लड़कियों के वैजाइना के लिए सबसे ज्यादा खतरनाक हैं ये चीजें

लड़कियों के वैजाइना के लिए सबसे ज्यादा खतरनाक हैं ये चीजें

महिलाएं अपने प्राइवेट पार्ट्स को लेकर हमेशा सजग रहती है। और रहे भी क्यों नहीं प्राइवेट पार्ट शरीर का सबसे नाजुक हिस्सा होता है। ऐसे में आपके द्वारा की गई एक छोटी-सी गलती भी उसे नुकसान पहुंचा सकती है। आज हम आपको कुछ ऐसी ही हानिकारक चीजों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसका इस्तेमाल वैजाइना के लिए घातक हो सकता है। 

वैजाइना के लिए ना करें इन चीजों का इस्तेमाल:

अगर आप भी सफेद प्यूबिक हेयर के लिए डाई का यूज करती हैं तो सतर्क हो जाएं क्योंकि इससे इंफेक्शन फैल सकता है। जी हां, डाई में मौजूद कैमिकल्स, वैजाइना इंफेक्शन, जलन और खुजली का कारण बन सकते हैं।

साबुन में केमिकल होता है इसलिए उसे अपने वैजाइना के अंदर ना आस-पास इस्तेमाल ना करें। इससे वैजाइनल इंफेक्शन का खतरा बढ़ जाता है। साथ ही इससे वैजाइना में जलन और खुजली की समस्या भी हो सकती है।


वैसलीन ल्यूब्रिकेशन के लिए एक बहुत आसान तरीका होता है लेकिन साथ ही ये वैजाइना के लिए हानिकारक भी होता है। इसकी वजह से वैजाइना में इंफेक्शन होने का खतरा होता है।

डाउच एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमें पानी और सिरका को मिलाकर वैजाइना को साफ किया जाता है। मगर ये वैजाइना में पाए जाने वाला नेचुरल बैक्टीरिया को कम कर देता है।


नीचे की ओर हेयर रिमूवल क्रीम लगाने से उस एरिया पर घाव आदि हो सकता है और साथ ही संक्रमण का खतरा भी हो सकता है। आप चाहें तो वैजाइना को शेव या वैक्‍स कर सकती हैं।

कुछ महिलाएं प्राइवेट पार्ट का कालापन दूर करने के लिए ब्लीच का यूज करती हैं लेकिन करना आपके लिए हानिकारक हो सकता है। इसमें मौजूद कैमिरल्स इंफेक्शन, जलन और रैशज की समस्या पैदा कर सकते हैं।


कोविड होने के कितने दिन बाद तक बच्‍चों पर दें विशेष ध्‍यान

कोविड होने के कितने दिन बाद तक बच्‍चों पर दें विशेष ध्‍यान

नई दिल्‍ली कोविड-19 की संभावित तीसरी लहर (Covid Third Wave) को लेकर लोगों में चिंता है वहीं कई वैज्ञानिकों के तीसरी लहर में बच्‍चों के कोविड प्रभावित होने की आसार जताने के बाद यह चिंता और भी ज्‍यादा बढ़ गई है ऐसे में कोविड और कोविड के बाद होने वाली रोंगों (Post Covid Disease) को लेकर भी सावधान रहना महत्वपूर्ण है

भारत में आई पहली और दूसरी लहर में कोविड-19 की चपेट में आए कुछ बच्‍चों में मल्‍टी सिस्‍टम इन्‍फ्लेमेट्री सिंड्रोम (multi system inflammatory syndrome) की रोग देखी गई है इसमें बच्‍चों के दिल, दिमाग, फेफड़ों, किडनी और लीवर पर बहुत ज्यादा प्रभाव पड़ा है हिंदुस्तान के कई राज्‍यों में बच्‍चों में कोविड-19 से ठीक होने के बाद आकस्मित अन्‍य बीमारियां उभर आईं, जिसे लेकर जानकारों ने भी चिंता जाहिर की है

कोविड-19 के बाद पैदा हुई ये वे बीमारियां हैं जो पोस्‍ट कोविड इफैक्‍ट या लांग कोविड के रूप में बच्‍चों को लंबे समय तक परेशान करेंगी बच्‍चों में डायबिटीज और ब्‍लड प्रेशर की समस्‍या भी सामने आई है ऐसे में कोविड-19 से बचाव के साथ ही स्‍वास्‍थ्‍य जानकार अभिभावकों को बच्‍चों को कोविड के बाद होने वाली रोंगों से बचाने की सलाह दे रहे हैं

ऑल इंडिया इंस्‍टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज के पूर्व निदेशक डाक्टर एमसी मिश्र कहते हैं कि बच्‍चों को कोविड-19 से बचाने के लिए उनकी सुरक्षा और कोविड-19 के नियमों का पालन सबसे ज्‍यादा महत्वपूर्ण है पहले तो बच्‍चों को कोविड-19 की चपेट में आने से बचाना है यदि बच्‍चों को कोविड-19 हो भी जाता है तो अभिभावकों को उनके स्‍वास्‍थ्‍य पर नजर रखनी होगी ताक‍ि उन्‍हें पोस्‍ट कोविड होने वाली लाइफलांग रोंगों से बचाया जा सके
कोविड-19 होने के बाद इतने दिन तक रखें विशेष ध्‍यान

डाक्टर मिश्र कहते हैं कि बच्‍चों की स्वास्थ्य का ध्‍यान अभिभावकों को ही रखना होता है ऐसे में कोविड-19 से संक्रमित होकर ठीक हो गए बच्‍चों को लेकर लापरवाह नहीं होना है रोग ठीक होने के कम से कम दो से छह हफ्तों तक इनकी अच्‍छे से नज़र करनी है और किसी भी रोग के लक्षण उभरते हैं तो उसका चिकित्‍सकीय उपचार कराना है

डाक्टर कहते हैं कि मल्‍टी सिस्‍टम इन्‍फ्लेमेट्री सिंड्रोम (multi system inflammatory syndrome) के लक्षण कोविड-19 होने के दो से छह सप्ताह के भीतर दिखाई देने लगते हैं इनमें बीपी का बढ़ना घटना, लगातार बुखार, अंगों का लाल हो जाना, आंखों की सूजन आदि शामिल है ऐसे किसी भी लक्षण को नजरअंदाज न करें अन्यथा बच्‍चों के अंगों पर प्रभाव पड़ सकता है उनके शारीरिक अंग बेकार हो सकते हैं

लिहाजा महत्वपूर्ण है कि कोविड-19 से बचाव के साथ ही कोविड-19 होने के बाद भी बच्‍चों की स्वास्थ्य को लेकर सावधान रहा जाए और सावधानियां बरती जाएं यदि एक बार बच्‍चे के किसी अंग में कमी आ गई तो वह जीवनभर की कठिनाई पैदा कर सकती है ऐसे में बच्‍चों का विशेष ध्‍यान रखें


Sidharth Malhotra की तस्वीर पर अभिनेत्री कियारा आडवाणी ने किया रिएक्ट, लिखा...       टीएमसी एमपी-एक्ट्रेस नुसरत जहां ने प्रेग्नेंसी की ख़बरों के बाद पहली बार शेयर की फोटो, लिखा...       Shilpa Shetty के पति राज कुंद्रा ने शेयर किया ‘मनी हाइस्ट’ का पंजाबी वर्जन       Sridevi की बेटी जाह्नवी कपूर की बिकिनी तस्वीरें इंटरनेट पर हुईं वायरल       Salman Khan के साथ वीर की शूटिंग करते वक्त ऐसा हो गया था जरीन खान का हाल       विक्की कौशल, रणवीर सिंह या रणबीर कपूर? जानें       बुजुर्ग के साथ बदसलूकी की घटना पर स्वरा भास्कर को बोलना पड़ा भारी, ट्रोलर्स बोले...       विराट-अनुष्का के रास्ते पर बढ़े केएल राहुल और अथिया शेट्टी       पासपोर्ट रिन्यू न होने को लेकर महाराष्ट्र सरकार पर फूटा कंगना रनोट का गुस्सा       पासपोर्ट विवाद के बीच कंगना रनोट को आई फिल्म की याद, कहा...       Govinda ने पत्नी सुनीता आहूजा का खास अंदाज में मनाया 50वां जन्मदिन       Sonu Sood की बढ़ी मुश्किलें, कोरोना की दवाई को लेकर मुंबई उच्च न्यायालय ने दिए जांच के आदेश       Akshay Kumar और ट्विंकल खन्ना की शादी की 20 वर्ष बाद तस्वीरें हुईं लीक       Rakhi Sawant ने लगवाई कोरोना वैक्सीन की पहली डोजी       बेहतरीन एक्टर के साथ कामयाब बिज़नेसमैन, इतने करोड़ की संपत्ति के मालिक़ हैं डिस्को डांसर       म्यांमार के काया क्षेत्र में युद्ध विराम, संयुक्त राष्ट्र ने किया हस्तक्षेप, करीब एक लाख लोगों को पहुंचा था नुकसान       ट्रान्स अटलांटिक संबंधों के नवीनीकरण में यूरोपीय संघ के व्यापार युद्ध को समाप्त करने की हुई कोशिश       दुनियाभर में मशहूर फर्नीचर ब्रांड पर कोर्ट ने लगाया जुर्माना       अमेरिका व ईयू के बीच सालों पुराना व्यापारिक विवाद खत्म, पुतिन से मुलाकात से पहले बाइडन का पक्ष मजबूत!       मध्य नेपाल में बाढ़ के कहर से एक की मौत, कई लोगों के लापता होने की आशंका