आतंकी संगठन अल क़ायदा का सरगना अल जवाहिरी मारा गया ,बाइडेन ने की मृत्यु की पुष्टि

आतंकी संगठन अल क़ायदा का सरगना अल जवाहिरी मारा गया ,बाइडेन ने की मृत्यु की पुष्टि

वाशिंगटन: अमेरिका ने ड्रोन हड़ताल में इस्लामी आतंकवादी संगठन अल कायदा के मुखिया अल जवाहिरी को मार गिराया है. 71 वर्ष का अल जवाहिरी, आतंकवादी ओसामा बिन लादेन की मृत्यु के बाद से आतंकवादी संगठन अल कायदा की कमान संभाल रहा था. जवाहिरी काबुल में एक घर में छिपा हुआ था. अमेरिकी राष्ट्रपति जो अमेरिका ने ड्रोन स्ट्राइक मेंकी है. अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने बोला कि जवाहिरी 9-11 हमले की षड्यंत्र में शामिल था. इस हमले में 2977 लोगों की जान चली गई थी. दशकों से वह अमेरिकियों पर हुए हमले का मास्टरमाइंड रहा है. 

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, जवाहिरी ने काबुल में पनाह ले रखी थी. अमेरिकी ऑफिसरों के अनुसार, वह ड्रोन हमले में मारा गया. इस हमले के लिए अमेरिका ने दो Hellfire मिसाइल का इस्तेमाल किया. इस ड्रोन अटैक को शनिवार रात 9:48 बजे अंजाम दिया गया. बताया जा रहा कि जवाहिरी पर हमले से पहले बाइडेन ने अपनी कैबिनेट और सलाहकारों के साथ कई हफ्तों तक बैठक की. यही नहीं खास बात ये है कि इस हमले के वक़्त कोई भी अमेरिकी काबुल में उपस्थित नहीं था. 

हक्कानी तालिबान के वरिष्ठ लोगों को क्षेत्र में जवाहिरी के छिपे होने की जानकारी थी. अमेरिकी ऑफिसरों ने बोला कि यह दोहा समझौते का साफ उल्लंघन है. तालिबान ने जवाहिरी की जूदगी छिपाने का कोशिश भी किया. तालिबान ने इस पर भी विशेष ध्यान दिया कि उसके ठिकाने तक कोई न पहुंच पाए. इसके लिए जवाहिरी के परिवार के सदस्यों की लोकेशन भी बदली गई. हालांकि, अमेरिका ने साफ कर दिया कि इस हमले में उसके परिवार को न ही टारगेट किया गया, न ही उसे कोई हानि पहुंचा. यही नहीं अमेरिका ने अपने इस मिशन की जानकारी तालिबान को भी नहीं दी.