जायफल, कोरोना से लड़ाई में भी मिलेगी मदद       विटामिन सी और किचन में मौजूद मसालों से बूस्ट होगा इम्यून सिस्टम       पाक को जी-20 से ऋण में राहत की उम्मीद, आर्थिक मामलों के मंत्री खुसरो बख्तियार ने दी जानकारी       दीपक हुड्डा ने 6 छक्कों के साथ ठोकी तूफानी फिफ्टी, बना दिया IPL में अद्भुत रिकॉर्ड       ये है भारत की सबसे सस्ती ABS वाली मोटरसाइकिल, देती है जबरदस्त माइलेज       भविष्य की चुनौतियों से निपटने को तैयार होगा स्वस्थ भारत, जानिए बजट में आपके स्वास्थ्य को लेकर क्या है खास       पति और बेटे की कोरोना से मौत पर महिला ने सदमे में तोड़ा दम