पार्टी की स्थिति सुधारने को सोनिया गांधी ने बनाए तीन पैनल

पार्टी की स्थिति सुधारने को सोनिया गांधी ने बनाए तीन पैनल

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने शुक्रवार को पार्टी के उच्च नेताओं को शामिल कर तीन पैनलों का गठन किया है. बताया गया है कि यह कदम आर्थिक, विदेश  राष्ट्रीय सुरक्षा जैसे मामलों पर पार्टी की स्थिति स्पष्ट रखने के लिए उठाया गया है. इन पैनलों में एक-दो लोगों को छोड़ दिया जाए, तो ज्यादातर पुराने नेता ही शामिल हैं. इनमें पूर्व पीएम मनमोहन सिंह से लेकर राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद  कई अन्य पूर्व केंद्रीय मंत्री भी शामिल हैं.

बताया गया है कि इन तीन पैनलों में गुलाम नबी आजाद के साथ, पूर्व केंद्रीय मंत्री आनंद शर्मा, एम वीरप्पा मोइली  शशि थरूर जैसे नेता भी शामिल हैं, जिन्होंने पार्टी में हर स्तर पर परिवर्तन की मांग के साथ अगस्त में सोनिया गांधी को लेटर लिखा था. अब इन पैनल्स में पुराने नेताओं को शामिल करना इसी बात का संकेत है कि गंभीर नीतिगत मुद्दों पर निर्णय के लिए सोनिया गांधी अब भी उन पर भरोसा करती हैं.

बता दें कि कांग्रेस पार्टी में इन पैनल्स का गठन ऐसे समय में किया गया है, जब RCEP समझौते से हिंदुस्तान के अलग रहने के मामले पर पार्टी से भिन्न-भिन्न आवाजें उठी थीं. यहां तक कि अनुच्छेद 370 को दोबारा लागू कराने पर भी कांग्रेस पार्टी नेताओं के भिन्न-भिन्न सुर रहे हैं. अब पार्टी के कार्य करने के उपायों पर प्रश्न उठाने वाले नेताओं को पैनल में शामिल कर के सोनिया गांधी ने संकेत कर दिया है कि उनके मन में किसी भी मेम्बर के लिए गुस्सा नहीं है. उनकी यह प्रयास पार्टी में बिहार चुनाव  उपचुनाव के नतीजों के बाद उभरे विवादों को भी शांत करने के तौर पर भी देखी जा रही है.

पैनल गठन के कदम से खुश नहीं लेटर लिखने वाले कुछ नेता: हालांकि, दूसरी तरफ जिन नेताओं ने पार्टी में नीतिगत परिवर्तन करने के लिए सोनिया गांधी को लेटर लिखा था, उनमें से कई पैनल गठन के कदम से कुछ खास खुश नहीं बताए जा रहे हैं. पैनल में शामिल किए गए एक नेता ने बताया कि यह कदम उत्साहित करने से ज्यादा मन बहलाने वाला है, क्योंकि जो मामले उठाए गए थे, उन्हें अब तक गंभीरता से नहीं लिया गया  पार्टी लगातार ढलान की ओर है.

एक अन्य नेता ने कहा, “संस्थागत मामलों को उठाने के बजाय हमें नीतिगत मुद्दों को देखने के लिए बोला जाता है, पार्टी के पास पहले ही कई फोरम हैं, जो इन मुद्दों पर कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष को जानकारी देते हैं  पैनल में पूर्व पीएम को शामिल करना पूर्व में उनके द्वारा लिए गए पद को छोटा दिखाने जैसा है.

कौन नेता किस कमेटी में शामिल?: कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष ने मनमोहन सिंह को तीनों पैनलों में शामिल किया है, उनके अतिरिक्त पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम को आर्थिक मामलों की कमेटी का भाग बनाया गया है. लोकसभा में कांग्रेस पार्टी के पूर्व नेता मल्लिकार्जुन खड़गे, मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह  पूर्व केंद्रीय मंत्री जयराम रमेश भी इसी समूह का भाग होंगे.

इसके अतिरिक्त आनंद शर्मा, शशि थरूर, सलमान खुर्शीद  ओडिशा से पार्टी के युवा सांसद सप्तगिरी उलाका को विदेश मामलों के पैनल का भाग बनाया गया है. शर्मा को पार्टी के विदेश मामलों के विभाग का प्रमुख बनाया गया है. राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दों से जुड़े पैनल में गुलाम नबी आजाद , वीरप्पा मोइली, लोकसभा सांसद विन्सेंट पाला  लोकसभा सांसद वी वैथिलिंगम को शामिल किया गया है. इन पैनलों से पूर्व रक्षा मंत्री एके एंटनी  कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल को बाहर कर दिया गया है.


हैदराबाद: ओवैसी के गढ़ में योगी आदित्याथ का रोड शो

हैदराबाद: ओवैसी के गढ़ में योगी आदित्याथ का रोड शो
हैदराबाद: ग्रेटर हैदराबाद म्यूनिसिपल कॉरपोरेशन (Greater Hyderabad Municipal Corporation Elections) (GHMC) के लिए प्रचार प्रारम्भ हो चुका भाजपा के स्टार प्रचारक और उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) भी जीएचएमसी चुनावों में प्रचार करने के लिए हैरादाबाद पहुंचे शनिवार को योगी ने हैदाराबाद में रोड शो किया योगी के रोड शो के दौरान सड़कों पर सैकड़ों लोगों की भीड़ नजर आई योगी के रोड शो में फिल्म बाहुबली का गाना 'जियो रे बाहुबली' भी रोड शो में बजता दिखा

रोड शो के बाद जनता को संबोधित करते हुए योगी आदित्यनाथ ने कहा, पीएम नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन में, गृह मंत्री अमित शाह ने जम्मू कश्मीर में आर्टिकल 370 को निरस्त किया, ताकि हैदराबाद और तेलंगाना के लोग पूरी आजादी से वहां पर जमीन खरीद सकें इस दौरान योगी ने असदुद्दीन ओवैसी पर भी जमकर निशाना साधा देखें VIDEO
बिहार शपथ ग्रहण कार्यक्रम में दिखा AIMIM का चेहराएआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी पर निशाना साधते हुए योगी आदित्यनाथ ने कहा, बिहार में AIMIM के एक नव-निर्वाचित विधायक ने शपथ ग्रहण के दौरान 'हिंदुस्तान' शब्द का उच्चारण करने से मना कर दिया वे भारत में रहेंगे, लेकिन जब भारत के नाम पर शपथ लेने की बात आती है, तो वे संकोच करते हैं यह AIMIM का वास्तविक चेहरा दिखाता है बदला जाएगा हैदराबाद का नाम?कुछ लोग मुझसे पूछ रहे थे कि क्या हैदराबाद का नाम बदलकर भाग्यनगर रखा जा सकता है मैंने कहा- क्यों नहीं मैंने उनसे बोला कि हमने उत्तर प्रदेश में भाजपा के सत्ता में आने के बाद प्रयागराज के रूप में फैजाबाद का नाम अयोध्या और इलाहाबाद रखा फिर हैदराबाद का नाम बदलकर भाग्यनगर क्यों नहीं रखा जा सकता?
बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के दौरे के बाद शनिवार को योगी आदित्यनाथ चुनाव प्रचार के लिए पहुंचे हैं इन चुनावों को अपने खाते में करने के लिए भाजपा ने पूरी ताकत झोंक दी है योगी आदित्यनाथ के बाद प्रदेश में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह का भी दौरा होना है 
बीजेपी के लिए क्यों खास है ये चुनाव?
ग्रेटर हैदराबाद म्युनिसिपिल कारपोरेशन का चुनाव भाजपा पहली बार इतनी मजबूती से लड़ रही है यहां चुनाव भाजपा और टीआरएस के बीच माना जा रहा है कांग्रेस पार्टी तीसरे नंबर की पार्टी बन गई है सियासी जानकारों का मानना है कि भाजपा यहां अच्छी सीटों पर जीत दर्ज करेगी ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम करीब 24 विधानसभा सीट में फैला है और इसका सालाना बजट करीब साढ़े पांच हजार करोड़ है तेलंगाना की जीडीपी का बड़ा भाग यहीं से आता है

1 दिसंबर को डाले जाएंगो वोट
ग्रेटर हैदराबाद म्यूनिसिपल कॉरपोरेशन के 150 वार्ड के लिए 1 दिसंबर को वोट डाले जाएंगे GHMC में 6 जोन और 30 सर्किल हैं वोटों की गिनती 4 दिसंबर 2020 को की जाएगी 150 वार्डों के लिए 1122 उम्मीदवार मैदान में हैं इनमें 583 पुरुष और 540 महिला उम्मीदवार हैं इन चुनावों में उम्मीदवारों की औसत आयु 41 साल है ये चुनाव तय करेंगे कि GHMC का नया मेयर कौन होगा GHMC के लिए पिछला चुनाव 2016 में हुआ था इसमें टीआरएस ने 99 वार्ड में जीत हासिल की थी एआईएमआईएम 44 सीटों पर विजयी रही थी भाजपा को केवल 4 वार्ड में जीत मिली थी टीडीपी को 1 और कांग्रेस पार्टी को 2 वार्डों में जीत मिली थी इन चुनावों में 74 लाख वोटर्स वोट डालेंगे इनमें 38.5 लाख पुरुष और 35.5 लाख महिला वोटर हैं 669 अन्य वोटर हैं

Bank Holidays December 2020: दिसंबर में इतने दिन बैंक रहेंगे बंद       3-4 हफ्तों में पूरी दिल्ली को लग सकता है Corona का टीका       बेहद खतरनाक होता हैं हार्ट अटैक का दर्द       हैदराबाद: ओवैसी के गढ़ में योगी आदित्याथ का रोड शो       अंडे खाने के फायदे, जिसे जानकर तुरंत खाना शुरू कर देंगे आप..       कोरोना के साथ अन्य मौसमी बीमारियों के संक्रमण को लेकर जारी हुए दिशानिर्देशों को जानें       छोटे कर्जदारों के लिए बड़ा झटका       बच्चों के लिए क्यों जरूरी है मां का दूध, जरूर जानें       जानिए, सेहत के लिए कितने फायदेमंद है ये पौधे       गठिया का अचूक इलाज, जानें क्यों आपके लिए जरूर हैं ये फूड       अखरोट खाने के यह फायदे जानकर हो जाएंगे हैरान       हर वक्त थकान महसूस करते है, तो आयरन से भरपूर फूड को करें अपनी डाइट में शामिल       आंवलें का जूस पीने से हो सकते हैं कई फायदे       विटामिन C से भरपूर हैं ये सब्जियां, सेहत के लिए भी फायदेमंद       आखिर क्यों हाथ साफ करने के लिए सैनिटाइजर से बेहतर है साबुन       मोदी सरकार ने जवानों को ही किसानों के विरूद्ध खड़ा कर दिया: राहुल गांधी       प्रदर्शन कर रहे किसानों से गृह मंत्री अमित शाह ने की ये अपील       पहली बार बिहार की सेंट्रल कारागार में ATM की सुविधा       रोजगार की तलाश में UAE पहुंचा भारतीय व्यक्ति लापता       सामने आया कोरोना का नया लक्षण, हमेशा के लिए आपको कर सकता हैं बहरा