Georgia में Donald Trump को झटका

Georgia में Donald Trump को झटका

वॉशिंगटन: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) के चुनाव में धांधली के आरोपों को झटका लगा है जॉर्जिया (Georgia) में हुई पुनर्मतगणना में भी जो बाइडेन (Joe Biden) ने जीत हासिल की है लोकल अधिकारियों ने बताया कि बाइडेन छोटी अंतर से चुनाव जीत गए हैं 

रिपब्लिकन का गढ़ ध्वस्त
जॉर्जिया को रिपब्लिकन का गढ़ समझा जाता है, इसलिए जब नतीजे बाइडेन के पक्ष में आये तो डोनाल्ड ट्रंप ने उसे स्वीकार करने से मना कर दिया हालांकि, अब यह स्पष्ट हो गया है कि जनता ने बाइडेन को ही वोट दिए हैं जॉर्जिया के सेक्रेटरी ऑफ स्टेट ब्रैड रैफेंसपर (Brad Raffensperger) ने बोला कि ऑडिट से पुष्टि हो गई है कि मशीन द्वारा हुई वोटों की गिनती ठीक थी

निराश हूं, लेकिन आंकड़ों पर विश्वास
उन्होंने आगे बोला कि दूसरे रिपब्लिकन की तरह मैं भी इस पराजय से निराश हूं, लेकिन मेरा मानना है कि नंबर असत्य नहीं बोलते वोटों की जो संख्या आज हमें बताई गई है, मुझे उस पर विश्वास है बता दें कि ब्रैड रैफेंसपर खुद को ट्रंप समर्थक करार देते आये हैं  

ज्यादा अंतर नहीं
इस जीत के साथ ही बाइडेन लगभग तीन दशक बाद इस जरूरी प्रदेश से जीतने वाले पहले डेमोक्रेट बन गए हैं जॉर्जिया में बाइडेन ने 14,000 से अधिक मतों से चुनाव जीता था पुनर्मतगणना में छोटी त्रुटी सामने आई, जिसकी वजह से उनकी जीत का अंतर 0.5 फीसदी रह गया यानी उन्होंने असीम छोटी अंतर से यहां जीत हासिल की है  

ऐसा नहीं है
वहीं, जॉर्जिया के वोटिंग सिस्टम इम्प्लीमेंटेशन मैनेजर और रिपब्लिकन गेब्रियल स्टर्लिंग ने CNN को बताया कि मशीनों को लेकर कई शिकायतें मिली थीं, जिसमें सबसे प्रमुख यह थी कि मशीनों में वोट बदल गए हैं लेकिन ऐसा कम से कम जॉर्जिया के मुद्दे में तो बिल्कुल नहीं है और यह हमने साबित कर दिया है


इस वजह के चलते Sweden के इस शहर में रात होते ही Purple हो जाता है आसमान

इस वजह के चलते Sweden के इस शहर में रात होते ही Purple हो जाता है आसमान

स्टॉकहोम: अंधेरा छाने के बाद जब सबकुछ काला-काला नजर आता है, स्वीडन का आसमान आकस्मित से बैंगनी हो गया लोग बहुत ज्यादा देर तक समझ नहीं पाए कि आखिर हुआ क्या है हालांकि, अब लोगों के इसके पीछे की वजह पता चल गई है 

स्वीडन (Sweden) के दक्षिणी तट पर ट्रेलीबोर्ग में रात होते ही आसमान काले से बैंगनी (Purple) हो गया आरंभ में लोग इस घटना को लेकर बहुत ज्यादा डर गए फिर बाद में जब उन्हें इसकी वजह पता चली तो उन्होंने राहत की सांस ली दरअसल, पास के एक टमाटर फार्म (Tomato Farm) में एनर्जी एफिशिएंट लाइटिंग सिस्टम लगाया गया है, जहां से बैंगनी रंग की रोशनी निकलती है और आसमान का रंग भी बदल जाता है

स्थानीय मीडिया के मुताबिक, ट्रेलीबोर्ग से 10 मिनट की दूरी पर गिस्लोव स्थित टमाटर फार्म में एनर्जी-सेविंग LED लाइट सिस्टम लगाया है, जिसका रंग बैंगनी है बोला जाता है कि पेड़ों पर गिरती रोशनी उनकी स्वास्थ्य के लिए अच्छी होती है इसी उद्देश्य से ये तेज रोशनी वालीं LED लाइट लगाई गई हैं हालांकि, फार्म मालिक को नहीं पता था कि उसकी यह प्रयास लोगों की कठिनाई का सबब बन जाएगी

Complaints के बाद उठाया कदम
लाइट की रोशनी इतनी तेज है कि अंधेरा होते ही आसमान बैंगनी हो जाता है लोगों ने इस विषय में कम्पलेन भी की है, जिसके मद्देनजर 5 से 11 बजे के बीच लाइट बंद करना प्रारम्भ किया गया है ट्रेलीबोर्ग के पर्यावरण प्रबंधक माइकल नोरेन का बोलना है कि वैसे कुछ घंटों के लिए लाइट बंद की जा रही है, लेकिन जल्द ही कोई दूसरी ऐसी योजना बनाई जाएगी कि लाइट भी जलती रहीं और किसी को कठिनाई भी न हो वहीं, टमाटर के फार्म के मालिक अल्फ्रेड पेडरसन ऐंड सन का बोलना है कि बिजली बचाने के लिए ऐसा किया जा रहा था उनका इरादा किसी को परेशान करने का नहीं है


खून की कमी साथ इन बीमारियों में मिलेगी राहत, आपके लिए सुपर फूड हैं मखाने       नवरात्रि के दौरान हेल्दी रहने के लिए जरूर पिएं ये चीजें       इन बीमारियों के लिए रामबाण हैं इसका जूस       कोई नहीं जनता होगा केले के फूल के ये फायदें       इलायची से होने वाले ये अनोखे फायदे       सोने से पहले आंखों पर लगाएं ब्लू लाइट चश्मा ये फायदें       अगर आपको भी है यूरिक एसिड की समस्या तो इन चीजों से रहें दूर       लगातार आ रही हैं हिचकियों को रोकने के लिए अपनाएं ये उपाय       इन महिलाओं को होता है ब्रेस्‍ट कैंसर का ज्यादा होता है खतरा       अगर आप भी जान बूझकर रोकते हैं तो हो जाए सावधान!       फरवरी में नियंत्रण में आ जाएगी कोरोना महामारी       पाइल्स की समस्या से हैं परेंशान तो अपनाएं यह असरदार उपाय       नवरात्र के दौरान फलाहर में जरूर लीजिए ये 8 चीजें       इन महिलाओं को होता हैं ब्रेस्ट कैंसर का खतरा सबसे ज्यादा       सर्दियों में बढ़ सकता है, कोरोना वायरस का कहर       पीएम नरेंद्र मोदी 30 नवंबर को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी का करेंगे दौरा       किरायेदार से ली गई ये रकम होगी टैक्‍सेबल इनकम       अमित शाह ने संभाला किसान आंदोलन पर मोर्चा,बोले- हर मांग पर विचार को तैयार सरकार       दिल्ली वालों के लिए अच्छी खबर: कम हो रहा कोविड-19 संक्रमण       Farmers Protest: सीएम खट्टर के आरोपों पर पंजाब के 'कैप्टेन' का पलटवार