आतंक का गढ़ बने पाक पर मंडरा रहा एफएटीएफ की काली सूची का खतरा

आतंक का गढ़ बने पाक पर मंडरा रहा एफएटीएफ की काली सूची का खतरा

आतंकवाद का गढ़ बने पाकिस्तान पर वित्तीय कार्रवाई कार्य बल (एफएटीएफ) की काली सूची में जाने का खतरा मंडरा रहा है। आतंकी फंडिंग पर निगरानी रखने वाली वैश्विक संस्था अगले महीने पर अपनी रिपोर्ट जारी करेगी।

ग्रीक सिटी टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक इमरान खान सरकार के लिए जमात उद दावा और जैश ए मोहम्मद जैसे  आतंकी संगठन गले की फांस बन गए हैं। ये संगठन अब भी पाकिस्तानी जमीन पर सक्रिय हैं और एफएटीएफ की नजर इनकी हर गतिविधि पर है।

इसके लिए एफएटीएफ अपनी अगले महीने की रिपोर्ट में पाकिस्तान को काली सूची में डाल सकता है। अभी पाकिस्तान ग्रे सूची में है और उसे 2018 से कई बार अपने यहां आतंकवाद पर अंकुश लगाने और आतंकी फंडिंग बंद करने की चेतावनी मिल चुकी है।

एफएटीएफ के प्रेजिडेंट मारकस प्लेयर ने पिछले साल अक्तूबर में पाकिस्तान को चेतावनी देते हुए आतंक पर कार्रवाई में बेहद गंभीर कमियों की ओर संकेत किया था।

एफएटीएफ ने पाकिस्तान को फरवरी तक वक्त दिया था लेकिन इस बीच पाकिस्तान की ओर से कोई ठोस कदम नहीं उठाए गए। रिपोर्ट के मुताबिक मौजूदा स्थिति के हिसाब से पाकिस्तान के काली सूची में जाने के आसार बहुत अधिक हैं।


बासमती चावल के बाद अब सेंधा नमक की जीआइ टैंगिग कराने की कोशिश में पाकिस्‍तान

बासमती चावल के बाद अब सेंधा नमक की जीआइ टैंगिग कराने की कोशिश में पाकिस्‍तान

पाकिस्तान हर उस मुद्दे पर विवाद खड़ा करना चाहता है, जो भारत से संबंधित है। अब उसने हिमालय क्षेत्र में पाए जाने वाले गुलाबी साल्ट की जीआइ टैंगिंग कराने का फैसला किया है। गुलाबी नमक को सेंधा नमक या हिमालयन साल्ट भी कहा जाता है। इस नमक का इस्तेमाल भारत में व्रत और त्योहारों पर बहुत किया जाता है। पाकिस्तान चाहता है कि इस नमक पर उसका एकाधिकार रहे।

यह निर्णय पाकिस्तान में इंटैलेक्चुअल प्रोपर्टी आर्गनाइजेशन (आइपीओ) ने एक बैठक में लिया है। इस संबंध में जारी आधिकारिक घोषणा में कहा है किया है कि कई उत्पादों और क्षेत्रों के जियोग्राफिकल आइडेंटिफिकेशन (जीआइ) के संबंध में वार्ता हुई है। हिमालयन साल्ट की जीआइ टैगिंग किए जाने का निर्णय लिया गया है।

ज्ञात हो कि पाकिस्तान पूर्व में ही बासमती चावल को अपने यहां का उत्पाद बताकर यूरोपियन यूनियन में भारत से मुकदमा लड़ रहा है। पाकिस्तानी अधिकारी ने बताया कि अब हम सेंधा नमक की जीआइ टैगिंग कराने जा रहे हैं। ऐसा करने से हमारे उत्पादों का वैश्विक स्तर पर व्यापार बढ़ाने में मदद मिलेगी। जीआइ टैग किसी क्षेत्र के उत्पाद की उत्पत्ति को पहचानने के लिए एक संकेत या प्रतीक होता है।


Nia Sharma ने रवि दुबे को बताया 'बेस्ट किसर मैन' तो अब एक्टर ने किया रिएक्ट, कहा...       कल ओटीटी प्लेटफॉर्म पर रिलीज़ होंगी ये वेब सीरीज़ और फ़िल्में       Kiston Song: जाह्नवी कपूर-राजकुमार राव की फिल्म 'रूही' का दूसरा गाना 'किस्तों' रिलीज       Zeenat Aman के इंडस्ट्री में इतने साल पूरे होने पर भावुक हुईं पाकिस्तानी एक्ट्रेस सोमी अली       इस एक्ट्रेस के साथ जब शख्स ने भीड़ में की ऐसी हरकत, एक्ट्रेस भी हुईं हैरान       इन खिलाड़ियों को मिली जगह, इंग्लैंड के खिलाफ T20 सीरीज के लिए टीम इंडिया का ऐलान       जिम को देखकर चौंके भारतीय खिलाड़ी, दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम के मुरीद हुए क्रिकेटर       पहले उनके खिलाफ खेला, अब उनके साथ खेलने को बेताब हूं : राहुल तेवतिया       T20 सीरीज के लिए जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी का चयन क्यों नहीं हुआ       इंग्लैंड के खिलाफ T20 और वनडे सीरीज में कमेंट्री करेगा ये भारतीय विकेटकीपर       कस्तूरबा गांधी: सफलता के पीछे रहा अहम योगदान, बापू का हर कदम पर दिया साथ       जिनके निधन पर आज रो रहा देश का हर किसान, जानिए कौन हैं दातार सिंह       महाराष्ट्र में मचा हाहाकार, 34 जिलों में तत्काल हाई अलर्ट जारी       नारायणसामी ने दिया इस्तीफा: पुडुचेरी में गिरी कांग्रेस सरकार       7 बार चुनकर पहुंचे थे लोकसभा, मुंबई के होटल में मिला इस दिग्गज नेता का शव       लाइलाज नहीं है डिप्रेशन और कम उम्र में भी हो सकती है इसकी समस्या, जानें       बहुत ही आसानी से पा सकते हैं बढ़ते वजन से छुटकारा, बस करने होंगे रूटीन में ये जरूरी बदलाव       शुगर लेवल कंट्रोल करना है तो नाश्ते में शामिल करें ये 5 जादुई चीज़ें       डेंगू में रामबाण इलाज है बकरी का दूध, जानें       गर्मियों में कूल और हेल्दी रहने के लिए खाएं फ्रूट कस्टर्ड, जानें