उद्घाटन भाषण करते हुए जेपी नड्डा ने विपक्ष पर करारा निशाना साधा

उद्घाटन भाषण करते हुए जेपी नड्डा ने विपक्ष पर करारा निशाना साधा

कोरोना के बुरे समय से पार पाते हुए पीएम मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र गवर्नमेंट की अनेक उपलब्धियों और विभिन्न चुनावों में मिली सफलताओं के भारी-भरकम एजेंडे के साथ बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में पहले दिन वंशवाद की राजनीति निशाने पर रही. पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने बैठक की उद्घाटन भाषण में दो टूक बोला कि एक तरफ बीजेपी ने रचनात्मक राजनीति और देश नीति पर चलकर राष्ट्र को नयी दिशा दी है, वहीं विपक्ष ने लगातार राष्ट्र को गुमराह करने की प्रयास की. नड्डा ने बोला कि वंशवाद और करप्शन से पनपी सियासी पार्टियां समाज कल्याण की योजनाओं में सबसे बड़ी बाधा है.

मिशन दक्षिण हिंदुस्तान के नए लक्ष्य तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में शनिवार को शुरु हुई बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के पहले राष्ट्रीय पदाधिकारियों की बैठक में उद्घाटन भाषण करते हुए जेपी नड्डा ने विपक्ष पर करारा निशाना साधा और बोला कि वंशवाद और करप्शन से पनपे दल समाज कल्याण की योजनाओं में बाधा है.

सर्जिकल हड़ताल और राफेक भी जिक्र
उन्होंने बोला कि एक तरफ बीजेपी रचनात्मक राजनीति और देश निर्माण की दिशा में आगे बढ़ी है, वहीं दूसरी तरफ विपक्ष लगातार राष्ट्र को गुमराह करने की प्रयास कर रहा है. सर्जिकल स्ट्राइक, राफेल सौदा, कोविड-19 टीकाकरण अनेक मामले हैं जिन पर विपक्ष ने अपनी नकारात्मक किरदार निभाई है.

मोदी गवर्नमेंट ने बदली तस्वीर : नड्डा
नड्डा ने पीएम मोदी के आठ वर्ष के कार्यकाल में गरीब कल्याण योजना, सामाजिक उत्थान की राष्ट्रवादी सोच का, नए हिंदुस्तान के निर्माण के उनके संकल्प का जिक्र किया. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बलिदान का जिक्र करते हुए नड्डा ने बोला कि उनका मंत्र था कि हिंदुस्तान में दो विधान दो निशान नहीं चलेंगे. उनके संकल्प को पीएम ने आर्टिकल 370 हटाकर पूरा किया.

नड्डा ने बोला कि मोदी ने 20 वर्षों तक लगातार संवैधानिक पदों पर रखकर समाज कल्याण और गरीबों के उत्थान के लिए जो काम किए हैं वह हम सबके लिए प्रेरणा है. उन्होंने कोविड-19 काल में 80 करोड़ लोगों को निःशुल्क राशन देने और जन धन योजना के जरिए 45 करोड़ लोगों को सशक्त बनाने का विशेष उल्लेख किया. राष्ट्रपति पद के लिए आदिवासी स्त्री को उम्मीदवार बनाने को लेकर आदिवासियों समाज और वंचित वर्ग के प्रति बीजेपी गवर्नमेंट की प्रतिबद्धता को भी साफ किया.

गरीब की चिंता अहमियत रही : प्रधान
बैठक में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आर्थिक और गरीब कल्याण संकल्प प्रस्ताव रखा, जिसका समर्थन केंद्रीय मंत्री और राज्यसभा में नेता सदन पियूष गोयल एवं हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने किया. इस प्रस्ताव की जानकारी देते हुए केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने बोला कि बैठक में आर्थिक और गरीब कल्याण संकल्प प्रस्ताव पारित हुआ है.

उन्होंने बोला कि पीएम मोदी की गवर्नमेंट को 8 वर्ष पूरे हुए हैं. हिंदुस्तान में गरीबों की चिंता हमारी अहमियत रही है. कोविड-19 के उपरान्त राष्ट्र की वित्तीय आंकड़े बहुत ही उत्साहजनक है. 2021-22 में 8.7% की विकास रेट आप सभी के सामने है. इसी बीच में राष्ट्र का एक्सपोर्ट बढ़ा है, राष्ट्र में एफडीआई अधिक आई है. पिछले 8 सालों में राष्ट्र में GST से लेकर पीएलआई तक अनेक फैसला लिए गए हैं.

रोजगार पर आगे बढ़े
प्रधान ने कहां की कोविड-19 के समय में पीएम मोदी ने आत्मनिर्भर हिंदुस्तान की कल्पना की और दो वर्ष में उस पर काम करते हुए मजबूती से उभरे. 2014 में जो निराशा की विरासत मिली थी और जो नीति पंगुता की हालत थी, उसे इस गवर्नमेंट की पूरी यात्रा में विश्वास और दृड़ता के रूप में सामने लाया गया. कोविड-19 प्रबंधन और टीकाकरण को लेकर सारे विश्व में हिंदुस्तान की सराहना की गई. उन्होंने रोजगार, हाल में सेना में भर्ती को लेकर लाई गई योजना का भी समर्थन किया और बोला कि रोजगार के मोर्चे पर नौकरियां बढ़ाने के साथ स्टार्टअप और यूनिकॉर्न की कामयाबी भी सामने आई है.

मोदी का जोरदार स्वागत
इसके पहले बैठक में पहुंचने पीएम मोदी का जोरदार स्वागत किया गया. तेलंगाना की सांस्कृतिक और परंपरागत संस्कृति की झलक इस दौरान दिखाई दी. देर रात तक चली बैठक में पार्टी ने आने वाले गुजरात और हिमाचल प्रदेश के चुनाव को लेकर वहां के प्रदेश अध्यक्षों से जानकारी ली. इसके अतिरिक्त हाल में हुए विभिन्न राज्यों के उपचुनाव और चार राज्यों के विधानसभा चुनावों में मिली कामयाबी पर भी चर्चा की गई.

शाह रखेंगे सियासी प्रस्ताव
रविवार को कार्यकारिणी के दूसरे दिन के एजेंडे में पार्टी अपना सबसे हम सियासी प्रस्ताव पारित करेगी. इसे गृहमंत्री अमित शाह पेश करेंगे. इसके अतिरिक्त पीएम मोदी का समाप्ति भाषण सबसे अहम होगा. बाद में हैदराबाद के परेड ग्राउंड में मोदी एक बड़ी रैली को भी संबोधित करेंगे.