लाश बन बचाई 4 जिंदगियां: मौत से हारी ये महिला, लेकिन...

लाश बन बचाई 4 जिंदगियां: मौत से हारी ये महिला, लेकिन...

नई दिल्ली: दिल्ली से लगे हुए यूपी के गाजियाबाद में एक महिला ने जिंदगी गंवा कर चार लोगों को जीवन को बेशकीमती उपहार दिया। जिसको वो हमेशा याद रखेंगे। असल में 41 साल की महिला रफत परवीन को बीते हफ्ते ब्रेन हेमरेज के बाद वैशाली के मैक्स सुपर स्पेशियलिटी हास्पिटल में भर्ती कराया गया। जहां उसकी हालत लगातार बिगड़ती गई। जिसको डॉक्टरों की एक पूरी टीम ने बचाने की काफी कोशिशें की, लेकिन वो महिला को किसी कीमत पर बचा नहीं पाए और उसे ब्रेन डेड घोषित कर दिया गया।

चार मरीजों को नया जीवन
सामने आई रिपोर्ट्स के अनुसार, इस महिला के मस्तिष्क में ब्लड क्लॉट्स यानी खून के थक्के जमा हो जाने की वजह से उसे बचाया नहीं जा सका। इसके बाद मृतक महिला रफत परवीन के परिवार वालों की मंजूरी के बाद उसके दिल (हर्ट), गुर्दे (किडनी) और जिगर (लीवर) को ऑपरेशन के जरिए बाहर निकाला गया, जिससे चार मरीजों को नया जीवन मिल गया।

इस बारे में मैक्स अस्पताल के आपरेशनल हेड डॉ गौरव अग्रवाल ने बताया कि परिवार की इजाजत मिलने के बाद, उन्होंने तुरंत राष्ट्रीय अंग और ऊतक प्रत्यारोपण संगठन को सूचित किया, जिसने अंगों को जरूरतमंद मरीज के लिए आवंटित किया गया।

इसके बाद अलग-अलग टीमों ने रात में ही ऑपरेशन के जरिए अंगों को ब्रेन डेड महिला के शरीर से निकाला और उसे दूसरे मरीज में प्रत्यारोपित किया गया। फिर वहीं हर्ट को एम्बुलेंस के माध्यम से ग्रीन कॉरिडोर बनाकर मैक्स सुपर स्पेशलिटी अस्पताल, साकेत में स्थानांतरित किया गया था, जहां मरीज की प्रत्यारोपण सर्जरी की गई।

लीवर का प्रत्यारोपण
आगे उन्होंने बताया कि हमारे अस्पताल में भर्ती दो जरूरतमंद मरीजों में एक को किडनी और दूसरे मरीज के शरीर में लीवर का प्रत्यारोपण किया गया था।

ऑपरेशनल डॉ गौरव ने बताया कि दूसरी किडनी को एंबुलेंस में सिर्फ 45 मिनट में आर्टेमिस अस्पताल, गुरुग्राम पहुंचाया गया। मैक्स हेल्थकेयर के अधिकारियों ने कहा कि हर्ट के निर्बाध हस्तांतरण के लिए वैशाली और साकेत अस्पतालों के बीच गाजियाबाद और दिल्ली पुलिस द्वारा एक ग्रीन कॉरिडोर बनाया गया था। शुक्रवार को 1.58 बजे केवल 18 मिनट में 23.8 किमी की दूरी तय की गई थी।

वहीं इस बारे में मैक्स साकेत में हार्ट ट्रांसप्लांट और एलवीएडी कार्यक्रम के निदेशक डॉ केवल कृष्ण ने कहा, “हर्ट को उत्तराखंड के 56 वर्षीय एक मरीज में प्रत्यारोपित किया गया है। जबकि मरीज के हर्ट ने काम करना बंद कर दिया था। लेकिन अब ट्रांसप्लांट के बाद मरीज रिकवर कर रहा है। उसकी तबीयत में सुधार भी हुआ है।


सतीश पूनिया ने कहा कि राजस्थान में सीएम वर्चुअल, जनता के हितों से कोई सरोकार नहीं

सतीश पूनिया ने कहा कि राजस्थान में सीएम वर्चुअल, जनता के हितों से कोई सरोकार नहीं

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने सरकार की वर्चुअल मुलाकातों बयान जारी कर पर सरकार को कठघरे में खड़ा किया है पूनिया ने बोला कि प्रदेश की कांग्रेस पार्टी सरकार वर्चुअल है सीएम वर्चुअल हैं और अगले चुनाव में इनको वोट भी वर्चुअल ही मिलेंगे, क्योंकि ऐसी जनविरोधी और वादाखिलाफी वाली सरकार से जनता किनारा कर लेगी पूनिया ने बोला कि जनता भी इनसे वर्चुअल जैसा ही व्यवहार करेगी

पूनिया ने बोला कि सीएम अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) पिछले लगभग डेढ़ वर्ष से अपने घर से सीएम कार्यालय तक भी नहीं गए और ना ही प्रदेश में कहीं दौरे पर गए सतीश पूनिया ने बोला कि सीएम जनता से भी नहीं मिले हैं भाजपा प्रदेशाध्यक्ष ने बोला कि ऐसे में अंदाजा लगाया जा सकता है कि इनको प्रदेश की जनता की बिल्कुल चिंता नहीं है और बहन-बेटियों की सुरक्षा को लेकर भी सीएम गंभीर नहीं हैं क्योंकि प्रदेश में आए दिन दुष्कर्म, गैंगरेप के मुद्दे आ रहे हैं, लेकिन सीएम जो गृहमंत्री भी हैं, वे कोई ठोस एक्शन प्लान बनाने के बजाय केवल वर्चुअल बैठकों में व्यस्त रहते हैं

 उन्होंने बोला कि सीएम तो वर्चुअली सरकार चला ही रहे हैं, लेकिन इनके प्रभारी मंत्रियों ने भी जनता से पूरी तरह दूरी बना रखी है कोविड-19 काल में भी इनका एक भी मंत्री जनता की सुध लेने नहीं पहुंचा इससे साफ है कि जब राजा ही प्रजा के हाल नहीं पूछ रहा तो मंत्री भी क्यों पूछे, इसी ढर्रे पर सरकार चल रही है

पूनिया का बोलना है कि कोविड से संक्रमित होने के बाद स्वस्थ्य होकर उत्तरप्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ, मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान, गुजरात के सीएम विजय रूपाणी ने अपने-अपने प्रदेश के दौरे किए और जनता से लगातार सम्पर्क में रहे उन्होंने हॉस्पिटल ों की व्यवस्थाएं मजबूत की, जमीन पर कार्य भी किया, लेकिन सीएम गहलोत केवल वर्चुअल ढंग से ही सरकार चला रहे हैं, जिससे वादे पूरे नहीं हो रहे और प्रदेश की जनता में आक्रोश है

उन्होंने बोला कि प्रदेश के किसानों से सम्पूर्ण कर्जमाफी का वादा अभी तक सीएम ने पूरा नहीं किया और ना ही भर्तियां पूरी कर रहे हैं पूनिया ने बोला कि आज प्रदेश का युवा विभिन्न भर्तियों को पूरी करने के लिए आंदोलनरत है, लेकिन सीएम का किसानों, युवाओं और आमजन के हितों से कोई सरोकार नहीं है


Salman Khan के साथ वीर की शूटिंग करते वक्त ऐसा हो गया था जरीन खान का हाल       विक्की कौशल, रणवीर सिंह या रणबीर कपूर? जानें       बुजुर्ग के साथ बदसलूकी की घटना पर स्वरा भास्कर को बोलना पड़ा भारी, ट्रोलर्स बोले...       विराट-अनुष्का के रास्ते पर बढ़े केएल राहुल और अथिया शेट्टी       पासपोर्ट रिन्यू न होने को लेकर महाराष्ट्र सरकार पर फूटा कंगना रनोट का गुस्सा       पासपोर्ट विवाद के बीच कंगना रनोट को आई फिल्म की याद, कहा...       Govinda ने पत्नी सुनीता आहूजा का खास अंदाज में मनाया 50वां जन्मदिन       Sonu Sood की बढ़ी मुश्किलें, कोरोना की दवाई को लेकर मुंबई उच्च न्यायालय ने दिए जांच के आदेश       Akshay Kumar और ट्विंकल खन्ना की शादी की 20 वर्ष बाद तस्वीरें हुईं लीक       Rakhi Sawant ने लगवाई कोरोना वैक्सीन की पहली डोजी       बेहतरीन एक्टर के साथ कामयाब बिज़नेसमैन, इतने करोड़ की संपत्ति के मालिक़ हैं डिस्को डांसर       म्यांमार के काया क्षेत्र में युद्ध विराम, संयुक्त राष्ट्र ने किया हस्तक्षेप, करीब एक लाख लोगों को पहुंचा था नुकसान       ट्रान्स अटलांटिक संबंधों के नवीनीकरण में यूरोपीय संघ के व्यापार युद्ध को समाप्त करने की हुई कोशिश       दुनियाभर में मशहूर फर्नीचर ब्रांड पर कोर्ट ने लगाया जुर्माना       अमेरिका व ईयू के बीच सालों पुराना व्यापारिक विवाद खत्म, पुतिन से मुलाकात से पहले बाइडन का पक्ष मजबूत!       मध्य नेपाल में बाढ़ के कहर से एक की मौत, कई लोगों के लापता होने की आशंका       चीन के 28 लड़ाकू विमानों ने फिर ताइवान के एयरस्पेस में भरी उड़ान       ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न में कोरोना वायरस के प्रकोप के बावजूद लोगों को शहर छोड़ने की मिली अनुमति       जरायल ने गाजा पर किए हवाई हमले, सेना ने पुष्टि कर कहा...       कैलिफोर्निया में वैक्सीन जैकपॉट, जानें दस विजेताओं को मिलेगी कितनी धनराशि