मोदी का बंगाल दौरा, देगा बड़ा सियासी संदेश

मोदी का बंगाल दौरा, देगा बड़ा सियासी संदेश

नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनावों को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आज होने वाला राज्य का दौरा काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है। नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोलकाता पहुंचेंगे और विभिन्न कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगे।

नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती पर पीएम मोदी कोलकाता में
हालांकि इस दौरान प्रधानमंत्री किसी सियासी कार्यक्रम में हिस्सा नहीं लेंगे मगर उनका पश्चिम बंगाल दौरा सियासी नजरिए से बड़ा संदेश देने वाला साबित हो सकता है। यही कारण है कि टीएमसी सहित सभी सियासी दलों की नजर पीएम मोदी के दौरे पर लगी हुई है।

नेताजी की जयंती को मोदी ने दी अहमियत
बंगाली अस्मिता के प्रतीकों में नेताजी सुभाष चंद्र बोस का प्रमुख स्थान है और उनसे जुड़े कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए ही पीएम मोदी कोलकाता पहुंच रहे हैं।

कोरोना संकटकाल में प्रधानमंत्री ने अधिकांश कार्यक्रमों में वर्चुअल ढंग से ही हिस्सा लिया है मगर नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती पर आयोजित कार्यक्रमों को महत्व देते हुए पीएम मोदी ने खुद कोलकाता पहुंचने का फैसला किया है। इससे समझा जा सकता है कि पीएम मोदी इस कार्यक्रम को कितना महत्व दे रहे हैं।

बंगाल में सियासी मुद्दा बनी नेताजी की जयंती
पश्चिम बंगाल के विधानसभा चुनाव में नेताजी की 125वीं जयंती भी सियासी मुद्दा बन चुकी है। केंद्र सरकार की ओर से नेताजी की जयंती को पराक्रम दिवस के रूप में मनाने का एलान किया गया है।

पीएम मोदी शनिवार को पश्चिम बंगाल में कई कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगे। वे नेशनल लाइब्रेरी में नेताजी पर इंटरनेशनल सेमिनार को संबोधित करने के बाद विक्टोरिया मेमोरियल में एक कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे। मोदी नेताजी के पत्रों पर आधारित किताब का लोकार्पण करने के साथ ही आईएनए के सेनानियों और स्वतंत्रता सेनानियों को सम्मानित भी करेंगे।

टीएमसी की ओर से कई कार्यक्रमों का आयोजन
नेताजी की जयंती को पराक्रम दिवस के रूप में मनाने की घोषणा पर तृणमूल कांग्रेस ने तंज भी कसा है। पार्टी का कहना है कि विधानसभा चुनावों के कारण भाजपा को नेताजी की याद आई है। पार्टी की ओर से नेताजी की जयंती को देशनायक दिवस के तौर पर मनाने की घोषणा की गई है।

टीएमसी ने नेताजी की जयंती पर कई कार्यक्रमों का आयोजन किया है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पार्टी की ओर से आयोजित इन कार्यक्रमों में हिस्सा लेकर बड़ा संदेश देना चाहती हैं।

कोलकाता की सड़कों पर ताकत दिखाएंगी ममता
नेताजी की जयंती पर जहां पीएम मोदी विभिन्न कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगे, वहीं ममता कोलकाता की सड़कों पर शक्ति प्रदर्शन करेंगी। तृणमूल कांग्रेस की ओर से नौ किलोमीटर लंबे जुलूस का आयोजन किया गया है जो कोलकाता के प्रमुख इलाकों से होकर गुजरेगा।

इसकी अगुवाई खुद ममता बनर्जी करेंगी। मोदी के कार्यक्रमों में शामिल होने के लिए ममता बनर्जी को भी आमंत्रण भेजा गया है मगर अभी तक यह साफ नहीं हो सका है कि ममता मोदी के कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगी या नहीं।

सियासी फायदा उठाने की कोशिश
सियासी जानकारों का मानना है कि विधानसभा चुनाव में पूरी ताकत झोंकने वाली भाजपा नेताजी की जयंती पर मोदी के कार्यक्रमों के जरिए सियासी फायदा उठाने की कोशिश करेगी। पीएम मोदी ने भी नेताजी से जुड़े इस कार्यक्रम को अहमियत देते हुए खुद कोलकाता जाने का फैसला काफी समझ बूझ कर लिया है।

जल्द ही चुनावी दौरा भी करेंगे मोदी
हालांकि अभी तक उन्होंने पश्चिम बंगाल के विधानसभा चुनाव के सिलसिले में किसी चुनावी रैली को संबोधित नहीं किया है मगर जल्द ही उनका चुनावी दौरा भी संभावित है। पार्टी से जुड़े सूत्रों का कहना है कि अभी भाजपा की ओर से केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा पश्चिम बंगाल में चुनावी कार्यक्रमों में हिस्सा लेते रहेंगे मगर राज्य में विधानसभा चुनावों की तारीखों के एलान के बाद पीएम मोदी का कार्यक्रम भी तय किया जाएगा।

शनिवार को नेताजी से जुड़े कार्यक्रमों में पीएम मोदी और ममता दोनों के हिस्सा लेने के कारण यह देखने वाली बात होगी कि कौन इसका ज्यादा सियासी फायदा उठा पाता है।


बारिश होगी फिर से, 5 मार्च से गिरेगा झमाझम पानी

बारिश होगी फिर से, 5 मार्च से गिरेगा झमाझम पानी

मौसम विभाग ने पहाड़ी इलाकों पर एक बार फिर बारिश होने का अलर्ट जारी किया है। वैसे तो रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस साल काफी गर्मी पड़ने वाली है और कई राज्यों में अभी से तापमान गर्मं है लेकिन पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र में उभर रहे एक नए पश्चिमी विक्षोभ की वजह से 5 मार्च यानी शुक्रवार से बर्फबारी और बारिश के आसार हैं। इसके अलावा उत्तर भारत के मैदानी इलाकों में भी बादल छायें रहने और झमाझम बारिश होने की चेतावनी जारी की गयी है।

5 मार्च से इन इलाकों में बारिश का अलर्ट
दरअसल, बदलते मौसम के बीच आईएमडी ने 5 मार्च से बारिश का पूर्वानुमान बताया है। इसके तहत कल से बारिश और बर्फबारी होने के आसार है। पहाड़ी इलाकों में मौसम का ये रूप देखने को मिलेगा। बताया जा रहा है कि पश्चिमी विक्षोभ की वजह से जम्मू, कश्मीर, लद्दाख, गिलगित, बाल्टिस्तान और मुजफ्फराबाद, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड पांच और छह मार्च को बारिश और बर्फबारी हो सकती है।

7 मार्च को हरियाणा, चंडीगढ़ समेत दिल्ली-यूपी में बरसात
मौसम विभाग ने बताया है कि 6-7 मार्च को पंजाब में हल्की बारिश हो सकती है। इसके अलावा 7 मार्च को हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, पश्चिमी उत्तर प्रदेश में गरज के साथ हल्की बारिश हो सकती है व ओले पड़ सकते हैं जबकि सात मार्च को हरियाणा, चंडीगढ़ और पश्चिम उत्तर प्रदेश में बिजली चमकने और आंधी का अनुमान जताया है।

मौसम विभाग के मुताबिक, अगले 24 घंटों के दौरान हरियाणा, पंजाब, दिल्ली, चंडीगढ़ और उत्तर प्रदेश के कई इलाकों मे तेज हवाएं चलने की संभावना है। मौसम विभाग के मुतबाकि, 48 घंटों के दौरान जम्मू-कश्मीर, लद्दाख, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश और पूर्वोत्तर के कई इलाकों में गरज के साथ बारिश हो सकती है और बर्फबारी हो सकती है। 7 मार्च को सबसे खराब मौसम रहेगा और जम्मू कश्मीर से लेकर उत्तराखंड तक हल्की से मध्यम बारिश और बर्फबारी हो सकती है।

इन राज्यों में बारिश
मौसम विभाग ने संभावना जताई है कि कई राज्यों बारिश हो सकती है। मौसम विभाग के मुताबिक, हिमाचल, उत्तराखंड, अरुणाचल प्रदेश, मेघालय और असम में बारिश और बर्फबारी हो सकती है। उत्तराखंड मौसम विभाग ने बताया है कि चमोली, रुद्रप्रयाग, उत्तरकाशी और पिथौरागढ़ में अगले 4 दिनों तक हल्की बारिश और बर्फबारी हो सकती है। छह मार्च को राज्य में आकाशीय बिजली के गिरने और ओलावृष्टि की संभावना जताई है।


Atom 1.0 बाइक से केवल 7 रुपये में करें 100 किलोमीटर का सफर       गर्म पानी पीने से हो सकता है स्वास्थ्य को ये नुकसान!       नींद नहीं आती है रातों में? अपनाएं ये उपाय       उरी बेस कैंप पहुंचे Vicky Kaushal, इंडियन आर्मी संग फोटोज़ शेयर कर बोले...       ये प्यारी सी 'डिमांड' भी कर दी, Sonu Sood ने बिहार की बहन के लिए दिखाई दरियादिली       इस मंदिर में चढ़ाया जाता है इंसान के निजी अंग का डमी मॉडल, वजह जानकर हो जाएंगे हैरान       सेंसेक्स की शीर्ष 10 में से आठ कंपनियों का बाजार कैपिटलाइजेशन 1.94 लाख करोड़ रुपये बढ़ा       करोड़ों में लगी Twitter के CEO के पहले ट्वीट की बोली...       इस दिन लगेगा खरमास, जानें इस दौरान क्या करें       बस इन नियमों का करना होगा पालन, सूर्य देव को अर्घ्य देने से बन जाते हैं कैसे भी बिगड़े काम       RSWS 2021: इंग्लैंड ने बांग्लादेश लीजेंड्स को हराया, केविन पीटरसन की धुआंधार बैटिंग       खिताबी सिक्सर लगाने उतरेगी रोहित की मुंबई, RCB से खेलेगी पहला मैच       44 लेयर में भरी जाएगी राम मंदिर की 15 मीटर गहरी नींव, पारंपरिक शैली में होगा निर्माण       दुनियाभर में फैली दहशत, कोरोना महामारी पर WHO ने दी चेतावनी       आर्मी तक पहुंची वैक्सीन, रिटायर्ड सैन्य कर्मियों का टीकाकरण       गौतम बुद्ध के ये अनमोल वचन बदल देंगे आपकी जिंदगी       कब से शुरू हो रहा है खरमास, नहीं कर पाएंगे कोई शुभ कार्य       मार्च में है महाशिवरात्रि, होली, विजया एकादशी जैसे महत्वपूर्ण व्रत एवं त्योहार       समस्याओं से आप भी हैं परेशान, तो पढ़ें भगवान ​बुद्ध से जुड़ी यह प्रेरक कथा       महाशिवरात्रि के दिन करें ये उपाय, शिव जी प्रसन्न होकर कष्टों से देते हैं मुक्ति