गर्भावस्था में महिलाओं नहीं करना चाहिए इस दवाई का सेवन

गर्भावस्था में महिलाओं नहीं करना चाहिए इस दवाई का सेवन

प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं को अपने स्वास्थ्य का खास ख्याल रखना चाहिए। इसी के साथ कुछ एलोपैथिक दवाओं का दीर्घकालिक प्रयोग स्वास्थ्य के लिए हानिकारक माना जाता है। ऐसे में हाल ही में एक शोध में पता चला है कि गर्भावस्था के दौरान पैरासीटामोल का ज्यादा सेवन गर्भस्थ बालक शिशु के लिए हानिकारक साबित हो सकता है।

नहीं करना चाहिए इस दवाई का सेवन:

शोध में पाया गया है कि "गर्भावस्था के दौरान पैरासीटामोल के दीर्घकालिक प्रयोग से बालक शिशु में प्रजनन संबंधी विकार हो सकते हैं।" गर्भवती महिलाओं को दर्दनिवारक दवाओं की खुराक कम से कम बार और कम से कम मात्रा में लेना चाहिए क्योंकि यह उनके और उनके बच्चे दोनों के लिए जानलेवा हो सकती है।

हाल ही में हुए शोध में एक चूहे में टेस्टोस्टेरोन निर्माण पर पैरासीटामोल के प्रभाव का परीक्षण किया गया। वहीं इस शोध में सात दिन तक पैरासीटामोल के सेवन के बाद टेस्टोस्टेरोन में 45 फीसदी तक की कमी आई।गर्भवती स्त्रियों को अपने सेहत का ख़ास ध्यान देना चाहिए।


डायबिटीज के मरीजों के लिए अमृत समान है कच्ची हल्दी

डायबिटीज के मरीजों के लिए अमृत समान है कच्ची हल्दी

कोरोना काल में सेहतमंद रहना बड़ी चुनौती है। इसके लिए इम्यून सिस्टम पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है। विशेषज्ञों की मानें तो जिन लोगों का इम्यून सिस्टम कमजोर होता है, उन्हें कोरोना वायरस के संक्रमण का खतरा अधिक रहता है। इम्यून सिस्टम को मजबूत करने के लिए काढ़ा का सेवन करना चाहिए। डॉक्टर्स इम्यून सिस्टम मजबूत करने के लिए हल्दी दूध पीने की सलाह देते हैं। हल्दी मसाले के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। जबकि आयुर्वेद में हल्दी दवा के रूप में उपयोग किया जाता है। इसमें औषधीय गुण पाए जाते हैं जो कई तरह की बीमारियों में फायदेमंद होते हैं। आमतौर पर लोग हल्दी पाउडर का यूज़ करते हैं, लेकिन कच्ची हल्दी अधिक फायदेमंद होती है। खासकर डायबिटीज में कच्ची हल्दी रामबाण दवा है। अगर आप भी डायबिटीज के मरीज हैं और इससे निजात पाना चाहते हैं, तो आप कच्ची हल्दी का सेवन करें-

researchgate.net पर छपी एक लेख के अनुसार, कच्ची हल्दी डायबिटीज में बेहद फायदेमंद होती है। इसके सेवन से डायबिटीज में बड़ी जल्दी आराम मिलता है। हल्दी में करक्यूमिन पाया जाता है जो डायबिटीज को कंट्रोल करने में सहायक होता है। यह ग्लाइसीमिया को कम करता है। इसके लिए डायबिटीज के मरीजों को रोजाना सुबह में नाश्ते के वक्त  कच्ची हल्दी युक्त दूध का सेवन करना चाहिए।

वजन कम करने में सहायक है

विशेषज्ञ भी बढ़ते वजन को कम करने के लिए कच्ची हल्दी का सेवन करने की सलाह देते हैं। इस बारे में उनका कहना है कि करक्यूमिन से एक्स्ट्रा फैट बर्न होता है। इसके सेवन से बढ़ते वजन को नियंत्रित किया जा सकता है। इसके लिए कच्ची हल्दी को पीसकर दूध के साथ सेवन कर सकते हैं।


Samsung Galaxy S21 सीरीज के शानदार फोन लॉन्च       सिंह और धनु का भाग्य देगा साथ, राशिफल से जानें बाकी का हाल       लैंडलाइन से मोबाइल पर कॉल करने के लिए लगाना होगा ‘0’, आज से बदल गया नियम       Apple के प्रोडक्टस पर कैशबैक ऑफर, जानिए       रिलायंस जियो ने ग्राहकों को दिया बड़ा झटका!       केवल 25 में पाए लाखों का मुनाफा, यहां देखें पूरी जानकारी       सोने-चांदी के दाम में क्यों आ रहे उतार-चढ़ाव, ऐसे करें निवेश       यूपी: किन-किन जिलों में कल टीका लगेगा, कब पहुंचना होगा       खतरे में दुनिया, खत्म हो रहा जिंदगी जीने का सहारा       1.9 ट्रिलियन डॉलर के रिलीफ पैकज का ऐलान, जो बाइडन का अमेरिकियों को तोहफा       बांग्लादेश को आया गुस्सा! अमेरिका के बयान पर भड़का       कोरोना से दुनिया में तबाही, चमगादड़ों की मिली नई प्रजाति       भूकंप से बिछी लाशें, जोरदार झटकों से गिरी 60 से ज्यादा इमारतें       ट्रंप का चीन को बड़ा झटका! ब्लैकलिस्ट हुईं ये मशहूर कंपनियां       कैद हुई WHO टीम, अब तो चीन ने तोड़ दी सारी हदें       अमेरिका में कोरोना वायरस का कहर       नसों में उगा मशरूम, युवक की इस हरकत ने पहुंचाया अस्पताल       अमेरिकी कबूतर को सजा: तय किया 13 किमी का सफर, जाने       राष्ट्रपति जो बाइडेन खाते में भेजेंगे इतने रुपए, अमेरिका का हर आदमी होगा लखपति       अमेरिका में बिडेन का बड़ा ऐलान, सबको मिलेंगे 1-1 लाख रुपये