सोनीपत में हादसा: टिकरी बॉर्डर जा रहे पंजाब के किसानों को ट्रक ने मारी टक्कर, 20 फुट तक घसीटा, एक की मौत

सोनीपत में हादसा: टिकरी बॉर्डर जा रहे पंजाब के किसानों को ट्रक ने मारी टक्कर, 20 फुट तक घसीटा, एक की मौत

रोहतक-पानीपत हाईवे पर बुधवार रात गांव माहरा के पास पंजाब के किसानों की ट्राली को ट्रक ने टक्कर मार दी। ट्रक दो किसानों को करीब 20 फुट तक घसीटते ले गया। हादसे में एक किसान की मौत हो गई और दूसरे की हालत गंभीर बनी हुई है। घटना से नाराज किसानों ने करीब दो घंटे हाईवे पर जमकर हंगामा किया और जाम लगा दिया। मृतक किसान की पहचान बलजीत सिंह के रूप में हुई है।

पुलिस ने मौके पर पहुंचकर किसानों को शांत करा जाम खुलवाया और शव को गोहाना के नागरिक अस्पताल में रखवाया। बुधवार रात को पंजाब के बरनाला जिले के गांव डेलवा के 35 किसान दो ट्रैक्टर ट्राली में सवार होकर टिकरी बॉर्डर पर धरने में शामिल होने जा रहे थे। जब वह गोहाना के पास रोहतक-पानीपत हाईवे पर स्थित गांव माहरा के पास पहुंचे तो वहां एक ढाबे के पास खाना खाने को रुके, यहां पर किसान बलजीत सिंह ट्राली के पीछे खड़ा था। इसी दौरान पीछे से एक ट्रक ने उसे टक्कर मार दी, किसान ट्राली और ट्रक के बीच आ गया। इसी बीच ट्राली में बैठे बलवंत सिंह भी सिलिंडर से टकराकर घायल हो गए। 

बलजीत सिंह को ट्रक चालक करीब 20 फुट तक घसीटते ले गया और मौके से ट्रक लेकर भाग निकला। इससे गुस्साए किसानों ने हाईवे जाम कर दिया। मौके पर पहुंची बरोदा थाना पुलिस ने करीब दो घंटे बाद जाम खुलवाया और शव को गोहाना के नागरिक अस्पताल में पहुंचाया। पुलिस मामले की जांच कर रही है। पंजाब के किसानों ने मृतक किसान के बेटे को सरकारी नौकरी देने व आर्थिक मदद की मांग की है।


पाकिस्तान ने सात देशों पर लगाया यात्रा प्रतिबंध, ओमीक्रोन से दुनिया में बढ़ी दहशत

पाकिस्तान ने सात देशों पर लगाया यात्रा प्रतिबंध, ओमीक्रोन से दुनिया में बढ़ी दहशत

कोरोना वायरस के नए वैरिएंट 'ओमीक्रोन' ने दुनियाभर में हड़कंप मचा दिया है। पाकिस्तान ने एहतियात बरतते हुए सात देशों की यात्रा पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया है। डान की रिपोर्ट के अनुसार, नेशनल कमांड एंड आपरेशन सेंटर (एनसीओसी) द्वारा जारी एक अधिसूचना के मुताबिक, छह दक्षिणी अफ्रीकी देशों के साथ-साथ हांगकांग की यात्रा पर रोक लगा दी गई है। इन दक्षिणी अफ्रीकी देशों में दक्षिण अफ्रीका, लेसोथो, इस्वातिनी, मोजाम्बिक, बोत्सवाना और नामीबिया शामिल हैं।

विश्व स्वास्थ्य संगठन को इस वैरिएंट के पहले मामले की जानकारी 24 नवंबर को दक्षिण अफ्रीका से मिली थी। इसके अलावा बेल्जियम, हांगकांग, इजरायल और बोत्सवाना में भी इस वैरिएंट की पहचान की गई है। डब्ल्यूएचओ ने इस वैरिएंट को लेकर चिंता जताई है। बताया जा रहा है कि यह काफी खतरनाक है। इसके मद्देनजर कई देशों ने एहतियातन दक्षिण अफ्रीका से आने-जाने पर प्रतिबंध लगाने का फैसला किया है।

अब तक ये देश लगा चुके हैं प्रतिबंध

दक्षिणी अफ्रीकी देशों के लिए उड़ानों पर पाबंदी लगाने वाले देशों की संख्या बढ़ती जा रही है। यूरोपीय संघ के सदस्य देश, ब्रिटेन और पाकिस्तान सात अफ्रीकी देशों के लिए यात्रा पर पाबंदी लगा चुके हैं। इनके अलावा, आस्ट्रेलिया, सऊदी अरब, ब्राजील, कनाडा, ईरान, जापान थाइलैंड, श्रीलंका, बांग्लादेश और अमेरिका समेत कई देशों ने भी यात्रा पर प्रतिबंध लगाने का फैसला किया है। ब्राजील ने दक्षिणी अफ्रीकी देशों से लगने वाली अपनी सीमाओं को भी सील करने का फैसला किया है। वहीं, दक्षिण अफ्रीका के स्वास्थ्य मंत्री ने तमाम देशों की तरफ से उठाए जा रहे इस कदम को अनुचित बताया है और कहा है कि अभी इसकी पुष्टि नहीं हुई है कि नया वैरिएंट मौजूदा वैक्सीन के असर को बेअसर कर सकता है और अधिक संक्रामक है। इसके अलावा डब्ल्यूएचओ ने भी सभी राष्ट्रों से जल्दबाजी में कोई भी प्रतिबंधात्मक कदम नहीं उठाने की अपील की है।