क्या देश में लग सकता है संपूर्ण लॉकडाउन, जानें

क्या देश में लग सकता है संपूर्ण लॉकडाउन, जानें

नई दिल्ली। कोरोना के बढ़ते संक्रमण के मामलों ने देश को एक बार फिर लॉकडाउन की तरफ ढकेल दिया है। हालांकि इस बार केंद्र सरकार ने लॉकडाउन लगाने का जिम्मा राज्य सरकारों को सौंप दिया है। कोरोना संक्रमण से देश के सभी राज्य प्रभावित है। राज्य अपने हिसाब से पाबंदियां लगाकर इस महामारी को थामने की कोशिश कर रहे हैं। कुछ शहरों पर लॉकडाउन लगाया गया है तो कुछ जगहों पर नाइट कर्फ्यू जारी है। बावजूद इसके संक्रमण के मामले बढ़ते जा रहे हैं। ऐसे में सोशल मीडिया पर देशभर में संपूर्ण लॉकडाउन लगाने की बात तैर रही है। जबकि केंद्र सरकार के अधिकारियों का ऐसी किसी बात की जानकारी होने से इनकार है। अधिकारियों का कहना है लॉकडाउन लगाने का केंद्र सरकार का कोई प्लान नहीं है।

अधिकारियों ने बताया कि कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए राज्य सरकारों को पाबंदियां बढ़ाने के लिए कहा गया है। राज्य सरकारें संक्रमण के मामलों को देखते हुए अपने—अपने हिसाब से पाबंदियां लगा रहे हैं। लेकिन इसके बाद भी मामलों में लगातार इजाफा जारी है। अस्पताल फुल चल रहे हैं। देश में आक्सीजन की घोर समस्या बनी हुई है। राज्य सरकारें भी पाबंदियों को धीरे—धीरे करके और सख्त करती जा रही हैं। देश के अब तक करीब 10 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में कोरोना कर्फ्यू और लॉकडाउन जैसी बंदिशें लागू की जा चुकी है।

सुप्रीम कोर्ट ने भी विचार करने को कहा

इलाहाबाद हाई कोर्ट के बाद सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र व राज्य सरकारों से सख्त लॉकडाउन लगाने पर विचार करने को कह चुका है। इतना ही नहीं हेल्थ मिनिस्ट्री की तरफ से भी देश के ऐसे जिले जहां 15 प्रतिशत से अधिक पसॅजिटिव रेट है, वहां लॉकडाउन लगाने का सुझाव दिया गया है। वहीं स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों तथा कोरोना टास्क फोर्स की तरफ से भी बढ़ते मामलों पर चिंता जताई गई है।

मजदूरों का पलायन जारी
फिलहाल लोगों के मन में लॉकडाउन लगाए जाने की बात घर कर गई है। क्योंकि दूसरे शहरों में काम करने वाले मजदूर पिछली बार के भुगतभोगी रह चुके हैं। इसलिए इस बार ऐसे अधिकतर लोग अपने गांव व शहरों में आ चुके हैं। लोगों को यह अंदेशा सता रहा है कि केंद्र सरकार पिछली बार की तरह इस बार भी अचानक लॉकडाउन लगाने का एलान कर सकती है।


देश में लगातार तीसरे दिन कोविड-19 के 4 लाख से अधिक नए केस

देश में लगातार तीसरे दिन कोविड-19 के 4 लाख से अधिक नए केस

हिंदुस्तान में कोविड-19 वायरस ( Covid-19 in India) से दशा बेकार होते जा रहे हैं और नए मामलों में तेजी से वृद्धि होने के साथ ही मृत्यु के आंकड़ों में भी उछाल देखने को मिल रहा है  भारत में लगातार तीसरे दिन कोविड-19 के 4 लाख से अधिक नए केस सामने आए हैं वहीं बीते 24 घंटे में देश में एक दिन में रिकॉर्ड करीब 4200 कोविड-19 मरीजों की जान गई है जो अभी तक एक दिन में होने वाली सबसे अधिक मौतें हैं  

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, पिछले 24 घंटे में हिंदुस्तान में 4,01,078  नए कोविड-19 मुद्दे सामने आए हैं जबकि इस दौरान 4,187 लोगों की जान गई इसके बाद हिंदुस्तान में कोविड-19 संक्रमितों की कुल संख्या 2 करोड़,18 लाख, 92 हजार, 676 हो गई है, जबकि देश में सक्रिय केस अभी करीब 37,23,446 हैं इसी दौरान 3,18,609 लोग कोविड-19 को हराकर स्वस्थ हुए

7 मई शुक्रवार को 4,12,000 से अधिक कोविड-19 वायरस के नए मुद्दे दर्ज किए गए है तब MoHFW के अनुसार, शुक्रवार को देश में 4,14,188 मुद्दे और 3,915 मौतें दर्ज हुईं थीं वहीं 6 मई को हिंदुस्तान में पिछले 24 घंटे में कोविड-19 वायरस के रिकॉर्ड 4,12,262 नए मुद्दे सामने आए थे जबकि संक्रमण से 3980 लोगों की मृत्यु हो गई

1 मई को  4,02,351 मुद्दे दर्ज किए जाने के बाद ये पहला केस है जब लगातार तीन दिन नए मरीजों का आंकड़ा 4 लाख के पार गया है वहीं राजधानी दिल्ली की बात करें तो यहां बीते 24 घंटे में कोविड-19 संक्रमण के 19832 नए मुद्दे सामने आए हैं, जबकि 341 लोगों की मृत्यु हुई है एक दिन में राजधानी में 19085 मरीज ठीक भी हुए हैं

6 मई की प्रातः काल जारी हुए आंकड़ों के अनुसार 3,980 लोगों की मृत्यु हुई थी वहीं 7 मई को 3,915 कोविड-19 संक्रमित मरीजों की मृत्यु हुई थी  

कुल केस: 2,18,92,676
कुल ठीक:1,79,30,960
डेथ टोल : 2,38,270   
सक्रिय केस: 37,23,446

इसी तरह देश में कुल 16,73,46,544 लोगों को वैक्सीन लग चुकी है देश में Covid-19 के मरीजों की संख्या पिछले वर्ष सात अगस्त को 20 लाख को पार कर गई थी वहीं Covid-19 मरीजों की संख्या 23 अगस्त को 30 लाख, पांच सितंबर को 40 लाख और 16 सितंबर को 50 लाख के आंकड़े को पार कर गई थी

इसके बाद 28 सितंबर को Covid-19 के मुद्दे 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख, 20 नवंबर को 90 लाख, 19 दिसंबर को एक करोड़ के पार हो गए थे हिंदुस्तान ने चार मई को गंभीर स्थिति में पहुंचते हुए दो करोड़ का आंकड़ा पार कर लिया था

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) के अनुसार सात मई तक 30,04,10,043 नमूनों की जाँच की गई है जिनमें से 18,08,344 नमूनों की शुक्रवार को जाँच की गई


कोविड-19 का कहर : मैं बचूंगा या नहीं घर गिरवी न रखना पापा, और उसने दुनिया को अलविदा कह दिया       सीएम योगी ने कहा कि गोरखपुर में बनेगा 100 बेड का नया कोविड हॉस्पिटल , BRD में बढ़ेंगे 50 वेंटिलेटर बेड       ऑस्ट्रेलिया के जंगलों से आई इस भेड़ ने सोशल मीडिया पर मचा दी धूम       रूस के राष्ट्रपति पुतिन ने स्पूतनिक वैक्सीन की तुलना AK-47 से की, कहा...       धरती पर आज गिरेगा चाइना का बेकाबू रॉकेट       Vladimir Putin ने रूसी कोरोना वैक्सीन को बताया दमदार, कहा...       दुनिया के सबसे बड़े Cargo Plane ने सहायता का सामान लेकर India के लिए भरी उड़ान       Imran Khan ने Indian Embassies की प्रशंसा क्या की, आग बबूला हो गए पाकिस्तानी       हिंदुस्तान से अपने देश तुरंत लौट आएं सभी लोग, अमेरिका की अपने नागरिकों से अपील       बाइसन को मारने US में निकली 12 वेकेंसी       यूनीसेफ ने हिंदुस्तान में बढ़ रहे कोविड-19 मामलों पर जताई चिंता, कहा...       व्लादिमीर पुतिन ने कहा कि रूस की कोविड-19 वैक्सीन AK-47 जितनी भरोसेमंद       Africa में मिली इतने हजार वर्ष पुरानी कब्र, खुलेंगे कई अहम राज       भारतीय टीम में सिलेक्शन से दंग यह क्रिकेटर, बोले...       पूर्व भारतीय हॉकी कोच एमके कौशिक का मृत्यु       कोविड-19 बना काल: नहीं रहे BCCI के आधिकारिक स्कोरर केके तिवारी       कोविड-19 के विरूद्ध जंग में विराट के बाद ऋषभ पंत भी कूदे       इंग्लैंड जाने से पहले हिंदुस्तान में ही 8 दिन क्वारंटीन रहेगी टीम इंडिया       दिल जीत लेगी इस क्रिकेटर की दलील, बोले...       इंग्लैंड दौरे पर टीम इंडिया में हार्दिक पांड्या को क्यों नहीं मिली जगह