ई-सिगरेट या स्मोकिंग से बढ़ सकता है कोरोना वायरस का ख़तरा

ई-सिगरेट या स्मोकिंग से बढ़ सकता है कोरोना वायरस का ख़तरा

वैसे तो कोरोना वायरस जितना उम्रदराज़ों के लिए ख़तरनाक है उतना ही नौजवानों के लिए भी। खासकर ये उन लोगों के लिए जानलेवा साबित हो सकता है जो पहले से ही किसी गंभीर बीमारी से ग्रस्त हैं, जैसे दिल की बीमारी, सांस से जुड़ी बीमारी, डायबिटीज़ या फिर कैंसर। इसके अलावा ऐसे लोग जो ई-सिगरेट यानी वेपिंग का इस्तेमाल करते हैं उनके भी कोरोना वायरस से संक्रमित होने के आसार ज़्यादा हैं। ये एक रिपोर्ट में पहले ही साबित हो चुका है कि जिन लोगों को दिल और फेफड़े से संबंधित कोई समस्या होती है, उनके लिए कोरोना वायरस बेहद ख़तरनाक है। ऐसे में ई-सिगरेट,  सिगरेट, तंबाकू के शौक़ीन लोगों के लिए ये ख़तरा और भी बढ़ जाता है।

अमेरिकी खाद्य एवं औषधि प्रशासन के प्रवक्ता माइकल फेल्बेरबॉम का कहना है, "जो लोग पहले से ही दिल और फेफड़ों की बीमारी से ग्रस्त हैं, उनके लिए COVID-19 जानलेवा साबित हो सकता है। इसमें वो लोग भी शामिल हैं जो ई-सिगरेट या सिगरेट, तंबाकू या निकोटीन युक्त पर्दाथों का सेवन करते हैं। ई-सिगरेट फेफड़ों की कोशिकाओं को नुकसान पहुंचा सकती हैं।" 

इस बारे में कई अन्य विशेषज्ञों का कहना है कि अमेरिका में कोरोना वायरस से संक्रमित युवाओं के मामले अनुमान से कहीं ज़्यादा देखने को मिल रहे हैं, जिसके पीछे वेपिंग यानी ई-सिगरेट्स एक बड़ा कारण हो सकती है।

नैशनल इंस्टीट्यूट ऑफ ड्रग अब्यूज़ की प्रमुख, नोरा वॉलको, ने हाल ही में एक ब्लॉग में चेतावनी देते हुए लिखा कि कोरोना वायरस तंबाकू, चरस या जो लग धूम्रपान या ई-सिगरेट का इस्तेमाल करते हैं उनके लिए एक विशेष रूप से गंभीर ख़तरा साबित हो सकता है।

अमेरिकी खाद्य एवं औषधि प्रशासन ने इस बारे में और जानकारी देते कहा कि ई-सिगरेट पीने से कोरोना वायरस का खतरा नॉर्मल स्मोकिंग से कम या कभी-कभी अधिक होता है। इससे न केवल कोरोना वायरस का खतरा अधिक बढ़ जाता है बल्कि यह सेहत के लिए भी बहुत खतरनाक है। समय के साथ आपकी सेहत पर इसका बुरा असर पड़ता है। 

कई लोगों का मानना है कि ई-सिगरेट, स्मोकिंग से कम घातक होती है। हालांकि, अब इसे सीधा कोरोना वायरस से जोड़कर देखा जा रहा है। अगर आपके फेफड़े पहले सी ही कमज़ोर हैं, तो COVID-19 जानलेवा साबित हो सकता है। पिछले साल, ई-सिगरेट से जुड़ी कुछ रहस्यमय, यहां तक कि घातक फेफड़ों की बीमारी के कई मामले सामने आए थे। इन मामलों को ई-सिगरेट में मौजूद THC से जोड़ा जा रहा है, जो सामग्री चरस में भी पाई जाती है। 


शरीर में खून की कमी को दूर करता है अजवाइन का पानी

शरीर में खून की कमी को दूर करता है अजवाइन का पानी

आपने कई बार अजवाइन का इस्तेमाल अपने खाने के स्वाद और रंगत बढ़ाने के लिए किया होगा लेकिन क्या आपको पता है की अजवाइन सिर्फ आपके खाने का ही नहीं बल्कि सेहत के लिए भी बेहद फायदेमंद होती है। अजवाइन को उबाल कर रोजाना सुबह इसका पानी पीने से कई बीमारियां दूर हो जाती है।

अजवाइन से होने वाले फायदे:

नियमित रूप से खाली पेट के अजवाइन का पानी पीने से पेट फूलना और एसिडिटी की प्रॉब्लम कम होती है। इसके साथ ही इसे पीने से पूरी बॉडी अंदर से साफ़ हो जाती है।जिससे आप कई बीमारियों से दूर रहते है।

अजवाइन का पानी पीने से हमारे शरीर में ब्लड सर्कुलेशन ठीक रहता है,जिससे शरीर दर्द की समस्या दूर हो जाती है। रोजाना इसके सेवन से पाचनक्रिया भी ठीक रहती है।

इसमें आयरन की भरपूर मात्रा मौजूद होती है जो हमारे ब्लड में हीमोग्लोबिन लेवल को बढ़ाने का काम करता है। जिससे खून की कमी पूरी हो जाती है। इसके अलावा सिरदर्द में इसे पीने से दर्द गायब हो जाता है।

पेट दर्द की समस्या में अजवाइन का पानी पीने से पेट दर्द ठीक हो जाता है। इससे पेट के अंदर ठंडक पहुँचती है जिससे दर्द में आराम मिलता है।


कोविड-19 का कहर : मैं बचूंगा या नहीं घर गिरवी न रखना पापा, और उसने दुनिया को अलविदा कह दिया       सीएम योगी ने कहा कि गोरखपुर में बनेगा 100 बेड का नया कोविड हॉस्पिटल , BRD में बढ़ेंगे 50 वेंटिलेटर बेड       ऑस्ट्रेलिया के जंगलों से आई इस भेड़ ने सोशल मीडिया पर मचा दी धूम       रूस के राष्ट्रपति पुतिन ने स्पूतनिक वैक्सीन की तुलना AK-47 से की, कहा...       धरती पर आज गिरेगा चाइना का बेकाबू रॉकेट       Vladimir Putin ने रूसी कोरोना वैक्सीन को बताया दमदार, कहा...       दुनिया के सबसे बड़े Cargo Plane ने सहायता का सामान लेकर India के लिए भरी उड़ान       Imran Khan ने Indian Embassies की प्रशंसा क्या की, आग बबूला हो गए पाकिस्तानी       हिंदुस्तान से अपने देश तुरंत लौट आएं सभी लोग, अमेरिका की अपने नागरिकों से अपील       बाइसन को मारने US में निकली 12 वेकेंसी       यूनीसेफ ने हिंदुस्तान में बढ़ रहे कोविड-19 मामलों पर जताई चिंता, कहा...       व्लादिमीर पुतिन ने कहा कि रूस की कोविड-19 वैक्सीन AK-47 जितनी भरोसेमंद       Africa में मिली इतने हजार वर्ष पुरानी कब्र, खुलेंगे कई अहम राज       भारतीय टीम में सिलेक्शन से दंग यह क्रिकेटर, बोले...       पूर्व भारतीय हॉकी कोच एमके कौशिक का मृत्यु       कोविड-19 बना काल: नहीं रहे BCCI के आधिकारिक स्कोरर केके तिवारी       कोविड-19 के विरूद्ध जंग में विराट के बाद ऋषभ पंत भी कूदे       इंग्लैंड जाने से पहले हिंदुस्तान में ही 8 दिन क्वारंटीन रहेगी टीम इंडिया       दिल जीत लेगी इस क्रिकेटर की दलील, बोले...       इंग्लैंड दौरे पर टीम इंडिया में हार्दिक पांड्या को क्यों नहीं मिली जगह