ट्वीट कर कहा- मैं रास्ते में हूं, थोड़ी देर में पहुंच जाऊंगा कोलकाता

ट्वीट कर कहा- मैं रास्ते में हूं, थोड़ी देर में पहुंच जाऊंगा कोलकाता

कोलकाता: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 23 जनवरी को असम और पश्चिम बंगाल के दौरे पर हैं। असम के शिवसागर में प्रधानमंत्री मोदी ने 1 लाख 6 हजार असम के भूमिहीन लोगों को जमीनों का पट्टा दिया। इस मौके पर पीएम ने वहां एक जनसभा को संबोधित किया और कहा कि धरती हमारी माता के समान हैं।

इसके बाद प्रधानमंत्री का शाम 3:30 बजे नेशनल लाइब्रेरी में कार्यक्रम प्रस्तावित है। यहां वे आर्टिस्ट कैंप का दौरा करेंगे और नेताजी सुभाष चंद्र बोस पर आयोजित इंटरनेशनल सेमिनार में उनका सम्बोधन होगा। इसके बाद प्रधानमंत्री का विक्टोरिया मेमोरियल में कार्यक्रम है। वहां पर वे नेताजी को लेकर आयोजित स्थायी प्रदर्शनी का उद्घाटन करेंगे।

-पीएम मोदी ने कहा कि आज हमारी सरकार असम की जरूरतों की पहचान करके, हर जरूरी प्रोजेक्ट्स पर तेज़ी से काम कर रही है। पीएम ने कहा कि बीते 6 सालों से असम सहित पूरे नॉर्थ ईस्ट की कनेक्टिविटी और दूसरे इंफ्रास्ट्रक्चर का अभूतपूर्व विस्तार भी हो रहा है, आधुनिक भी हो रहा है।]

-पीएम ने कहा कि असम के हर क्षेत्र की हर जनजाति को साथ लेकर चलने की इसी नीति से आज असम शांति और प्रगति के मार्ग पर चल पड़ा है।

-पीएम मोदी ने कहा कि ऐतिहासिक बोडो समझौते से अब असम का एक बहुत बड़ा हिस्सा शांति और विकास के मार्ग पर लौट आया है। समझौते के बाद हाल में बोडोलैंड टेरिटोरियल काउंसिल के पहले चुनाव हुए, प्रतिनिधि चुने गए।

-मुझे विश्वास है कि अब बोडो टेरिटोरियल काउंसिल विकास और विश्वास के नए प्रतिमान स्थापित करेगी।

-पीएम मोदी ने कहा कि सबका साथ-सबका विकास, सबका विश्वास के मंत्र पर चल रही हमारी सरकार असम के हर हिस्से में, हर वर्ग को तेजी से विकास का लाभ पहुंचाने में जुटी है।

-चाय जनजाति का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि आज चाय जनजाति के घरों को शौचालय जैसी मूल सुविधाओं से जोड़ा जा रहा है।

-चाय जनजाति के अनेक परिवारों को भी ज़मीन का कानूनी अधिकार मिला है। चाय जनजाति के बच्चों की शिक्षा, स्वास्थ्य और रोज़गार की सुविधाओं पर ध्यान दिया जा रहा है। पहली बार उनको बैंक की सुविधाओं से जोड़ा गया है।

लोगों का आत्मविश्वास तभी बढ़ता है जब घर-परिवार में भी सुविधाएं मिलती हैं-पीएम मोदी
-पीएम मोदी ने कहा कि लोगों का आत्मविश्वास तभी बढ़ता है जब घर-परिवार में भी सुविधाएं मिलती हैं और बाहर का इंफ्रास्ट्रक्चर भी सुधरता है। बीते सालों में इन दोनों मोर्चों पर असम में अभूतपूर्व काम किया गया है।

-पीएम मोदी ने कहा कि आज असम की करीब 35 लाख गरीब बहनों की रसोई में उज्जवला का गैस कनेक्शन है। इसमें भी लगभग 4 लाख परिवार SC/ST वर्ग के हैं। 2014 में जब हमारी सरकार केंद्र में बनी तब असम में LPG कवरेज सिर्फ 40 प्रतिशत ही थी। अब उज्जवला की वजह से असम में LPG कवरेज बढ़कर करीब-करीब 99% हो गई है।

आत्मनिर्भर भारत के लिए असम और पूर्वोत्तर का तेजी से विकास जरूरी है।-पीएम मोदी
-पीएम मोदी ने कहा कि असम में पौने दो करोड़ लोगों के जन धन खाते मिले हैं। इन लोगों को कोरोना काल में सीधे पैसे दिए गए। उन्होंने कहा कि आत्मनिर्भर भारत के लिए असम और पूर्वोत्तर का तेजी से विकास जरूरी है।

-पीएम ने कहा कि केंद्र और राज्य का डबल इंजन पिछले 4 वर्षों में असम के घर हल में पानी पहुंचाने की कोशिश कर रहा है।

इस जमीन के एवज में लोन ले सकेंगे लोग-पीएम मोदी
-प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि अब इन परिवारों को भी किसान सम्मान निधि का लाभ मिलेगा और उनके खातों में सीधे पैसे ट्रांसफर होंगे। ये परिवार इस जमीन के एवज में बैंकों से लोन ले सकेंगे।

फिर पुलवामा जैसा हमला: घाटी में साजिश से सुरक्षा बल सतर्क, इस आतंकी की तलाश
1.06 लाख लोगों को जमीन को पट्टे
-असम के शिवसागर में प्रधानमंत्री मोदी ने 1 लाख 6 हजार असम के भूमिहीन लोगों को जमीनों का पट्टा दिया। इस मौके पर पीएम ने वहां एक जनसभा को संबोधित किया और कहा कि धरती हमारी माता के समान हैं।

-पीएम मोदी ने कहा कि पिछली सरकारों ने भूमिहीनों को जमीन देने में कोई रूचि नहीं दिखाई थी। लेकिन इस सरकार में सवा दो लाख परिवार को जमीन के पट्टे दिए गए अब एक लाख परिवार इसमें और जुड़ गए

एक मंच पर होंगे ममता और पीेेएम मोदी
-प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और ममता बनर्जी आज कोलकाता में एक मंच पर होंगे। कोलकाता में सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर आयोजित कार्यक्रम में शामिल होने के लिए केंद्र सरकार ने ममता बनर्जी को न्यौता दिया था, जिससे बंगाल की सीएम ने स्वीकार कर लिया है।

असम के शिवसागर पहुंचे पीएम मोदी
-प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी असम के शिवसागर जिले में पहुंच गए हैं। इससे पहले एयरपोर्ट पर सीएम सर्बानंद सोनोवाल ने पीएम मोदी का स्वागत किया। पीएम मोदी का कोरोना महामारी के बाद ये पहला असम दौरा है।  पीएम मोदी शिवसागर जिले में एक कार्यक्रम में शिरकत कर रहे हैं।

पुस्तक विमोचन के अलावा सिक्का और डाक टिकट करेंगे जारी
इस दौरान  प्रधानमंत्री नेताजी के पत्रों को संग्रहित कर प्रकाशित पुस्तक का विमोचन करेंगे और उनकी स्मृति में सिक्का, डाक टिकट भी जारी करेंगे। इससे पहले यहां पर सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित होंगे।

नेताजी की जयंती पर विक्टोरिया मेमोरियल में आयोजित पराक्रम दिवस समारोह में प्रधानमंत्री के साथ ही पश्चिम बंगाल के गवर्नर और सीएम दोनों ही मंच पर मौजूद होंगे।

यहीं पर शाम 5:57 बजे से प्रधानमंत्री का संबोधन है। 6:38 बजे प्रधानमंत्री रिमोट से प्रोजेक्शन मैपिंग शो की शुरुआत करेंगे। शाम 6:54 बजे से राष्ट्रगान होगा और कार्यक्रम के समापन के बाद पीएम मोदी 6:59 बजे विक्टोरिया मेमोरियल से निकल जाएंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज असम का भी दौरा करेंगे। यहां पीएम मोदी 1 लाख 6 हजार लाभार्थियों में भूमि के पट्टा आवंटन का प्रमाण पत्र सौपेंगे। असम के सिवसागर में ये पूरा कार्यक्रम होगा। मालूम हो कि असम सरकार स्थानीय निवासियों के हितों की रक्षा करने के लिए नई भूमि नीति लेकर आई है।

इस साल असम और बंगाल, दोनों ही राज्यों में विधानसभा का चुनाव होना हैं। असम में भाजपा की की सरकार है।

वहां पार्टी फिर से वापसी के लिए और बंगाल में टीएमसी को सत्ता से हटाने और भाजपा की सरकार बनाने के लिए ताकत लगा रही है। ऐसे में चुनावी सीजन में प्रधानमंत्री का दौरा भाजपा के लिहाज से कागी अहम माना जा रहा है।


जिनके निधन पर आज रो रहा देश का हर किसान, जानिए कौन हैं दातार सिंह

जिनके निधन पर आज रो रहा देश का हर किसान, जानिए कौन हैं दातार सिंह

अमृतसर: केंद्र सरकार के कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का आंदोलन आज भी जारी है। किसान संगठनों के नेताओं का कहना है जब तक सरकार उनकी मांगे पूरी नहीं कर देती उनका आंदोलन ऐसे ही आगे भी चलता रहेगा।

सोमवार को पंजाब के अमृतसर से एक ऐसी खबर आई है। जिससे किसानों आंदोलन में शोक की लहर देखने को मिल रही है। दरअसल अमृतसर में कीर्ति किसान यूनियन के प्रधान मास्टर दातार सिंह का हार्ट अटैक से आज निधन हो गया।

उन्हें हार्ट अटैक एक सभा के दौरान आया था। विरसा विहार में स्वतंत्रता सेनानी उजागर सिंह की याद में रखे गए कार्यक्रम को सम्बोधित करते के बाद दातार सिंह ने जैसे ही अपनी वाणी की विराम देने की कोशिश की। उन्हें हार्ट अटैक आ गया।

हार्ट अटैक के बाद उन्हें अस्पताल में ले जाया गया लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका। डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। उनके निधन की खबर जैसे ही पंजाब से होते सिंघु और गाजीपुर पर बैठे आंदोलनकारियों को हुई।

उनकी आंखें भर आई। दातार सिंह तीन दिन पहले ही दिल्ली धरने से लौटे थे और अमृतसर में एक कार्यक्रम में शामिल होने आए थे। उन्हें मंच पर बुलाकर सम्मानित भी किया जाना था लेकिन उससे पहले ही यह घटना हो गई।


मेरा समय खत्म होता है, इतना कहने के बाद जमीन पर गिर पड़े दातार सिंह
दातार सिंह आज सभा में किसान आंदोलन को लेकर मंच से अपने विचार रख रहे थे। अपनी बात पूरी करने के बाद दातार सिंह ने कहा, अलविदा! मेरा समय खत्म होता है।

इतना कहने के बाद जैसे ही वह कुर्सी पर बैठे उन्हें हार्ट अटैक की शिकायत हुई। जिसके बाद अस्पताल ले जाने के दौरान उनकी मौत हो गई।

दातार सिंह के निधन से किसान नेताओं और उनके चाहने वालों के बीच शोक की लहर दौड़ गई। उनके प्रशंसकों का कहना है कि दातार सिंह की कमी को कभी पूरा नहीं किया जा सकता है। वह हमेशा किसानों का हित चाहते थे। दातार सिंह कृषि कानून वापस लिए जाने को लेकर कई प्रदर्शनों में भी शामिल हुए थे।


मोदी सरकार की जमकर आलोचना की थी
उन्होंने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा था कि मोदी सरकार कृषि कानून का समाधान तलाशने के बजाए किसान नेताओं को बांटने में जुटी हुई है। उन्होंने कहा था कि सरकार जबतक कृषि कानून वापस नहीं ले लेती है तबतक किसान अपने घर नहीं जाएंगे।


Nia Sharma ने रवि दुबे को बताया 'बेस्ट किसर मैन' तो अब एक्टर ने किया रिएक्ट, कहा...       कल ओटीटी प्लेटफॉर्म पर रिलीज़ होंगी ये वेब सीरीज़ और फ़िल्में       Kiston Song: जाह्नवी कपूर-राजकुमार राव की फिल्म 'रूही' का दूसरा गाना 'किस्तों' रिलीज       Zeenat Aman के इंडस्ट्री में इतने साल पूरे होने पर भावुक हुईं पाकिस्तानी एक्ट्रेस सोमी अली       इस एक्ट्रेस के साथ जब शख्स ने भीड़ में की ऐसी हरकत, एक्ट्रेस भी हुईं हैरान       इन खिलाड़ियों को मिली जगह, इंग्लैंड के खिलाफ T20 सीरीज के लिए टीम इंडिया का ऐलान       जिम को देखकर चौंके भारतीय खिलाड़ी, दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम के मुरीद हुए क्रिकेटर       पहले उनके खिलाफ खेला, अब उनके साथ खेलने को बेताब हूं : राहुल तेवतिया       T20 सीरीज के लिए जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी का चयन क्यों नहीं हुआ       इंग्लैंड के खिलाफ T20 और वनडे सीरीज में कमेंट्री करेगा ये भारतीय विकेटकीपर       कस्तूरबा गांधी: सफलता के पीछे रहा अहम योगदान, बापू का हर कदम पर दिया साथ       जिनके निधन पर आज रो रहा देश का हर किसान, जानिए कौन हैं दातार सिंह       महाराष्ट्र में मचा हाहाकार, 34 जिलों में तत्काल हाई अलर्ट जारी       नारायणसामी ने दिया इस्तीफा: पुडुचेरी में गिरी कांग्रेस सरकार       7 बार चुनकर पहुंचे थे लोकसभा, मुंबई के होटल में मिला इस दिग्गज नेता का शव       लाइलाज नहीं है डिप्रेशन और कम उम्र में भी हो सकती है इसकी समस्या, जानें       बहुत ही आसानी से पा सकते हैं बढ़ते वजन से छुटकारा, बस करने होंगे रूटीन में ये जरूरी बदलाव       शुगर लेवल कंट्रोल करना है तो नाश्ते में शामिल करें ये 5 जादुई चीज़ें       डेंगू में रामबाण इलाज है बकरी का दूध, जानें       गर्मियों में कूल और हेल्दी रहने के लिए खाएं फ्रूट कस्टर्ड, जानें