मायावती ने कहा कि मजदूरों के पलायन के मामले पर नाटक कर रहे हैं सीएम Kejriwal

मायावती ने कहा कि मजदूरों के पलायन के मामले पर नाटक कर रहे हैं सीएम Kejriwal

बसपा (बसपा) की सुप्रीमो मायावती (Mayawati) ने दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) के उस बयान को 'नाटक' करार दिया है, जिसमें उन्होंने लोगों से राष्ट्रीय राजधानी से पलायन नहीं करने की अपील की थी साथ ही मायावती ने गरीबों, दलितों एवं आदिवासी समुदायों के लोगों का नि:शुल्क टीकाकरण किए जाने की मांग भी की है

बसपा नेता ने ट्वीट कर कहा, 'दिल्ली के सीएम ने हाथ जोड़कर है बोला कि दिल्ली के लोग पलायन न करें उन्होंने यही नाटक कोविड-19 वायरस की पहली लहर के दौरान भी किया था महाराष्ट्र, हरियाणा, पंजाब आदि राज्यों में भी अब यही देखने को मिल रहा है अब पंजाब के लुधियाना से भी बड़ी संख्या में लोग पलायन कर रहे हैं यह अति-दुःखद है '

उन्होंने आगे कहा, 'यदि इन जगहों की प्रदेश सरकारें इन लोगों में विश्वास पैदा करके उनकी जरूरतों को समय से पूरा कर देतीं तो ये लोग पलायन नहीं करते ये प्रदेश सरकारें इस मुद्दे में अपनी कमियों को छिपाने के लिए भिन्न-भिन्न तरह की नाटकबाजी कर रही हैं यह किसी से छिपा नहीं है '

1. केवल हाथ जोड़कर दिल्ली के मुख्यमंत्री का यह बोलना कि दिल्ली से लोग पलायन न करें, यही नाटक कोविड-19 के दौरान् पहले भी किया गया था. यह सब अब महाराष्ट्र, हरियाणा और पंजाब आदि राज्यों में भी देखने के लिए मिल रहा है. अब पंजाब में लुधियाना से भी लोग बहुत ज्यादा पलायन कर रहे हैं, यह अति-दुःखद. 1/3

उत्‍तर प्रदेश की पूर्व मुख्‍यमंत्री मायावती ने यह मांग भी की है कि पूरे देश में गरीबों, दलितों एवं आदिवासी समुदायों के लोगों का नि:शुल्क टीकाकरण किया जाना चाहिए और उनकी आर्थिक सहायता भी की जानी चाहिए

बता दें कि कोविड-19 की दूसरी लहर पूरे देश में जमकर कहर बरपा रही है बीते 15 दिनों से 3 लाख से ज्‍यादा और 3 दिनों से प्रतिदिन 4 लाख से ज्‍यादा मुद्दे सामने आ रहे हैं मौतों के आंकड़े भी भयावह हैं इसके चलते कई राज्‍यों और केन्द्र शासित प्रदेशों ने लॉकडाउन की घोषणा कर दी है दिल्‍ली में भी दशा बेकार हैं और कोविड-19 की पहली लहर के बाद कार्य पर लौटे श्रमिकों के सामने रोजगार का संकट खड़ा हो रहा है वे डर के कारण पलायन कर रहे हैं, जिन्‍हें रोकने के लिए केजरीवाल ने यह अपील की थी


सतीश पूनिया ने कहा कि राजस्थान में सीएम वर्चुअल, जनता के हितों से कोई सरोकार नहीं

सतीश पूनिया ने कहा कि राजस्थान में सीएम वर्चुअल, जनता के हितों से कोई सरोकार नहीं

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने सरकार की वर्चुअल मुलाकातों बयान जारी कर पर सरकार को कठघरे में खड़ा किया है पूनिया ने बोला कि प्रदेश की कांग्रेस पार्टी सरकार वर्चुअल है सीएम वर्चुअल हैं और अगले चुनाव में इनको वोट भी वर्चुअल ही मिलेंगे, क्योंकि ऐसी जनविरोधी और वादाखिलाफी वाली सरकार से जनता किनारा कर लेगी पूनिया ने बोला कि जनता भी इनसे वर्चुअल जैसा ही व्यवहार करेगी

पूनिया ने बोला कि सीएम अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) पिछले लगभग डेढ़ वर्ष से अपने घर से सीएम कार्यालय तक भी नहीं गए और ना ही प्रदेश में कहीं दौरे पर गए सतीश पूनिया ने बोला कि सीएम जनता से भी नहीं मिले हैं भाजपा प्रदेशाध्यक्ष ने बोला कि ऐसे में अंदाजा लगाया जा सकता है कि इनको प्रदेश की जनता की बिल्कुल चिंता नहीं है और बहन-बेटियों की सुरक्षा को लेकर भी सीएम गंभीर नहीं हैं क्योंकि प्रदेश में आए दिन दुष्कर्म, गैंगरेप के मुद्दे आ रहे हैं, लेकिन सीएम जो गृहमंत्री भी हैं, वे कोई ठोस एक्शन प्लान बनाने के बजाय केवल वर्चुअल बैठकों में व्यस्त रहते हैं

 उन्होंने बोला कि सीएम तो वर्चुअली सरकार चला ही रहे हैं, लेकिन इनके प्रभारी मंत्रियों ने भी जनता से पूरी तरह दूरी बना रखी है कोविड-19 काल में भी इनका एक भी मंत्री जनता की सुध लेने नहीं पहुंचा इससे साफ है कि जब राजा ही प्रजा के हाल नहीं पूछ रहा तो मंत्री भी क्यों पूछे, इसी ढर्रे पर सरकार चल रही है

पूनिया का बोलना है कि कोविड से संक्रमित होने के बाद स्वस्थ्य होकर उत्तरप्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ, मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान, गुजरात के सीएम विजय रूपाणी ने अपने-अपने प्रदेश के दौरे किए और जनता से लगातार सम्पर्क में रहे उन्होंने हॉस्पिटल ों की व्यवस्थाएं मजबूत की, जमीन पर कार्य भी किया, लेकिन सीएम गहलोत केवल वर्चुअल ढंग से ही सरकार चला रहे हैं, जिससे वादे पूरे नहीं हो रहे और प्रदेश की जनता में आक्रोश है

उन्होंने बोला कि प्रदेश के किसानों से सम्पूर्ण कर्जमाफी का वादा अभी तक सीएम ने पूरा नहीं किया और ना ही भर्तियां पूरी कर रहे हैं पूनिया ने बोला कि आज प्रदेश का युवा विभिन्न भर्तियों को पूरी करने के लिए आंदोलनरत है, लेकिन सीएम का किसानों, युवाओं और आमजन के हितों से कोई सरोकार नहीं है


Sidharth Malhotra की तस्वीर पर अभिनेत्री कियारा आडवाणी ने किया रिएक्ट, लिखा...       टीएमसी एमपी-एक्ट्रेस नुसरत जहां ने प्रेग्नेंसी की ख़बरों के बाद पहली बार शेयर की फोटो, लिखा...       Shilpa Shetty के पति राज कुंद्रा ने शेयर किया ‘मनी हाइस्ट’ का पंजाबी वर्जन       Sridevi की बेटी जाह्नवी कपूर की बिकिनी तस्वीरें इंटरनेट पर हुईं वायरल       Salman Khan के साथ वीर की शूटिंग करते वक्त ऐसा हो गया था जरीन खान का हाल       विक्की कौशल, रणवीर सिंह या रणबीर कपूर? जानें       बुजुर्ग के साथ बदसलूकी की घटना पर स्वरा भास्कर को बोलना पड़ा भारी, ट्रोलर्स बोले...       विराट-अनुष्का के रास्ते पर बढ़े केएल राहुल और अथिया शेट्टी       पासपोर्ट रिन्यू न होने को लेकर महाराष्ट्र सरकार पर फूटा कंगना रनोट का गुस्सा       पासपोर्ट विवाद के बीच कंगना रनोट को आई फिल्म की याद, कहा...       Govinda ने पत्नी सुनीता आहूजा का खास अंदाज में मनाया 50वां जन्मदिन       Sonu Sood की बढ़ी मुश्किलें, कोरोना की दवाई को लेकर मुंबई उच्च न्यायालय ने दिए जांच के आदेश       Akshay Kumar और ट्विंकल खन्ना की शादी की 20 वर्ष बाद तस्वीरें हुईं लीक       Rakhi Sawant ने लगवाई कोरोना वैक्सीन की पहली डोजी       बेहतरीन एक्टर के साथ कामयाब बिज़नेसमैन, इतने करोड़ की संपत्ति के मालिक़ हैं डिस्को डांसर       म्यांमार के काया क्षेत्र में युद्ध विराम, संयुक्त राष्ट्र ने किया हस्तक्षेप, करीब एक लाख लोगों को पहुंचा था नुकसान       ट्रान्स अटलांटिक संबंधों के नवीनीकरण में यूरोपीय संघ के व्यापार युद्ध को समाप्त करने की हुई कोशिश       दुनियाभर में मशहूर फर्नीचर ब्रांड पर कोर्ट ने लगाया जुर्माना       अमेरिका व ईयू के बीच सालों पुराना व्यापारिक विवाद खत्म, पुतिन से मुलाकात से पहले बाइडन का पक्ष मजबूत!       मध्य नेपाल में बाढ़ के कहर से एक की मौत, कई लोगों के लापता होने की आशंका