स्मरण शक्ति बढ़ाना है तो आज से ही शुरू करे ये काम

स्मरण शक्ति बढ़ाना है तो आज से ही शुरू करे ये काम

स्मरण शक्ति की कमजोरी या विकृति से विद्यार्थी और दिमागी काम करने वालों को असुविधाजनक स्थिति से रुबरु होना पडता है। यह कोई रोग नहीं है और न किसी रोग का लक्षण है। इसकी मुख्य वजह एकाग्रता(कन्संट्रेशन) की कमी होना है। ये कुछ सरल उपचार है जिनसे स्मरण शक्ति बढतीहै -

# बादाम 5 नग रात को पानी में गलाएं।सुबह छिलके उतारकर बारीक पीस कर पेस्ट बनालें। अब एक गिलास दूध गरम करें और उसमें बादाम का पेस्ट घोलें। भली प्रकार उबल जाने पर उतारकर मामूली गरम हालत में पीयें। इसमें 3 चम्मच शहद भी डालें।यह मिश्रण पीने के बाद दो घंटे तक कुछ न लें। यह स्मरण शक्ति वृद्दि करने का जबर्दस्त उपचार है। दो महीने तक करें।

# एक सेवफ़ल नित्य खाने से कमजोर मेमोरी में लाभ होता है। भोजन से 10 मिनिट पहिले खाएं। जिन फ़लों में फ़ास्फ़ोरस तत्व पर्यात मात्रा में पाया जाता है वे स्मरण शक्ति बढाने में विशेषतौर पर उपयोगी होते है। अंगूर ,खारक ,अंजीर एवं संतरा दिमागी ताकत बढाने के लिये नियमित उपयोग करना चाहिये।

# धनिये का पावडर दो चम्मच शहद में मिलाकर लेने से स्मरण शक्ति बढती है। आंवला का रस एक चम्मच 2 चम्मच शहद मे मिलाकर उपयोग करें। अदरक ,जीरा और मिश्री तीनों को पीसकर लेने से कम याददाश्त की स्थिति में लाभ होता है।

# 250 मिलि दूध (गाय का) और 2 चम्मच शहद मिलाकर पीने से भी याद दाश्त में बढोतरी होती है। विद्ध्यार्थियों के लिये फ़ायदेमंद उपचार है। तिल में स्मरण शक्ति वृद्दि करने के तत्व हैं। 20 ग्राम तिल और थोडा सा गुड का तिलकुट्टा बनाकर नित्य सेवन करना परम हितकार उपचार है।


हमेशा पतले और फिट रहना चाहते हैं तो ट्राई करें ये 5 ट्रिक्स

हमेशा पतले और फिट रहना चाहते हैं तो ट्राई करें ये 5 ट्रिक्स

वज़न घटाने की कहानियों का अंत अक्सर खुशी से भरा नहीं होता बल्कि ये सफर कई तरह के उतार-चढ़ाव से भरा होता है। संतुलित और सही वज़न को बनाए रखना भी काफी मुश्किल है। जब हम वज़न घटाने के लिए प्लान तैयार करते हैं और वह काम करने लगता है, तो आप रिलेक्स हो जाते हैं, जिससे वज़न दोबारा बढ़ जाता है।

वज़न कम करने में इतनी मशक्कत शामिल है, जिससे लगता है कि हमेशा फिट रहना कितना मुश्किल काम है। हालांकि, देखा जाए तो अच्छा वज़न बनाए रखना कोई मुश्किल काम नहीं है। आज हम बता रहे हैं 5 ऐसी ट्रिक्स जिनकी मदद से आप लंबे समय तक फिट और पतले रह सकते हैं।

प्लेट नियम का पालन करें

कई फिटनेस एक्सपर्ट्स का मानना है कि खाते वक्त कैलोरीज़ का ख़्याल रखना वज़न घटाने में फायदेमंद हो सकता है। हालांकि, कुछ का मानना है कि वज़न कम करने के लिए प्लेट के नियम का पालन फायदा पहुंचाता है। अपनी प्लेट को ब्रोकली और गाजर जैसी नॉन-स्टार्च सब्ज़ियों से आधा भर लेने से आपका फाइबर का सेवन पूरा हो जाएगा। इसके अलावा अपनी प्लेट का एक चौथाई हिस्सा होल-ग्रेन्स, बीन्स और आलू जैसे कार्बज़ से भरें और बाकी बचे हिस्से में प्रोटीन।

डाइटिंग न करें

कीटो से लेकर इंटरमिटेंट डाइट तक, लोग वज़न कम के लिए कौन सा तरीका नहीं अपनाते। इन तरीकों से आपका वज़न जल्दी कम तो ज़रूर हो जाएगा लेकिन जल्द ही दोबारा बढ़ भी जाएगा। इसलिए सही तरीके से वज़न कम करने के लिए संतुलित आहार लें, और शरीर में किसी चीज़ की कमी न होने दें।

खाना तब खाएं जब भूख लगे

जब किसी को भूख लगती है, तो स्वस्थ और भरपेट भोजन अधिक आकर्षित करता है। हालांकि, जब कोई बेचैन, तनाव या बोर हो रहा होता है, तो उसे पिज़्ज़ा, बर्गर और मीठा खाने का ज़्यादा दिल चाहने लगता है। जिसकी वजह से आपके शरीर को किसी तरह का फायदा नहीं पहुंचता लेकिन कैलोरी ज़रूर बढ़ जाती है।


नट्स खूब खाएं

खाने के बीच में जब भी भूख लगे तो बादाम, मूंगफली, अखरोट और काजू खाएं। इनमें हाई फैट्स होते हैं, लेकिन फिर भी इससे वज़न नहीं बढ़ता। मेवों के सेवन से न सिर्फ वज़न कम होता है बल्कि दिल के स्वास्थ्य और त्वचा को भी फायदा पहुंचता है।

छोटे मील्स लें

शरीर में फैट्स जमा होने के प्रमुख कारणों में से एक है एक साथ अस्वस्थ प्रोसेस्ड फूड खा लेना। ऐसा तब होता है जब आपको भयानक भूख लगती है। एक्सपर्ट्स का मानना है कि हर थोड़ी देर में छोटे-छोटे मील्स लेने से आपका पेट भरा रहेगा और आप जंक फूड खाने से बचेंगे, जिससे वज़न कम होने में भी मदद मिलेगी।