आज ही प्रारम्भ करे 'वर्कआउट फ्रॉम होम’, जाने यह बड़े फायदे

आज ही प्रारम्भ करे 'वर्कआउट फ्रॉम होम’, जाने यह बड़े फायदे

कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के कारण कई लोग कार्यालय में कार्य करने के बजाए घरों से कार्य कर रहे हैं. कई कंपनियां तो इस तैयारी में हैं कि कर्मचारियों को लॉकडाउन खुलने के बाद भी घर से कार्य करने को बोला जाए,  लेकिन घर से लगातार कार्य करते हुए भी कई तरह की शारीरिक परेशानियां हो सकती हैं. 

लैपटॉप या कम्प्यूटर पर निरंतर कार्य करने से मांसपेशियां कठोर व सख्त हो जाती हैं. एक ही अवस्था में अधिक समय तक बैठने से कंधे व गर्दन में भी दर्द प्रारम्भ हो जाता है. यदि बैठने की स्थिति पर ध्यान नहीं देते हैं तो सिर में भी तेज दर्द होने लगता है. www.myupchar.com के अनुसार, वर्क फ्रॉम होम व तनाव भरी जॉब का प्रभाव है कि स्ट्रेस व पैनिक अटैक के मुद्दे बढ़ गए हैं. महत्वपूर्ण है कि शरीर को लचीला बनाने के लिए व मांसपेशियों की अकड़न को कम करने के लिए रोज स्ट्रेचिंग अभ्यास की जाए. आइए जानते हैं कुछ ऐसे अभ्यास के बारे में, जिन्हें घर पर सरलता से किया जा सकता है व इन्हें करने से मांसपेशियों में तनाव भी कम होता है -

पैरों के लिए हाईनीज

पूरे दिन एक जैसे कार्य करते हुए पैरों व घुटनों में दर्द होने लगता है. इसके लिए अपने घुटने को अपने सीने के सामने तक लेकर आएं. आप इस अभ्यास को लगातार पैरों को बदल-बदलकर करते रहें व चाहे तो बीच-बीच में 10 सेकंड का ब्रेक लेते रहें. इससे आपके पैर व जांघें भी मजबूत होंगी.

क्रॉस बॉडी शोल्डर स्ट्रैच

इसमें कमर को सीधा करके जमीन पर आराम से बैठ जाएं. इसके बाद बाएं हाथ की कोहनी को दाएं हाथ से पकड़ें व पीछे की ओर ले जाएं. इसे तब तक पीछे ले जाएं जब तक सीने में खिंचाव महसूस नहीं होता. आप इस अभ्यास को करते समय इस बात का जरूर ध्यान रखें कि आपकी कोहनी कंधे के बराबर हो. आप इस अभ्यास को 10 सेकंड के लिए करें. यही अभ्यास आप दूसरी तरफ से दोहराएं.

ओवरहेड ट्राइशेप्स स्ट्रैच

इस अभ्यास में सीधे खड़े हो जाएं व बाएं हाथ को सिर के पीछे की ओर ले जाकर पीठ के बीच वाले हिस्से को छूने की प्रयास करें. इसके बाद दाहिने हाथ से बाएं हाथ की कोहनी को पकड़े व सिर की तरफ खींचें. आप इस अभ्यास को एक सेकेंड के लिए करें व दूसरे हाथ से भी इस अभ्यास को दोहराएं. इसमें इस बात का ध्यान जरूर रखें कि आपक हाथ कान के पास ना हो.

हाथों व सीने के लिए हर्पीज

इस अभ्यास में जमीन पर लेट जाएं व जल्दी-जल्दी उठकर उछलें. इस अभ्यास को 2 मिनट तक लगातार करें यदि बीच में थकान महसूस हो तो 10 सेकंड का ब्रेक ले सकते हैं.

रिपलाइट पुश-अप्स

आमतौर पर जिस प्रकार से पुश-अप्स किए जाते हैं. जमीन पर वैसे ही पोजीशन बना लें. अब अपने एक पैर को घुटने के बल मोड़कर हवा में रखें व इसके बाद पुश-अप्स करना प्रारम्भ कर दें. यही अभ्यास दूसरे पैर को घुटने की ओर मोड़कर हवा में रखकर दोहराएं. इसे करने से शरीर में रक्त का संचार बेहतर ढंग से होगा.

थाई मसल्स के लिए करें लंजेज व स्क्वॉट

लंजेज व स्क्वाट पैरों की मसल को स्ट्रांग करने के लिए बहुत ज्यादा अच्छी अभ्यास है. इससे जांघों की कैलोरी कम की जा सकती है. इस अभ्यास को बार-बार करने से मांसपेशियां भी मजबूत होती हैं.

www.myupchar.com से जुड़े एम्स के डाक्टर अजय मोहन के अनुसार, जब तक कोरोना वायरस का उपचार नहीं मिल जाता, इससे बचने के तरीका ही उपचार हैं. महत्वपूर्ण है कि हर आदमी खुद को स्वस्थ्य रखने व बीमारियों से लड़ने की अपनी क्षमता बढ़ाए.