जब गर्म चीज से जल जाये जीभ तो अपनाएं ये तरीके

जब गर्म चीज से जल जाये जीभ तो अपनाएं ये तरीके

कई बार आप जल्दबाजी में खाने से या फिर अधिक गर्म  चाय पी लेने से आपकी जीभ जल जाती है और उसका आप कुछ भी नहीं कर पाते है। इसके कारण लोगों को खाने में परेशानी होती है। जीभ जलने की वजह से छाले भी पड़ जाते हैं। साथ ही जलन और सूजन की समस्या भी हो जाती है। लेकिन अगर आप दवा नहीं लगते हैं तो आपकी ये परेशानी बढ़ जाती है।

जल जाये जीभ तो अपनाएं ये तरीके:

# जीभ जलने पर दही खाना आपके लिए फायदेमंद हो सकता है। यह आपकी बर्निंग सेंसेशन को सही करने में मदद करता है। साथ ही जीभ जलने के कारण आपके खोए हुए टेस्ट को भी वापस लाता है।

# शहद में एंटी-इंफ्लेमेट्री और एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं जो जीभ जलने की समस्या को कम करता है। शहद जलन और सूजन को कम करने में मदद करता है और जल्द आराम भी दिलाता है।

# जीभ जलने पर चीनी खाने से आपको दर्द से जल्द आराम मिलेगा। इसलिए जीभ जलने पर आप तुरंत चीनी अपने मुंह में रख लें और उसे पिघलने का समय दें।


सेहत के लिए बड़े काम की है पुदीने की पत्त‍ियां, ये है 10 अचूक फायदे

सेहत के लिए बड़े काम की है पुदीने की पत्त‍ियां, ये है 10 अचूक फायदे

यूं तो पुदीना का प्रयोग स्वाद और औषधीय गुणों के लिए कभी भी किया जा सकता है, लेकिन अपनी ठंडक के कारण खास तौर से गर्मियों में यह बेहद फायदेमंद होता है। तो इन गर्मियों में जरूर जानें इसके 10 बेशकीमती गुण और खूब करें इसका प्रयोग.....

1. पेट की गर्मी को कम करने के लिए पुदीने का प्रयोग बेहद फायदेमंद है। इसके अलावा यह पेट से संबंधित अन्य समस्याओं से भी जल्द निजात दिलाने में लाभकारी है। इसका कोई साइड इफेक्ट भी नहीं है।

2. दिनभर बाहर रहने वाले लोगों को पैर के तलवों जलन की शिकायत रहती है, ऐसे में उन्हें फ्रिज में रखे हुए पुदीने को पीसकर तलवों पर लगाना चाहिए ताकि तुरंत राहत मिल सके। इससे पैरों की गर्मी भी कम होगी।

3. सूखा या गीला पुदीना छाछ, दही, कच्चे आम के पने के साथ मिलाकर पीने पर पेट में होने वाली जलन दूर होगी और ठंडक मिलेगी। गर्म हवाओं और लू से भी बचाव होगा।

4. अगर आपको अक्सर टॉंसिल्स की शिकायत रहती है और इसमें होने वाली सूजन से भी आप परेशान हैं तो पुदीने के रस में सादा पानी मिलाकर इस पानी से गरारे करना आपके लिए फायदेमंद होगा।

5. गर्मी में पुदीने की चटनी का रोजाना सेवन सेहत से जुड़े कई फायदे देता है। पुदीना, काली मिर्च, हींग, सेंधा नमक, मुनक्का, जीरा, छुहारा सबको मिलाकर चटनी पीस लें। यह चटनी पेट के कई रोगों से बचाव करती है व खाने में भी स्वादिष्ट होती है। भूख न लगने या खाने से अरुचि होने पर भी यह चटनी भूख को खोलती है।

6. पुदीने व अदरक का रस थोड़े से शहद में मिलाकर चाटने से खांसी ठीक हो जाती है।

7. पुदीने की पत्त‍ियों का लेप करने से कई प्रकार के चर्म रोगों को खत्म किया जा सकता है। घाव भरने के लिए भी यह उत्तम है।

8. पुदीने का नियमित रूप से सेवन आपको पीलिया जैसे रोगों से बचाने में सक्षम है। वहीं मूत्र संबंधी रोगों के लिए भी पुदीने का प्रयोग बेहद लाभदायक है। पुदीने के पत्त‍ियों को पीसकर पानी और नींबू के रस के साथ पीने से शरीर की आंतरिक सफाई होगी।

9. अगर आप लगातार हिचकी आने से परेशान हैं तो पुदीने में चीनी मिलाकर धीरे-धीरे चबाएं। कुछ ही देर में आप हिचकी से निजात पा लेंगे।

10. इसके अलावा गर्मी में पुदीने का लेप चेहरे पर लगाने से त्वचा की गर्मी समाप्त होगी और आप ताजगी का अनुभव करेंगे।