स्‍वास्‍थ्‍य के लिए वरदान है लहसुन की चाय, मिलते हैं कई स्वास्थ्य लाभ

स्‍वास्‍थ्‍य के लिए वरदान है लहसुन की चाय, मिलते हैं कई स्वास्थ्य लाभ

लहसुन खाने का स्वाद बढ़ाता है साथ ही लहसुन खाने से शरीर को बड़े फायदे होते हैं। ऐसे में कहा जाता है वजन और बीपी नियंत्रित करने में भी लहसुन का बड़ा योगदान होता है। अब आज हम बताने जा रहे हैं आपको लहसुन से बनी चाय के बारे में, जिसे आप पिएंगे तो यह काफी फायदेमंद साबित हो सकती है।
आप नहीं जानते होंगे लेकिन लहसुन की चाय पीने से डायबिटीज कंट्रोल में रहता है। इसी के साथ कोलेस्ट्रोल कम होता है, इससे डाइबिटीज कम करने में मदद मिलती है।

लहसुन की चाय ब्लड प्रेशर के मरीजों को फायदा पहुंचाती है। इससे खून पतला होता है और रक्तप्रवाह सुचारू रूप से चलने लगता है।

लहसुन की चाय पीने से मोटापा धीरे-धीरे भाग जाता है। यह शरीर का मेटाबॉलिज्म भी बढ़ाता है और इससे अतिरिक्त वा भी पिघलती है।

ज्यादा गर्मी में लहसुन की चाय पीने से रक्तस्त्राव की समस्या हो सकती है इस कारण अगर किसी की कोई सर्जरी होने वाली है, तो उससे पहले लहसुन का सेवन न करें।


सर्दियों में अमरुद खाने से कब्‍ज की समस्‍या में मिलती है राहत

सर्दियों में अमरुद खाने से कब्‍ज की समस्‍या में मिलती है राहत

सर्दियों में अमरुद खाना हर कोई पसंद करता है। अमरुद खाने से कई लाभ मिलते हैं। आज हम आपको अमरुद के सेवन के कई फायदों के बारे में बताने जा रहे है। अमरूद में मौजूद विटामिन और खनिज शरीर को कई तरह की बीमारियों से बचाने में मददगार होते हैं। ये इम्‍यून सिस्‍टम को भी मजबूत बनाता है।

अमरुद खाने के फायदे :

अमरूद का नियमित सेवन करने से कब्‍ज की समस्‍या में राहत मिलती है। अमरूद मेटाबॉलिज्‍म को सही रखता है जिससे शरीर में कोलेस्‍ट्रॉल का स्‍तर नियंत्रित रहता है।

अमरूद में विटामिन और मिनरल्‍स पाए जाते हैं। ये तत्व हमारे शरीर के लिए बहुत जरूरी होते हैं। अमरूद में विटामिन बी-9 शरीर की कोशिकाओं और डीएनए को सुधारने का काम करता है।

पोटैशियम और मैग्‍नीशियम दिल और मांसपेशियों को दुरुस्‍त रखकर उन्‍हें कई बीमारियों से बचाता है।अमरूद के नियमित सेवन से सर्दी जुकाम जैसी समस्‍याओं के होने का खतरा कम हो जाता है।

अमरूद में पाया जाने वाला विटामिन ए और ई आंखों, बालों और त्‍वचा को पोषण देता है। अमरूद में बीटा कैरोटीन होता है जो शरीर को त्‍वचा संबंधी बीमारियों से बचाता है।